» »मध्यप्रदेश का दिल इंदौर...घूमे जरुर

मध्यप्रदेश का दिल इंदौर...घूमे जरुर

Written By: Goldi

मध्य प्रदेश का दिल इंदौर एक बहुत ही खूबसूरत जगह है..जो हर पर्यटक को अपनी ओर आकर्षित करती है। यह एक ऐतिहासिक शहर है। मध्यकाल में यह होलकर राजवंश की राजधानी हुआ करता था। जोकि अब मध्य प्रदेश की व्यवसायिक राजधानी के रूप में भी जाना जाता है।

यात्रा के 5 प्रमुख फायदे!

इंदौर को प्रारंभिक विकास के दौर में जिन कपड़ा उद्योगों व हस्तशिल्प ने पहचान दिलाई थी, आज भी उसी हस्तशिल्प कला ने इस शहर को पर्यटन स्थलों में शुमार होने का गौरव दिलाया है। इंदौर की एक यात्रा आपको दुनिया के एक अलग हिस्से और भी एक अद्भुत जगह को महसूस करा देगा। यहां भ्रमण करने क लिए बहुत से सुन्दर और दर्शनीय स्थल मौजूद है, जिन्हें जीवन में जरुर घूमना चाहिए....

टाउन हॉल या महात्मा गांधी हॉल

टाउन हॉल या महात्मा गांधी हॉल

टाउन हॉल या महात्मा गांधी हॉल ऑफ इंडिया, इंदौर शहर में सबसे सुंदर इमारतों में से एक है। 1904 में निर्मित , यह मूल रूप से राजा एडवर्ड हॉल नामित किया गया था। 1948 में, यह महात्मा गांधी हॉल के रूप में दिया गया था। यह एक उल्लेखनीय भारत- गोथिक संरचना है और सिवनी पत्थर में किया गया है।

केंद्रीय संग्रहालय

केंद्रीय संग्रहालय

यह इंदौर का मुख्य संग्रहालय है। इस संग्रहालय में कई प्रकार के हथियार रखे हुए हैं। इसमें होल्कर राजवंश के राजाओं द्वारा युद्ध में उपयोग किए गये भाले, तलवार, ढाल आदि प्रकार के हथियार रखे हुए हैं। इसके अतिरिक्त इसमें होल्कर राजवंश से संबंधित कई चित्र, हस्तशिल्प संबंधी वस्तुएं आदि रखे हुए है।

बड़ा गणपति मंदिर

बड़ा गणपति मंदिर

यह मंदिर इंदौर के सभी मंदिरों में सबसे महत्वपूर्ण है। इस मंदिर में पूजा करने के लिए दूर-दूर से लोग आते हैं। यहां पर 25 फीट ऊंची गणेश जी की मूर्ति स्थापित है, जिसे दुनिया की सबसे बड़ी गणेश प्रतिमा के नाम से जाना जाता है।

नेहरू पार्क

नेहरू पार्क

नेहरू पार्क इंदौर में सबसे पुराना पार्क है। ब्रिटेन द्वारा निर्मित, यह पहले बिस्को पार्क के रूप में जाना जाता है और आजादी से पहले ही ब्रिटिश के लिए खुला था। आजादी के बाद यह नेहरू पार्क के रूप में दिया गया था। इस अप्रक में गुलाबों की कई प्रजातियों को देखा जा सकता है...

लाल बाग पैलेस

लाल बाग पैलेस

लाल बाग पैलेस इंदौर में सबसे शानदार इमारतों में से एक है। यह दक्षिण-पश्चिम की ओर , शहर के बाहरी इलाके में खड़ा है। यह खान नदी के तट पर एक तीन मंजिला इमारत है। महल 1886-1921 के दौरान महाराजा शिवाजी राव होल्कर द्वारा बनाया गया था।

कांच मंदिर

कांच मंदिर

कांच मंदिर, इंदौर का एक भव्‍य मंदिर है। यह मंदिर सफेद पत्‍थर से बना हुआ है। इस मंदिर को एक मध्‍ययुगीन हवेली के रूप में बनाया गया है जिसमें एक चंदवा बालकनी और शिकारा भी है। मंदिर का अंदरूनी हिस्‍सा पूरी तरह कांच से निर्मित है।

कैसे जायें

कैसे जायें

वायु मार्ग -
इंदौर में देवी अहिल्या के नाम पर बना हवाई अड्डा है। यह हवाई अड्डा देश के प्रमुख शहरों से वायु मार्ग द्वारा जुड़ा हुआ है।

रेल मार्ग -
यहां रेलवे स्टेशन भी है। यह रेलवे स्टेशन देश के अन्य शहरों से जुड़ा हुआ है। यहां मुंबई और दिल्ली से सीधी ट्रेन सेवा उपलब्ध है।

सड़क मार्ग -
इंदौर सड़क मार्ग द्वारा उज्जैन (55 किलोमीटर) तथा भोपाल (185 किलोमीटर) से जुड़ा हुआ है।

Please Wait while comments are loading...