» »सैर करें!भारत के अनोखे वन्‍यजीव अभ्‍यारण्‍य की

सैर करें!भारत के अनोखे वन्‍यजीव अभ्‍यारण्‍य की

By: Namrata Shatsri

भारत में वन्‍यजीवों और प्रकृति के संरक्षण के लिए हज़ारों नेशनल पार्क और वन्‍यजीव अभ्‍यारण्‍य बनाए गए हैं। देश में वन्‍यजीवों की विविधता को देखने के लिए दुनियाभर से पर्यटक भारत आते हैं और इस देश के हर कोने में एक ना एक अभ्‍यारण्‍य जरूर है। भारत एक ऐसा देश है जहां कई पशु और पक्षी अपने प्राकृतिक निवास में रहते हैं। इन्‍हें देखना वाकई में अद्भुत अनुभव होता है।

अब भारत में लीजिये नाईट सफारी का मजा

उद्यानों में पशुओं को विचरण करते देखना और किसी एक प्रजाति के वन्‍यजीवों को प्राकृतिक जगहों में देखना बेहद खूबसूरत लगता है। इनमें से कुछ उद्यानों में स्‍पॉट टाइगर, शेर, हाथी, पक्षी, मगरमच्‍छ आदि कई जानवर पाए जाते हैं। आइए एक नज़र डालते हैं भारत के वन्‍यजीव अभ्‍यारण्‍यों पर।

बंगाल टाइगर के लिए बांधवगढ़

बंगाल टाइगर के लिए बांधवगढ़

मध्‍य प्रदेश में स्थित बांधवगढ़ नेशनल पार्क देश के उन उद्यानों में से एक है जहां पहुंचना काफी मुश्किल है। इस पार्क में आप टाइगर को देख सकते हैं। इसके अलावा राजस्‍थान के रणथंभौर और महाराष्‍ट्र के तडोबा नेशनल पार्क में भी स्‍पॉट टाइगर देखे जा सकते हैं। अगर आप बिग कैट देखना चाहते हैं तो आपको इन जगहों पर जरूर जाना चाहिए। अगर आप दो दिन की सफारी का प्‍लान बना रहे हैं तो इनमें से किसी एक जगह आ सकते हैं।PC:skeeze

एशियाटिक शेर के लिए गिर

एशियाटिक शेर के लिए गिर

देश में टाइगर्स को बिग कैट भी कहा जाता है। इस अभ्‍यारण्‍य में आप जंगल के राजा एशियाटिक शेर को भी देख सकते हैं। गिर वन्‍यजीव अभ्‍यारण्‍य में एशियाटिक शेर अब खत्‍म होने की कगार पर हैं। ये पहले सीरिया के क्षेत्रों में पाए जाते थे लेकिन 1870 में इनका शिकार किए जाने के कारण ये प्रजाति लुप्‍त हो गई।

संरक्षण प्रयासों के कारण इस प्रजाति के शेरों की संख्‍या को बढ़ाया जा सका है। कभी-कभी ये शेर अपने आप ही दीउ के तट और संरक्षण क्षेत्र में चले जाते हैं। एशियाटिक शेर के अलावा इस अभ्‍यारण्‍य में पशुओं की 40 अन्‍य प्रजातियां भी देखने को मिलती हैं जिनमें स्‍पॉट हिरण, सांबर, गैज़ेले आदि भी शामिल हैं।

जंगली गधे के लिए कच्‍छ के रण

जंगली गधे के लिए कच्‍छ के रण

रण का कच्‍छ इलाका बहुत सूखा है और इस मैदानी क्षेत्र का मौसम भी काफी कठिन है। यहां पर कुछ भारतीय जंगली गधों को देखा जा सकता है। हालांकि, ये प्रजाति भारत में कम ही देखने को मिलती है। इस अभ्‍यारण्‍य की 5000 किमी के क्षेत्र में लगभग 3000 जंगली गधे पाए जाते हैं। जीप सफारी पर इन्‍हें आसानी से देखा जा सकता है।

जंगली गधों को उनकी तेज रफ्तार के लिए जाना जाता है। जंगली गधे प्रति घंटा 50 किमी की रफ्तार से दौड़ते हैं। एवियन पशुओं ब्‍यूटी देखने के लिए नलसरोवर पक्षी अभ्‍यारण्‍य जा सकते हैं।
PC: Sumeet Moghe

हाथी के लिए नागरहोल

हाथी के लिए नागरहोल

नागरहोल का ये नाम यहां सांप की तरह बहने वाली नदी के नाम पर पड़ा है। इस पार्क में कई खूबसूरत पशु रहते हैं। इसके घने जंगलों में कई झरने और जादुई झीलें हैं।

इस नेशनल पार्क में जीप सफारी का मज़ा भी लिया जा सकता है। यहां हाथी और नाव की सवारी भी कर सकते हैं। इसके अलावा यहां ट्रैकिंग भी की जाती है। काबिनी नदी के तट पर हाथियों के झुंड देख सकते हैं।

PC: Pradipta Majumder

हिम तेंदुए के लिए हेमिस नेशनल पार्क

हिम तेंदुए के लिए हेमिस नेशनल पार्क

अगर आप सिर्फ तेंदुआ नहीं बल्कि हिम तेंदुआ देखने का शौक रखते हैं तो आपको हेमिस नेशनल पार्क आना चाहिए। ये पार्क काफी ऊंचाई पर स्थित है। जम्‍मू एंड कश्‍मीर के लद्दाख क्षेत्र में स्थित इस अभ्‍यारण्‍य का मौसम बेहद बर्फीला है। ये हर तरफ से बर्फ से ढका हुआ है। इसके आसपास रेगिस्‍तान और अल्‍पाइन के जंगल हैं।

अगर आप लद्दाखा नहीं जा सकते तो हिमाचल प्रदेश की स्‍पीति घाटी में भी हिम तेंदुए को देख सकते हैं।

Please Wait while comments are loading...