• Follow NativePlanet
Share
» »चाय के शौक़ीन, भारत के इन खास चाय के बगानों को जरुर घूमें

चाय के शौक़ीन, भारत के इन खास चाय के बगानों को जरुर घूमें

Written By:

अगर सुबह चाय ना मिले तो ऐसा लगता है दिन अधूरा चला गया, गर्मा-गर्म चाय ना सिर्फ आपका दिन अच्छा बनाती है, बल्कि आपमें स्फूर्ति भी प्रदान करती है। खास-कर हम भारत वासियों के लिए चाय ही जिन्दगी है।

तो आज हम आपको अपने लेख से भारत के चाय के बगानों की सैर करायेंगे, बता दें, भारत का सबसे महत्व्पूर्ण उत्पादक, जिसे अपने प्रभावशाली चाय के बगानों पर बेहद गर्व है। चाय के बगानों की खास बात यह है कि, यहां पहुँचने के बाद आप यहां, ताज़ी हवा और प्रदूषण रहित वातावरण पहली चीज़ें हैं, जिन्हें आप सबसे पहले महसूस करेंगे साथ ही यहां निर्मल हरियाली का मज़ा उठा सकते हैं।

चाय के बगानों के सैर करते समय आप इन चाय बागानों से कुछ असली चाय की पत्तियां भी ला सकते हैं, साथ ही अपनी भाग दौड़ भरी ज़िन्दगी से एक काफी आवश्यक ब्रेक लेकर जिन्दगी को जिंदादिल तरीके से जी सकते हैं-

पालमपुर

पालमपुर

पालमपुर उत्तर पश्चिमी भारत की चाय राजधानी के रूप में जाना जाता है। कई एकड़ भूमि में फैले हुए ये चाय के बागान इस क्षेत्र के अनेक स्थानीय लोगों की जीविका का साधन हैं। पालमपुर की यात्रा करने वाले पर्यटकों के लिये चाय के बागान प्रमुख आकर्षण है।Pc:Jon Connell

 मुन्नार, केरल

मुन्नार, केरल

दक्षिण भारत के केरल में स्थित मुन्नार भारत की एक ऐसी जगह है जहाँ पर विशाल चाय के बागान पाये जा सकते हैं। सुन्दर प्राकृतिक नज़ारा और बेहतरीन मौसम मुन्नार को पर्यटकों के लिए सबसे अच्छा बनाता है जहाँ आकर वह अपनी छुट्टियां बिता सकते हैं।Pc: flicker

दार्जीलिंग, पश्चिम बंगाल

दार्जीलिंग, पश्चिम बंगाल

दार्जिलिंग पश्चिम बंगाल का ऐसा शहर है जहाँ पूरे भारत का करीबन 25 प्रतिशत चाय उत्पादन होता है। अपने बेहतरीन मौसम और प्राकृतिक सुंदरता के कारण दार्जिलिंग को भारत का सबसे अच्छा चाय बागान क्षेत्र माना जाता है और पर्यटकों को यहाँ जाने की सलाह दी जाती है। यहाँ आने पर हैप्पी वैली टी स्टेट ज़रूर देखना चाहिए।Pc: flicker

जोरहाट, असम

जोरहाट, असम

असम दश का सबसे बड़ा चाय उत्पादक क्षेत्र माना जाता है। दक्षिणी चीन और असम पूरे विश्व के ऐसे दो क्षेत्र हैं जहाँ पैदाइशी चाय के पौधे उगाये जाते हैं। असम के जोरहाट में हर साल एक चाय महोत्सव का आयोजन होता है जहाँ भारी तादाद में पर्यटक आते हैं।
Pc: Dr. Asim Kumar Chowdhury

नीलगिरी पहाड़, तमिल नाडू

नीलगिरी पहाड़, तमिल नाडू

तमिलनाडु के प्रान्त में स्थित निलगिरी पहाड़ियों पर करीबन 100 साल से चाय उगाया जा रहा है। नीलगिरि के चाय बागान को पेश करता है नीलगिरि टी प्लांटर एसोसिएशन। नीलगिरि के पास है कुनूर जहाँ पर पर्यटक कई सुन्दर चाय बागानों का मज़ा ले सकते हैं।

तमिलनाडु के टॉप 9 फेमस और दिलकश हिल स्टेशन, जो हैं वेकेशन के लिए परफेक्ट

Pc: Vinrox

यात्रा पर पाएं भारी छूट, ट्रैवल स्टोरी के साथ तुरंत पाएं जरूरी टिप्स