• Follow NativePlanet
Share
» »रामेश्वरम तमिलनाडु का खूबसूरत तीर्थ स्थल

रामेश्वरम तमिलनाडु का खूबसूरत तीर्थ स्थल

Written By: SyedBelal

रामेश्वरम समुद्र की गोद में बसा एक बेहद खूबसूरत दर्शनीय स्थल होने के साथ साथ तीर्थ स्थल भी है जो कि चार धामों में से एक धाम है। यहाँ हर साल हज़ारों की संख्या में श्रद्धालु अपनी आस्थाओं में लिपटी भगवान के प्रति प्रेम को दर्शाने आते हैं। रामेश्वरम तमिलनाडु का एक आकर्षक शहर चेन्नई से तक़रीबन 592 किलोमीटर की दूरी पर है।

कहा जाता है कि जब भगवान राम लंका को जीतकर वापस लौटे तो उन्होंने भगवान शिव के प्रति अपनी प्रेम भावना को दर्शाने के लिए इस मंदिर का निर्माण करवाया। यह मंदिर विश्व के बेहतरीन कलात्मक शैली और आस्थाओं से सराबोर मंदिरों में से एक है।
मुफ्त कूपन्स: यात्रा की ओर से फ्लाइट बुकिंग पर पाएं 8000 रु. की छूट

रामेश्वरम शहर

रामेश्वरम शहर

अगर प्राकृतिक सौंदर्य की बात कही जाए तो उसमे रामेश्वरम का ज़िक्र होना लाज़मी तो है ही साथ ही साथ यह चारधामों में से एक तीर्थ धाम भी है। सीपें, शंख और कोड़ियाँ आदि यहाँ समुद्र में बहुत मिलती हैं जो पर्यटकों को ठहरने को मजबूर करती हैं। अगर आप रामेश्वरम आने की सोच रहे हैं तो यहाँ समुद्र में सफ़ेद रंग का बड़ियास मूंगा भी आपको मिलेगा। वाकई रामेश्वरम का खूबसूरत नज़ारा आँखों में कैद करने जैसा होता है।
Image Courtesy:Attumm

रामनाथ स्वामी मंदिर

रामनाथ स्वामी मंदिर

रामनाथ स्वामी मंदिर समुद्रतट पर स्थित वास्तुकला का जीता जागता उदाहरण है। जो कि माना जाता है कि कई शासकों ने इसे 12 वीं शताब्दी में बनवाया था। यूँ तो इस मंदिर की कलात्मक शैली विश्वभर में मशहूर है ही साथ ही इसका गलियारा भी पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करता है।
Image Courtesy:Vinayaraj

बाईस कुण्ड

बाईस कुण्ड

रामनाथ मंदिर में यह बाईस कुण्ड के शेष बचे हैं बताया जाता है कि पहले यह कुण्ड 24 थे परन्तु किसी वजह से 2 कुण्ड सूख गए जिनमे अब बस 22 बचे हुए हैं। यह कुण्ड पवित्र तीर्थों में से एक हैं। यह भी माना जाता है कि इन कुंडों में स्नान करने से पाप धूल जाते हैं।
Image Courtesy:varun suresh

यात्रा का रथ

यात्रा का रथ

रामेश्वरम में यात्रा का रथ दर्शनीय है। यहाँ शिव जी की मूर्तियों की भांति माता पार्वती की भी दो मूर्तियां विराजमान हैं। इन दोनों मूर्तियों को अलग अलग नाम से पुकारा जाता है। पहली मूर्ति पर्वतवर्द्धिनी और दूसरी मूर्ति विशालाक्षी के नाम से सम्बोधित की जाती हैं।
Image Courtesy:madhan r

कोदंडाराम स्वामी मंदिर

कोदंडाराम स्वामी मंदिर

कहा जाता है कि इसी स्थान पर भगवान राम से विभीषण मिले थे इसीलिए इसी जगह पर यह कोदंडाराम स्वामी मंदिर स्थापित है। यह धनुष्कोटि से तक़रीबन 8 किलोमीटर की दूरी पर होगा जो कि दर्शनीय है।
Image Courtesy:Arun

विल्लीरणि तीर्थ

विल्लीरणि तीर्थ

विल्लीरणि तीर्थ रामेश्वरम के तीर्थ स्थलों में से एक है। यूँ तो रामेश्वरम में कदम कदम पर कई तीर्थ हैं उन तीर्थों की अपनी अलग अलग मान्यताएं हैं। उन्हीं तीर्थों से एक है विल्लीरणि तीर्थ।
Image Courtesy:BotMultichillT

कोरल रीफ

कोरल रीफ

कोरल रीफ कुदरत के करिश्मों में से एक है यह बेहद खूबसूरत प्राकृतिक सौंदर्य वाला स्थल है। यहाँ दूर दूर तक फैली सुनहरी रेत और उसपर नारियल के ऊँचे ऊँचे वृक्ष इसकी खूबसूरती को और भी खूबसूरत बना देते हैं। कोरल रीफ में अधिकतर पर्यटक मछली पकड़ने के चाह में भी आते हैं।
Image Courtesy:Drajay1976

अग्नि तीर्थम

अग्नि तीर्थम

अग्नि तीर्थम का जल बेहद स्वच्छ व शांत गति वाला है। यहाँ आकर पर्यटक सुकून के साथ बैठकर इसकी स्वछता को निहारते हैं। अगर आप भी रामेश्वरम आना चाहते हैं तो यहाँ अवश्य आएं यह रामस्वामी मंदिर से 100 मीटर की दूरी पर ही है।
Image Courtesy:Swaroop C H

