Search
  • Follow NativePlanet
Share
» »मई के महीने में परिवार साथ इन खास जगहों पर ले छुट्टियों का मजा

मई के महीने में परिवार साथ इन खास जगहों पर ले छुट्टियों का मजा

By Goldi

मई का महिना दस्तक दे चुका है, इसी के साथ उत्तर भारत में गर्मी का पारा भी बढ़ता चला जा रहा है। ऐसे में उत्तर भारत में छुट्टियों का दौर भी शुरू हो जाता है, और जैसे ही छुट्टियां शुरू हुईं, कि लोगों की घूमने की प्लानिंग भी शुरू हो जाती है, कुछ एडवेंचर जगह की प्लानिंग करते हैं, तो कुछ गर्मी से राहत पाने के लिए किसी खूबसूरत हिल-स्टेशन।

घूमने का मतलब सिर्फ घूमना ही नहीं होता है, बल्कि आप घूमते हुए कई नई जगहों और जानकरियों से वाकिफ होते हैं, साथ ही आप एक नया अनुभव भी हासिल करते हैं। तो जैसे की मई का आरंभ हो चुका है, तो इसीलिए हम आपके लिए लेकर आये हैं, कुछ बेहद ही खूबसूरत जगहों की लिस्ट, जहां आप अपनी छुट्टियों को बेहद मजेदार बना सकते हैं।

पार्वती घाटी के गाँवों को घूमे

पार्वती घाटी के गाँवों को घूमे

Pc:Jan J George

पार्वती घाटी

इन गांवों को घूमते हुए आप हिमाचली संसकृति से भी वाकिफ होंगे और आपको उत्तर भारत की चिलचिलाती गर्मी से राहत भी प्रदान करेंगे।

सैंजी और भटौली

सैंजी और भटौली

अगर आप उत्तराखंड घूमने का प्लान बना रहे हैं, तो एक बार सैंजी और भटोली गांव की ओर रुख अवश्य करें, इस गांव में आपको गर्मी से राहत भी मिलेगी, साथ ही आप यहां कुछ अलग और अनोखा अनुभव करेंगे।

जैसे ही अप इस गांव में प्रवेश करेंगे तो देखेंगे की प्र्त्येज घर भुट्टों से सजा हुआ है, इस गांव में आपको घर के दरवाजे से लेकर खिड़की, छत की मुंडेर आदि सब जगह सिर्फ मक्के की भुट्टों की लडियां ही नजर आयेंगी। स्थानीय लोगों के मुताबिक, घर के बाहर मक्के के दाने सूखने के लिए टाँगे जाते हैं, ताकि अगली फसल की बुवाई के बीज तैयार किये जा सके। महज 400 की आबादी वाले इस गांव को आप पैदल घूम सकते हैं, आप पाएंगे की यह बेहद ही खूबसूरत है। इस गांव की खास बात यह है कि, आप यहां घरों के बीच में किसी भी दुकान या बाजार को नहीं पाएंगे, साफ़ सुथरे गांव में आपको मक्के की लड़ी से सजे हुए घर ही दिखाई देंगे।

हनीमून को बनाना यादगार, तो उत्तराखंड के हॉट हनीमून डेस्टिनेशन का करें चुनाव

तांडी

तांडी

उत्तराखंड की गोद में स्थित तांडी मुक्तेश्वर से करीबन 20 किमी की दूरी पर स्थित खूबसूरत घूमने की जगह है। यकीन मानिए इस जगह पर पहुँचने के बाद आपको वापस जाने का मन नहीं करेगा। शहर के शोर-शराबे से दूर प्रकृति के एकदम करीब पहुंच जायेंगे, और हां अगर आपको पहाड़ पसंद हैं, तो ये जगह आपके लिए किसी स्वर्ग से कम नहीं है। इस गांव की सैर करते हुए अपने साथ गर्म कपड़े रखना कतई ना भूलें।

बिर-बिलिंग

बिर-बिलिंग

Pc:Okorok

क्या अप इस बार अपनी छुट्टियों को हवा में उड़ते हुए एन्जॉय करना चाहते हैं, अरे हम हवाई जहाज की बात नहीं कर रहे, बल्कि पैरा-ग्लाइडिंग की कर रहे हैं, जिसका लुत्फ आप बिर-बिलिंग में उठा सकते हैं। लेंडिंग का स्थान बिल्लिंग है जो बीर से 14 किलोमीटर की दूरी पर है। पैराग्लाइडिंग के लिये प्रशिक्षण की आवश्यकता होती है और इसे कोई नौसिखिया नही कर सकता।

गर्मियों में बर्फ ना गिरने पर इस फ्लाइट से धौलाधर पहाड़ी श्रृंखला और कांगड़ा वैली की खूबसूरती को भी निहारा जा सकता है।

संदक्फू

संदक्फू

Pc: Spattadar

दार्जलिंग की वादियों में स्थित संदक्फू एक बेहद ही खूबसूरत हिलस्टेशन है, इस खूबसूरत जगह की सैर करते हुए आप एवरेस्ट, कंजनजंगा व मकालू पर्वत की अंनत ऊचाईयों के रोमांचक दृश्यों का आनंद उठाया जा सकता है। दार्जिलिंग के रास्ते संदक्फू तक पहुंच सकते हैं। दार्जिलिंग से सड़क मार्ग के सहारे यहां 4 घंटों में पहुंचा जा सकता है।

पश्चिम बंगाल का सबसे रोमांचक स्थल दार्जिलिंग

देवरिया ताल

देवरिया ताल

Pc: Ayush Pant

रूद्रप्रयाग से 49 किमी की दूरी पर स्थित देवरिया ताल एक सुंदर पर्यटन स्थल है। हरे भरे जंगलों से घिरी हुई यह एक अद्भुत झील है। इस झील के जल में गंगोत्री, बद्रीनाथ, केदारनाथ, यमुनोत्री और नीलकंठ की चोटियों के साथ चौखम्बा की श्रेणियों की स्पष्ट छवि प्रतिबिंबित होती है। यह झील यहाँ आने वाले यात्रियों को नौका विहार, कांटेबाजी और विभिन्न पक्षियों को देखने के अवसर प्रदान करती है।

लैंसडाउन

लैंसडाउन

Pc:MANISH03

लैंसडाउन, उत्तराखण्ड के पौडी जिले में स्थित एक सुन्दर हिल स्टेशन है। इस खूबसूरत हिल स्टेशन लैंसडाउन को अंग्रेजों ने वर्ष 1887 में बसाया था। उस समय के वायसराय ऑफ इंडिया लॉर्ड लैंसडाउन के नाम पर ही इसका नाम रखा गया। यहां की प्राकृतिक छटा सम्मोहित करने वाली है। यहां का मौसम पूरे साल सुहावना बना रहता है। हर तरफ फैली हरियाली आपको एक अलग दुनिया का एहसास कराती है।

लखनऊ

लखनऊ

Pc: Khalid Mahmood

माना मई के महीने में लखनऊ बहुत गर्म शहर हैं, लेकिन इस शहर में जहां आप ऐतिहासिक इमारतों और एशिया का सबसे बड़ा पार्क जनेश्वर मिश्र पार्क देख सकते हैं। इसके अलावा मै के महीने में लखनऊ की यात्रा इसीलिए भी जरूरी है, क्यों कि इस दौरान आप यहां बड़े मंगल का भंडारे का स्वाद ले सकते हैं और विभिन्न प्रकार के आमो का रसपान कर सकते हैं। बता दें, बड़े मंगल का जश्न आपको सिर्फ लखनऊ में ही देखने को मिलेगा।

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X