Search
  • Follow NativePlanet
Share
» »मिजोरम की खूबसूरत वादियों में छिपा वानतांग जलप्रपात

मिजोरम की खूबसूरत वादियों में छिपा वानतांग जलप्रपात

कुदरती सौंदर्यता को लेकर उत्साहित रहने वाले पर्यटकों को मिजोरम राज्य की सैर जरूर करनी चाहिए। प्राकृतिक खूबसूरती के मामले में पूर्वोत्तर भारत का यह राज्य काफी ज्यादा समृद्ध है। यहां की ऊंची-ऊंची पहाड़ियां, नदी, झरने और घाटियां सैलानियों को काफी ज्यादा प्रभावित करते हैं। एक नेचर लवर्स से लेकर एडवेंचर के शौकीनों के लिए यहां बहुत कुछ उपलब्ध है। यहां की मनमोहक पहाड़ी घाटियां मिजोरम को एक आदर्श पर्यटन स्थल बनाने का काम करती हैं। शहर की भागदौड़ भरी जिंदगी से दूर आप यहां एक शानदार अवकाश अपने परिवार या दोस्तों के साथ बिता सकते हैं। आइजोल, चम्फाई, लुंगलेई, सेरछिप, लांन्गतलाई आदि यहां ज्यादा भ्रमण किए जाने वाले स्थान हैं। इस लेख में आज हम आपको मिजोरम के प्राकृतिक खजाने में से एक वानतांग जलप्रपात के बारे में बताने जा रहे हैं, जानिए यह वाटरफॉल आपको किस प्रकार आनंदित कर सकता है।

वानतांग जलप्रपात

वानतांग जलप्रपात

PC-Bodhisattwa

वानतांग जलप्रपात राज्य का सबसे ऊंचा और देश का 13वां सबसे ऊंचा जलप्रपात है। यब वाटरफॉल राज्य के सबसे लोकप्रिय पर्यटन स्थलों में गिना जाता है, जहां सैलानी ज्यादा आना पसंद करते हैं। अपनी 324 फीट की ऊंचाई के साथ यह जलप्रपात पर्यटकों को रोमांचित करने का काम करता है। यह वाटरफॉल आइजोल से 104 कि.मी की दूरी पर स्थित है। पहाड़ी घाटियों और घनी वनस्पतियों से घिरा वानतांग दूर से किसी दूध की नदी जैसा लगता है। यहां का आसपास का वातावरण यहां आने वाले आगंतुकों को काफी ज्यादा प्रभावित करता है। इस जलप्रपात को दूर से ही देखा जा सकता है, क्योंकि यह घने जंगलों से घिरा हुआ है। वानतांग वाटलफॉल वानवा नदी से जल प्राप्त करता है। आगे जानिए इस संबंधित महत्वपूर्ण जानकारियां।

आने का सही समय

आने का सही समय

PC- Didini Tochhawng

अगर आप वानतांग की खूबसूरती को अच्छी तरह देखना चाहते हैं तो यहां का प्लान सितंबर से लेकर जनवरी के मध्य का बना सकते हैं। इस दौरान मौसम काफी अनुकूल बना रहता है, और आप अपने आनंद और रोमांच को दुगना कर सकते हैं। बता दें कि सर्दियां के दौरान यहां ज्यादा ठंड पड़ती, इसलिए अपने साथ गर्म कपड़े और आवश्यक सामान जरूर रखें।

गतिविधियां और आकर्षण

गतिविधियां और आकर्षण

PC-Rafa Tecchio

जलप्रपात की खूबसूरती का आनंद लेने के अलावा आप यहां आसपास के स्थलों की सैर का आनंद भी ले सकते हैं। आप यहां से सेरछिप का प्लान बना सकते हैं, जो यहां से कुछ ही कि.मी के फासले पर स्थित है। यह एक शानदार पर्यटन स्थल है, जहां आप पैराग्लाइडिंग का रोमांच भरा अनुभव ले सकते हैं। दूर -दूर से पर्यटक इस रोमांच भरे एडवेंचर का आनंद लेने के लिए आते हैं। यहां कई शानदार पर्यटन स्थल हैं, जहां आप जा सकते हैं। इसके अलावा आप आइजोल और थेनजाल का भ्रमण कर सकते हैं।

क्यों आएं वानतांग

क्यों आएं वानतांग

वानतांग आपकी यात्रा को कई मायनो में खास बना सकता है। एक प्रकृति प्रेमी से लेकर रोमांच के शौकीनों के लिए यहां बहुत कुछ उपलब्ध है। इस जलप्रपात की ऊंचाई और भौगोलिक स्थित इसे खास बनाने का काम करती है। नए गंतव्य की तलाश करे रहे ट्रैवलर यहां आ सकते हैं। अगर आप फोटोग्राफी का शौक रखते हैं,तो यहां के अद्बुत नजारों को अपने कैमरे में कैद कर सकते हैं। दोस्तों के साथ एक शानदार आइजोल ट्रिप के दौरान आप यहां आ सकते हैं। ऑफबीट प्लेस के प्रेमियों के लिए यह एक आदर्श स्थल है।

कैसे करें प्रवेश

कैसे करें प्रवेश

हवाई मार्ग : वागतांग आप परिवहन के तीनों साधनों की मदद से पहुंच सकते हैं, यहां का निकटतम हवाईअड्डा लेंगपुई एयरपोर्ट है, जो गुवाहाटी और कोलकाता से सीधे जुड़ा हुआ है। यहां से आपको सेरछिप के लिए टैक्सी मिल जाएगी, जिसके बाद आप आसानी से वानतांग पहुंच सकते हैं।

रेल मार्ग : रेल मार्ग के लिए आप सिलचर रेलवे स्टेशन का सहारा ले सकते हैं, जो आइजोल से 130 कि.मी की दूरी पर स्थित है।

सड़क मार्ग : आइजोल और गुवाहाटी की दूरी 470 कि.मी की है, आप यह सफर सड़क मार्ग के जरिए पूरा कर सकते हैं। आइजोल पहुंचने के बाद आप सेपछिप या वानतांग के लिए सीधे प्राइवेट टैक्सी ले सकते हैं।

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X