» »दुनिया के सात अजूबों को देखें..."सेवेन वंडर्स इन कोटा" में

दुनिया के सात अजूबों को देखें..."सेवेन वंडर्स इन कोटा" में

Written By: Goldi

दुनिया के सात अजूबो से कौन वाकिफ नहीं है...हर किसी की चाहत होती है कि, वह इन अजूबो की सैर करें। हालांकि इस ख्वाइश को पूरा करने के लिए अच्छी खासी रकम चाहिए होती है..जो शायद ही हर किसी के पास ना हो। लेकिन
अब फ़िक्र की बात नहीं है..जी हां अगर आप दुनिया के सात अजूबो को घूमना चाहते है तो आप महज 4000 में इन अजूबो की सैर कर सकते हैं।

बिना देर किये मै आपको बता देती हूं कि...आप दुनिया के सात अजूबो की सैर महज 4 हजार में कैसे कर सकते हैं? दरअसल दुनिया के सात अजूबो को आप भारत के राज्य राजस्थान के कोटा शहर में देख सकते हैं। बता दें, इन अजूबो को कोटा में असली सात अजूबो की हुबुहू नकल करके बनाया गया है।

जी हां संसार में यूं तो इन्सान ने द्वारा बनाई गयी हजारो ऐसी कृतियां है, जिन्हें देख आप अचंभे में पड़ जायेंगें। लेकिन दुनिया के सात अजूबो की बात ही अलग है। अपनी शिल्प कला, वास्तु कला और भवन निर्माण कला के लिए दुनिया
के साथ अजूबे हमेशा चर्चा का विषय बने रहते हैं।दुनिया के सात अजूबो में से एक अजूबा यानी ताजमहल हमारे भारत यानी आगरा में स्थित है, जिसे लोग दूर देश विदेश से देखने आते हैं। ठीक ऐसा ही ताज महल आपको कोटा के "सेवन
वंडर्स ऑफ़ वर्ल्ड पार्क में देखने को मिल जायेगा।

 एफिल टावर

एफिल टावर

पेरिस के एफिल टावर को कौन नहीं जानता।लेकिन अगर आप नजदीक से उसकी खासियत को निहारना चाहते हैं तो कोटा के किशोर सागर तालाब के पास बने पार्क में हूबहू वैसा ही आसमान को छूता टावर आपको नजर आ जायेगा। PC: wikimedia.org

 पिरामिड

पिरामिड

पेरिस के एफिल टावर के पास ही आपको पिरामिड में सोते हुए तूतेनखामेन भी मिल जाएंगे। उस जमाने में अद्धुत कलाकृति का नमूना जहां इतने बड़े पत्थरों को इतनी ऊंचाई तक ले जाना भी पहेली ही थी। लेकिन यहां इस इमारत को आकार देने में दिक्कत नहीं महसूस हुई।

पीसा की झुकी हुई मीनार

पीसा की झुकी हुई मीनार

जब आप पिरामिड से थोड़ा आगे बढ़ेंगे तो आपको पीसा की झुकी हुई मीनार नजर आएगी देखने को मिल जाएगी। इटली में पीसा की मीनार तो बनने के बाद झुकी थी। बता दें, पीसा इटली का एक छोटा-सा शहर है जहां विश्‍व प्रसिद्ध झुकी हुई मीनार है। पीसा की यह झुकी हुई मीनार सैकड़ों सालों से सैलानियों की उत्‍सकुता का केंद्र बनी हुई है।

कोलेजियम

कोलेजियम

रोम का कोलेजियम भी यहीं अपनी ऊंची और टूटी दीवारों के साथ स्वागत करता दिख जाएगा।

स्टेच्यू ऑफ लिबर्टी

स्टेच्यू ऑफ लिबर्टी

जब बात सात अजूबो की हो रही है तो स्टेच्यू ऑफ लिबर्टी की जिक्र न हो ये भला कैसे हो सकता है। यहां न्यूयॉर्क के किनारे का फैला समंदर भले ही न हो लेकिन किशोर सागर के किनारे बनी हाथ में मशाल लिए स्टेच्यू ऑफ
लिबर्टी अहसास दिलाती है कि शायद न्यूयॉर्क यहीं कहीं हैं।
PC: wikimedia.org

क्राइस्ट द रिडीमर

क्राइस्ट द रिडीमर

इतना ही आपको इस पार्क में ब्राजील स्थित क्राइस्ट द रिडीमर की हाथ फैलाए विशालकाय मूर्ति में दिखाई देगी जो ब्राजील की बड़ी पहाड़ी पर स्थापित है। हालांकि यहां पहाड़ जैसी ऊंचाई तो नहीं लेकिन क्राइस्ट द रिडीमर की विशालकाय प्रतिमा यहां आने वाले पर्यटकों को जरूर रोमांचित करेगी।

ताजमहल

ताजमहल

दुनिया के इन अजूबों में एक अजूबा हिंदुस्तान में भी है, जिसे काफी लोग करीब से भी देख चुके होंगे। जी हां, मोहब्बत की बेमिसाल निशानी ताजमहल. हिंदुस्तान के शहंशाह शाहजहां ने अपनी बेगम मुमताज महल के लिए आगरा' में इस खूबसूरत इमारत का निर्माण कराया था। कोटा में भी ऐसा ही एक ताजमहल देखने को मिल जाएगा।
PC: wikimedia.org

कैसे पहुंचे कोटा

कैसे पहुंचे कोटा

कोटा जयपुर के पास स्थित है...इसका सबसे नजदीकी एयरपोर्ट जयपुर इंटरनेशनल एयरपोर्ट है जोकि कोटा से 245 किमी की दूरी पर स्थित है। कोटा जंक्शन यहां का मुख्य रेलवे स्टेशन है..इस स्टेशन से यहां आने वाले पर्यटकों को मुख्य शहरों की ट्रेन से आसानी से उपलब्ध है। कोटा हाइवे यहां के मुख्य शहरो से जुड़ा हुआ है..आइये जानते है कोटा की मुख्य शहरों से दूरी

दिल्ली से कोटा-519 किलोमीटर
जयपुर से कोटा- 251किलोमीटर
उदयपुर से कोटा-283 किलोमीटर
आगरा से कोटा- 449 किलोमीटर
अहमदाबाद से कोटा-514 किलोमीटर
नॉएडा से कोटा - 527 किलोमीटर
मथुरा से कोटा- 433 किलोमीटर

PC: wikimedia.org

कोटा जाने का उचित समय

कोटा जाने का उचित समय

यूं तो पर्यटक कोटा पूरे वर्ष जा सकते हैं...लेकिन घूमने का अनुकूल समय अक्टूबर से मार्च तक है।

Please Wait while comments are loading...