» »छत्तीसगढ़ का अनदेखा लेकिन खूबसूरत शहर दुर्ग

छत्तीसगढ़ का अनदेखा लेकिन खूबसूरत शहर दुर्ग

Written By: Goldi

छत्तीसगढ़ में पर्यटकों के घूमने के लिए काफी जगहें हैं, जिनमे से एक है दुर्ग, जो पर्यटकों की जोह अभी भी बाट रहा है।शॉनथ नदी के पूर्वी किनारे पर स्थित शहर आमतौर पर, यात्रियों द्वारा अनदेखा किया जाता है, क्योंकि यह फैंसी आकर्षण का अभाव है।

यह एक छोटा सा शहर जरुर हैं, लेकिन यहां पर्यटकों के घूमने के लिए काफी कुछ है, जिसे देख पर्यटक आकर्षित हो सकते हैं। यहां आने वाले पर्यटक यहां मंदिर कुछ रहस्यों से भी रूबरू हो सकते हैं। यह एक छोटा ट्रेवल गाइड है, जिससे आप यहां के स्थानों की सैर कर सकते हैं। यात्रियों के लिए कुछ साधारण हेल्थ टिप्स!

देवबलोडा

देवबलोडा

दुर्ग में देवबलोडा एक छोटी सी जगह है, जो यहां स्थित प्राचीन शिव मंदिर के जाना जाता है। बताया जाता है कि, इस मंदिर का निर्माण पांचवीं शताब्दी में हुआ था, मंदिर में भगवान गणेश और भोलेनाथ की मूर्ति है।मंदिर के पास एक तालाब है, जिसके बारे में कहा जाता है कि, यह अंदर ही अंदर दूसरे गांवों से जुड़ा हुआ है। यहां आने वाले पर्यटक मंदिर वास्तुकला की सुन्दरता को देख मंत्रमुग्ध रह जाते हैं।
Pc: Nativeplanet

गंगा मैय्या मंदिर

गंगा मैय्या मंदिर

दुर्ग स्थित गंगा मैय्या मंदिर की है, जिसकी मान्यता है कि, यहां स्थापित मूर्ति एक मछुयारे को मिली थी । माना जाता है कि यह मूर्ति द्वारका के राज्य के खंडहरों में से एक है, इसलिए इसे बहुत शक्तिशाली भी माना जाता है। पर्यटक यहां आकर पुराने मन्दिरों को देख सकते हैं।

पाटन

पाटन

मध्ययुगीन काल के दौरान कभी गुजरात की राजधानी रह चुका, पाटन आज बीते युग की एक गवाही के रूप में खड़ा है। पाटन 8वीं सदी के दौरान, चालुक्य राजपूतों के चावड़ा साम्राज्‍य के राजा वनराज चावड़ा, द्वारा बनाया गया एक गढ़वाली शहर था। पाटन जैन धर्म के प्रसिद्ध केन्द्रों में से एक है और यहां सोलंकी युग के दौरान निर्मित हिन्दू और जैन मंदिर देखे जा सकते हैं। पाटन अपनी पटोला साड़ियों के लिए भी प्रसिद्ध है, जो सलविवाड़ में मश्रु बुनकरों द्वारा बनायी जाती हैं।Pc:Kit Hartford

तांदुला बांध

तांदुला बांध

तंदूला बांध दंडुला नदी सुखा नाला नदी पर बना है और दुर्ग में आने वाले पर्यटकों के बीच एक लोकप्रिय आकर्षण है। तांदुला बांध गांव के निकट स्थित है, यह जगह पक्षी प्रेमियों के बीच खासा विख्यात है। यहां सैलानी पिकनिक भी मना सकते हैं।Pc:Tanvirkhan89

कैसे जायें

कैसे जायें

हवाई जहाज द्वारा
दुर्ग का निकटतम हवाई अड्डा, 54 किमी की दूरी पर रायपुर हवाई अड्डा है यह हवाई अड्डा दिल्ली, मुंबई, नागपुर, कोलकाता, भुवनेश्वर, चेन्नई, रांची और विशाखापत्तनम जैसे प्रमुख शहरों से जुड़ा हुआ है।

ट्रेन से: दुर्ग रेलवे स्टेशन मुंबई-हावड़ा मुख्य लाइन पर स्थित है, और यह मुंबई से 1,101 किमी दूर और हावड़ा से 867 किमी दूर है। यह सभी प्रमुख शहरों से जुड़ा हुआ है।

सड़क मार्ग से: दुर्ग आने वाले पर्यटक यहां पहुंचने के लिए छत्तीसगढ़ के किसी भी हिस्से से बसों के द्वारा यहां आ सकते हैं। इसके अलावा पर्यटक किराए की गाड़ी या कैब के जरिये भी यहां तक पहुंच सकते हैं।

Pc:tushlalsan