• Follow NativePlanet
Share
» »भारत के वो टॉप 5 बला के सुन्दर गांव जिनको शायद ही जानते हों टूरिस्ट और ट्रैवलर

भारत के वो टॉप 5 बला के सुन्दर गांव जिनको शायद ही जानते हों टूरिस्ट और ट्रैवलर

Written By: Staff

घूमने के लिहाज से भारत में टूरिस्ट डेस्टिनेशंस की कमी बिलकुल भी नहीं है। आज देश में ऐसे कई डेस्टिनेशंस हैं जो अपनी बला की सी खूबसूरती के चलते हर साल लाखों पर्यटकों को अपनी तरफ आकर्षित करते हैं तो वहीं यहां एक से एक खूबसूरत मगर अंजान और गुमनाम डेस्टिनेशंस भी मौजूद हैं। ज्ञात हो कि हम अपने पिछले कई लेखों के जरिये आपको भारत के इन गुमनाम डेस्टिनेशंस से अवगत करा चुके हैं साथ ही हमारे द्वारा आपको उन सभी कारणों से भी अवगत कराया जा चुका है कि क्यों आपको इन डेस्टिनेशंस की यात्रा करनी चाहिए।तो इसी क्रम में आज हम अपने इस लेख के जरिये आपको अवगत कराएंगे भारत के कुछ ऐसे गांवों से जो बेहद खूबसूरत और आकर्षक हैं।

आपको बता दें कि भारत में मौजूद ये टॉप 5 अज्ञात गाँव अपनी मन मोह लेने वाली प्रकृति और बला की खूबसूरती के चलते आने वाले किसी भी पर्यटक का मन मोह सकते हैं। तो आइये जाना जाये कि ऐसा क्या है भारत के इन गाँवों में जो एक ट्रैवलर को यहां अवश्य जाना चाहिए। साथ ही ये भी जाना जाये कि ये कौन कौन से गांव हैं जिनको हमने इस लेख के लिए चयनित किया है। आकर्षक डील : थॉमस कुक में घरेलू उड़ानों पर पाये 600 रुपए की छूट - जल्दी करें

गोरुमारा

पश्चिम बंगाल के उत्तर बंगाल प्रान्त के जलपाईगुड़ी ज़िले में स्थित गोरुमारा भारत का एक अन्य ऐसा डेस्टिनेशन है जिससे लोग अंजान हैं। आपको बताते चलें कि यहां का अद्भुत वन्य जीवन इस स्थान की पहचान है और वर्तमान में यहां जानवरों की कई लुप्तप्राय और संरक्षित प्रजातियां मौजूद हैं। यदि आप गोरुमारा में हैं तो हमारा सुझाव है कि आप यहां मौजूद गोरुमारा राष्ट्रीय उद्यान की यात्रा अवश्य करें। ये राष्ट्रीय उद्यान अपने अंदर संरक्षित गैंडों के लिए जाना जाता है। यदि आप भाग्यशाली हुए तो आपको यहां कई ऐसे जानवर दिखेंगे जिन्हें आपने शायद टीवी या किताबों में ही देखा हो।

भारत के टॉप 5 गुमनाम मगर सुन्दर गाँव

कोराकुंडा

नीलगिरी की मंत्र-मुग्ध कर देने वाली वादियों में स्थित कोराकुंडा अपने चाय के उत्पादन के लिए जाना जाता है। साथ ही ये स्थान उन लोगों को भी आकर्षित करता है जिन्हें नेचर से लगाव हो। सुंदर पहाड़ों, नदियों और झरने से घिरा कोराकुंडा गांव उनके लिए हैं जो नेचर के बीच रिलैक्स होना चाहते हैं। लोगों की पहुंच से दूर कोराकुंडा वो स्थान है जो उन लोगों को अपनी तरफ आकर्षित करता है जो प्रकृति को उसके सर्वोत्तम रूप में निहारने के इच्छुक हैं।

मलाना

हिमाचल प्रदेश में स्थित और समुद्र स्तर से 3029 मीटर की ऊंचाई पर तेज प्रवाह वाली मलाना नदी के तट पर स्थित मलाना का शुमार भारत के उन गांवों में है जो अपनी बला की खूबसूरती और लैंडस्केप के चलते उन लोगों को आकर्षित करता है जिन्हें ऊंची ऊंची पहाड़ियों से मोह है। आपको बताते चलें कि अपने शांत वातावरण और समृद्ध संस्कृति के लिए जाना जाने वाला मालना- एक खोई पहचान है और यह हिमालय के वैश्वीकरण सहित कई वृत्तचित्रों का एक हिस्सा रहा है। यदि आप मलाना में हैं तो हमारा सुझाव है कि आप ट्रैकिंग और पर्वतारोहण जैसी गतिविधियों को अवश्य अंजाम दें।

झंजेली

हिमाचल प्रदेश में मौजूद छोटा सा गांव झंजेली उनके लिए है जिन्हें एडवेंचर में दिलचस्पी है। 3,300 मीटर तक की ट्रैकिंग मुहैया कराने वाला झंजेली अपने अनोखे कल्चर के लिए भी जाना जाता है। ट्रैकिंग के अलावा यहां आने वाले पर्यटक कई अन्य एडवेंचर गतिविधियों जैसे रॉक क्लाइम्बिंग, स्कीइंग और पैराग्लिडिंग में भी हिस्सा ले सकते हैं। आपको बताते चलें कि ये स्थान मंडी के निकट ही स्थित है।

फौंगपुइ

फौंगपुइ पूर्वोत्तर भारत के मिज़ोरम में है जो सइहा ज़िले के अंतर्गत आता है। यदि आप फौंगपुइ में हैं तो हमारा सुझाव है कि आप यहां मौजूद फौंगपुइ राष्ट्रीय उद्यान देखना बिलकुल न भूलें जो अपने में जानवरों की कई दुर्लभ प्रजातियों का संरक्षण करता है। आपको बता दें कि फौंगपुइ मिजोरम का सबसे ऊंचा शिखर है अतः आप चाहें तो यहां कई सारे प्रमुख एडवेंचर खेलों में भी अपनी उपस्थिति दर्ज करा सकते हैं। कैम्पिंग यहां का मुख्य आकर्षण हैं तो हमारा सुझाव है कि इसे आप एक बार अवश्य अंजाम दें।

यात्रा पर पाएं भारी छूट, ट्रैवल स्टोरी के साथ तुरंत पाएं जरूरी टिप्स