» »गुलाबी नगरी घूमने से पहले ये लेख जरुर पढ़े

गुलाबी नगरी घूमने से पहले ये लेख जरुर पढ़े

Written By: Goldi

गुलाबी नगरी के नाम से प्रसिद्ध राजस्थान की राजधानी जयपुर देशी ही नहीं बल्कि विदेशियों के बीच भी काफी लोकप्रिय है। जयपुर शहर, अपने किलों, महलों और हवेलियों के विख्‍यात है, दुनिया भर के पर्यटक भारी संख्‍या में भ्रमण करने आते है। दूर - दराज के क्षेत्रों के लोग यहां अपनी ऐतिहासिक विरासत की गवाह बनी इस समृद्ध संस्‍कृति और पंरपरा को देखने आते है। अम्‍बेर किला, ना‍हरगढ़ किला, हवा महल, शीश महल, गणेश पोल और जल महल, जयपुर के लोकप्रिय पर्यटक स्‍थलों में से हैं।

राजसी गढ़, राजस्थान में ऐतिहासिक किलों की सैर!

जयपुर में पर्यटक फुर्सत के पल मजे के साथ बिताने के साथ साथ यहां आकर ऊंट की सवारी, गर्म हवा के गुब्‍बारों की सैर और रॉक क्‍लाइम्बिंग जैसे खेलों का आंनद उठा सकते है। उत्‍साही लोग अच्‍छा समय व्‍यतीत करने के लिए आस करौली और रणथंभौर जैसे राष्‍ट्रीय उद्यानों की सैर के लिए भी जा सकते हैं। पर्यटक, जयपुर में आकर खरीददारी करना कभी नहीं भूलते है। यहां के कई बाजारों में विभिन्‍न प्रकार के सरणी, गहने, कालीन, मिट्टी के बर्तन और रत्‍न आदि मिलते है जो बिल्कुल अनोखे होते है।

हवा महल

हवा महल

हवा महल जयपुर का एक और अन्य मुख्य आकर्षण है जो सिटी पैलेस के नज़दीक ही स्थापित है। यह एक अद्भुत अद्वितीय पांच मंज़िला इमारत है जिसकी हर मंज़िल में पंक्तिबद्ध खिड़कियां बनी हुई हैं। इन खिड़कियों की संख्या लगभग 953 है।PC:Marcin Białek

गलता जी मंदिर

गलता जी मंदिर

गलता जी मंदिर एक धार्मिक स्‍थल है जो जयपुर शहर से लगभग 10 किमी. की दूरी पर स्थित है। यह जगह पहाड़ी क्षेत्रों के बीच स्थित है। यह मंदिर यहां स्थित सूर्य देवता को समर्पित है।अरावली की पहाड़ियों पर गलताजी मंदिर काफी ऊंचाई पर स्थित है और यहां से आपको पूरे जयपुर शहर का खूबसूरत नज़ारा देखने को मिलेगा। 16वीं शताब्‍दी से ये स्‍थान हिंदुओं का प्रमुख तीर्थस्‍थल बना हुआ है। इसे दीवान राव कृपापरम द्वारा बनवाया गया था जोकि राजपूत शासक सवाई जय सिंह के सलाहकार थे। इस मंदिर को गुलाबी पत्‍थरों से बनाया गया है। मंदिर के खंभों और छत पर सुंदर नक्‍काशी की गई है। इस एक मंदिर में कई अन्‍य छोटे मंदिर हैं जिसमें हनुमान जी को समर्पित मंदिर मुख्‍य मंदिर माना जाता है। यहां पर भगवान राम और भगवान कृष्‍ण को समर्पित मंदिर भी स्‍थापित हैं। मंदिर के द्वार पूरा दिन खुले रहते हैं।
PC: 3792dua

राजमंदिर सिनेमा

राजमंदिर सिनेमा

अगर आप थियेटर में फिल्म देखने का मजा उठाना चाहते हैं, तो एमआई रोड के पास राज मंदिर जाना कतई ना भूले। राज मंदिर एशिया का सबसे बड़ा सिनेमा हॉल है। मशहूर राज मंदिर सिनेमा हाल अपनी पुरातन वास्तुकला के लिए जाना जाता है और इस शहर का गौरव है। इसकी शानदार वास्तुकला के चलते इसे ‘प्राइड ऑफ़ एशिया' की उपाधि से सम्मानित किया गया है। इस हाल में अब तक हजारों लोग पुरानी क्लासिक फिल्मों का मजा ले चुके हैं। किसी और में इसके जैसा आकर्षण नहीं है, इसलिए यहां आने वाले लोगों के लिए यहां दौरा करना जरुरी है।PC:Antoine Taveneaux

नाहरगढ़ फोर्ट

नाहरगढ़ फोर्ट

नाहरगढ़ फोर्ट को जयपुर के राजा सवाई जय सिंह द्वारा बनाया गया था। किले के नाम में बाने वाला शब्‍द नाहरगढ़ का अर्थ होता है - बाघों का निवास। इस किले का निर्माण कार्य 1734 में पूरा किया गया, हालांकि बाद में 1880 में महाराजा सवाई सिंह माधो द्वारा किले की विशाल दीवारों और बुर्जो का पुननिर्माण भी करवाया गया था। यह किला, अरावली पर्वतों की श्रृंखला में बना हुआ है जो भारतीय और यूरोपीय वास्‍तुकला का सुंदर समामेलन है। रात में यहां जब यहां लाइटिंग होती है तो इसकी खूबसूरती और बढ़ जाती है। बारिश के दौरान यहां से जयपुर शहर का नजारा किसी हिल स्टेशन सरीखा होता है। खिड़कियों से बदलों की आवाजाही एक सुखद अहसास कराती है।

आमेर किला

आमेर किला

यह प्रभावशाली किला पहाड़ की चोटी पर स्थित है, जो राजपूत और हिन्दू वास्तुशैली में निर्मित है। किले के अंदर ही कुछ मुख्य आकर्षण हैं जिन्हें आप देखना बिलकुल भी ना भूलें; दीवान-ए-आम,दीवान-ए-खास, सुख निवास और शीश महल।PC:Firoze Edassery

ढेर सारी शॉपिंग

ढेर सारी शॉपिंग

अगर आप शॉपिंग के दीवाने हैं, जयपुर आपके लिए एकदम परफेक्ट जगह है, पर्यटक जौहरी मार्केट से कीमती पत्थर, मोती, चाँदी के गहने,कपड़े आदि की खरीददारी कर सकते हैं।इसके अलावा पर्यटक बापू बाजार,त्रिपोलिया मार्केट ,नेहरू बाजार आदि से राजस्थानी कपड़े, जूते आदि खरीद सकते हैं।

Please Wait while comments are loading...