• Follow NativePlanet
Share
» »तिरुपति,आंध्र प्रदेश का मशहूर और अटूट आस्थाओं वाला धार्मिक स्थल

तिरुपति,आंध्र प्रदेश का मशहूर और अटूट आस्थाओं वाला धार्मिक स्थल

Written By: Staff

आंध्र प्रदेश का तिरुपति एक धार्मिक पर्यटन स्थल है। जहाँ भगवान वेंकटेश्वर का विशाल विश्व प्रसिद्ध मंदिर है जो कि दर्शनीय है। यहाँ की आस्था की माला इतनी अटूट है कि हज़ारों मीलों को पार करके भी पर्यटक यहाँ आते हैं। यहाँ की खूबसूरत हरी-भरी पहाड़ियां और प्राकृतिक सौंदर्य देख देशी-विदेशी पर्यटक खींचे चले आते हैं।
तिरुपति के बारे में अधिक बताने से पहले मैं आपको इसके नाम का मतलब बतादूं 'तिरु' यानी 'पवित्र' और 'पति' यानी 'माला' पर्वत। इस प्रकार तिरुपति का मतलब है 'पवित्र पर्वत' इसलिए यह नगर एक खूबसूरत पर्वत पर बसा है। तो क्यों न इस वेकेशन तिरुपति (पवित्र पर्वत) की सैर की जाए।
पढ़ें:हालेबिडु, कर्नाटक के होयसलाये राजवंशों का विशाल ऐतिहासिक साम्राज्य

वेंकटेश्वर मंदिर

वेंकटेश्वर मंदिर

वेंकटेश्वर मंदिर भारत के सबसे महत्वपूर्ण आलीशान मंदिरों में से एक हैं। यहाँ आने वाले श्रद्धालुओं की आस्था इस मंदिर के प्रति अटूट रहती है। इस मंदिर की खूबसूरती और वातावरण तारीफ़ करने लायक है।वेंकटेश्वर मंदिर के शिखर पर स्वर्ण पत्थर (सोने का पत्थर) चढ़ा हुआ है। यह मंदिर धार्मिक मान्यता में तो लोकप्रिय है ही साथ ही साथ इसके शिखर पर सोने का पत्थर देखने के लिए भी पर्यटकों की भीड़ उमड़ी रहती है।
Image Courtesy:Tony Hisgett

वराह स्वामी मंदिर

वराह स्वामी मंदिर

वराह स्वामी मंदिर भगवान वेंकटेश्वर मंदिर के समीप ही है। यह मंदिर भगवान विष्णु को समर्पित है। यहाँ भगवान विष्णु को वराह स्वामी के रूप में विराजा गया है। यहाँ का वातावरण देख आप भी भगवान की छत्र-छाया से दूर जाना नहीं चाहेंगे।
Image Courtesy:wplynn

श्री पद्मावती मंदिर

श्री पद्मावती मंदिर

वराह स्वामी मंदिर के बाद यह मंदिर भगवान विष्णु की पत्नी को समर्पित है जहाँ श्री पद्मावती भगवान विष्णु की पत्नी के रूप में विराजमान हैं। भगवान तिरुमला के दर्शन के बाद आप यहाँ आ सकते हैं। यहाँ आकर आपको मानसिक शांति अवश्य प्राप्त होगी।
Image Courtesy:Os Rupias

चंद्रगिरी किला

चंद्रगिरी किला

भगवान तिरुमला के मंदिर से तक़रीबन 11 किलोमीटर की दूरी पर यह किला स्थित है। इसे चन्द्रगिरि किला के नाम से जानते हैं। यह भारतीय कला, शैली व संस्कृति का अद्भुत नमूना है। यहाँ आप अवश्य आएं।
Image Courtesy:vimal_kalyan

थाल कोणम

थाल कोणम

तिरुपति से तक़रीबन 40 किलोमीटर की दूरी पर थाल कोणम स्थित है। यह खूबसूरत होने के साथ साथ पर्यटन की दृष्टि से बेहद रोमांचक पिकनिक स्थल है। आप यहाँ भगवान के दर्शन के बाद पिकनिक मना सकते हैं साथ ही सुकून के पल बिता सकते हैं।
Image Courtesy:wplynn

हवाई मार्ग द्वारा

हवाई मार्ग द्वारा

यहाँ से निकटम हवाई अड्डा रेनिगुंटा में स्त्तिथ है। इंडियन एयरलाइंस की हैदराबाद, दिल्ली और तिरुपति के बीच प्रतिदिन सीधी उडा़न उपलब्‍ध है। तिरुपति हवाई यात्रा द्वारा कैसे पहुंचे, कौन सी फ्लाइट आसानी से पहुंचा सकती है इन सबकी अधिक जानकारी के लिए बस एक क्लिक करें तिरुपति पहुँचने के लिए रेल मार्ग ही सर्वाधिक उचित है। यह शहर चेन्नई, हावड़ा, मुंबई, विजयवाड़ा आदि महानगरों से रेल मार्ग द्वारा जुड़ा हुआ है।

रेल मार्ग द्वारा तिरुपति का सफर

रेल मार्ग द्वारा तिरुपति का सफर

यहां से सबसे पास का रेलवे जंक्शन तिरुपति है। यहां से बैंगलोर, चेन्नई और हैदराबाद के लिए हर समय ट्रेन उपलब्‍ध है। तिरुपति के पास के शहर रेनिगुंटा और गुडूर तक भी ट्रेन चलती है। तिरुपति की यात्रा को सफल बनाने के लिए जाने किस ट्रेन से कैसे जाएँ इन सबकी अधिक जानकारी के लिए क्लिक करें
Image Courtesy:Prasoon

सड़क मार्ग द्वारा तिरुपति का सफर

सड़क मार्ग द्वारा तिरुपति का सफर

राज्य के विभिन्न भागों से तिरुपति और तिरुमला के लिए एपीएसआरटीसी की बसें नियमित रूप से चलती हैं। टीटीडी भी तिरुपति और तिरुमला के बीच नि:शुल्क बस सेवा उपलब्ध कराती है। यहां के लिए टैक्सी भी मिलती है। तिरुपति अगर आप सड़क मार्ग द्वारा जाना चाहते हैं तो इसकी अधिक जानकारी के लिए बस एक क्लिक करें और जाने कब कैसे यात्रा को आसान बनायें।
Image Courtesy:ShashiBellamkonda

तिरुपति में कहाँ ठहरें

तिरुपति में कहाँ ठहरें


यहाँ ठहरने के लिए स्थानीय होटल, डाक बंगले, सर्किट हाउस व धर्मशालाओं की उचित व्यवस्था है। तिरुपति में कहाँ ठहरें और सफर को कितना आसान बनाएं इन सबकी जानकारी के लिए बस एक क्लिक करें।
Image Courtesy:Chandrashekhar Basumat

यात्रा पर पाएं भारी छूट, ट्रैवल स्टोरी के साथ तुरंत पाएं जरूरी टिप्स