सेतु माधव

सेतु माधव

सेतु माधव कहलाने वाले शिवजी का मंदिर रामेश्वरम के मंदिरों में से एक है। यूँ तो रामेश्वरम का मंदिर है तो भगवान शिव जी का लेकिन इसके अंदर कई ओर भी मंदिर हैं जो दर्शनीय हैं।
Image Courtesy:Attumm

धनुषकोटि

धनुषकोटि

धनुषकोटि समुद्रतट पर स्थित एक दर्शिये स्थल है यहाँ भगवान राम, लक्ष्मण, विभीषण और हनुमान की मूर्तियां विराजमान हैं। धनुषकोटि रामेश्वरम से तक़रीबन 18 किलोमीटर की दूरी पर होगा जो कि दर्शनीय है।
Image Courtesy:Flickr upload bot

तिरुपलानी

तिरुपलानी

तिरुपलानी मंदिर अपनी कलात्मक शैली नक्काशी और कलात्मक पक्ष के लिए विश्व प्रसिद्ध है यह दर्शनीय है। प्राकृतिक सुंदरता की दृष्टि से भी यह सुन्दर है। पर्यटक यहाँ आकर मन की शान्ति पा सकते हैं।
Image Courtesy:BotMultichillT

गंधाधन परवतम

गंधाधन परवतम

गंधाधन पर्वतम् रामेश्वरम का ऊंचा स्थल तो है ही साथ ही यह रामेश्वरम मंदिर से लगभग 4 किलोमीटर दूर है। यहाँ से आप पूरे समुद्र द्वीप का अद्भुत आकर्षण नज़ारा देख सकते हैं।
Image Courtesy: Magnus Manske

सीता कुण्ड

सीता कुण्ड

कहा जाता है कीं अगर सीता कुण्ड में जो स्नान करे उसके सारे पाप धुल जाते हैं। यूँ तो रामेश्वरम में बहुत से ऐसे कुण्ड हैं जिनकी अपनी व्याख्या और अपना मत व आस्था है। उनमे से सीता कुण्ड भी एक है जो की दर्शनीय है।
Image Courtesy:Magnus Manske

सागर तट पर स्नान करते श्रद्धालु

सागर तट पर स्नान करते श्रद्धालु

बड़ी आस्था से यहाँ पर्यटक रामेश्वरम के मंदिर में अपनी हाज़िरी लगाने आते हैं। हज़ारों श्रद्धालु यहाँ स्नान करते हैं। यहाँ कदम कदम पर मंदिर होने की वजह से हर जगह काफी भीड़ उमड़ी रहती है। यहाँ भगवानों की मूर्तियां दर्शनीय हैं।
Image Courtesy:Finavon

आदि सेतु

आदि सेतु

कहा जाता है की भगवान राम ने इसी स्थान पर सेतु बांधना शुरू किया था इसलिए इस जगह को आदि सेतु के नाम से जाना जाता है। इसे दर्भशयनम् के नाम से भी सम्बोधित किया जाता है।
Image Courtesy:Magnus Manske

वायु मार्ग द्वारा

वायु मार्ग द्वारा

अगर आप रामेश्वरम फ्लाइट द्वारा जाने की सोच रहे हैं तो बस एक क्लिक कीजिये और जानिये वायु यात्रा की सभी जानकारियां।
Image Courtesy:Tej Pratap Singh

रेल मार्ग द्वारा

रेल मार्ग द्वारा

रामेश्वरम जाने वाली सभी रेल सुविधाओं की जानकारी और रेल गाड़ियों का विवरण लेने के लिए क्लिक करें
रामेश्वरम चेन्नई,कोयम्बटूर,तरुचि और तंजावुर शहरों से सीधा जुड़ा हुआ है। इन नगरों से रेल मार्ग द्वारा आसानी से पहुंचा जा सकता है। कुछ रेल गाड़ियां इस तरह हैं- कोयम्बटूर से रामेश्वरम के लिए-6115 कोयम्बटूर-रामेश्वरम एक्सप्रेस, चेन्नई से रामेश्वरम के लिए- 6701 रामेश्वरम सेतु एक्सप्रेस।
Image Courtesy:Bobinson K B

सड़क मार्ग द्वारा

सड़क मार्ग द्वारा

दक्षिण के सभी बड़े शहरों से यहाँ आने के लिए बसें उपलब्ध हैं। अगर आप रामेश्वरम सड़क मार्ग दवारा आना चाहते हैं तो क्लिक करें और जाने सड़क मार्ग की सारी जानकारी
Image Courtesy:Tej Pratap Singh

साधारण श्रेणी के होटल

साधारण श्रेणी के होटल

रामेश्वरम के बारे में अधिक जानकारी के लिए क्लिक करें

नाडार महाराज संगम (19,न्यू स्ट्रीट), चोला (25,नार्थ कार स्ट्रीट), विक्टोरिया लॉज (30,वर्तमान स्ट्रीट), महाराजा (7,मिडिल स्ट्रीट), वेंकटेश लॉज (एस.वी.के.स्ट्रीट), रामनाथ स्वामी लॉज (39 वर्तमान स्ट्रीट) आदि और भी होटल्स हैं जहाँ आप बिना किसी परेशानी के ठहर सकते हैं।
Image Courtesy:Flickr upload bot

रामेश्वरम तीर्थ स्थल में कब और कहाँ जाएँ

रामेश्वरम तीर्थ स्थल में कब और कहाँ जाएँ

रामेश्वरम में कब कहाँ कैसे जाएँ इसकी अधिक जानकारी के लिए क्लिक करें
Image Courtesy:Attumm

यात्रा पर पाएं भारी छूट, ट्रैवल स्टोरी के साथ तुरंत पाएं जरूरी टिप्स