» »ताजे ताजे सेब का लेना है स्वाद तो जरुर करें इन जगहों की सैर

ताजे ताजे सेब का लेना है स्वाद तो जरुर करें इन जगहों की सैर

Written By: Goldi

गर्मियों की छुट्टियों में मै जब भी गांव जाती थी तो, अपने आम के पेड़ से हमेशा आम तोड़कर खाती थी..यकीन मानिये जो मजा आम को खुद पेड़ से तोड़कर खाने में है..वो किसी में नहीं है। खैर मै आज यहां आम की नहीं बल्कि सेब की बात करने जा रहीं हूं।

मै लखनऊ में पली बढ़ी हूं...और वहां मैंने आम के कई बगानों को भी देखा है..जो अपने पीक मौसम में बेहद ही खूबसूरत लगते हैं। लेकिन मैंने कभी सेब के बगान नहीं देखे थे, जिसे देखने की मेरी काफी इच्छा थी। खैर एक दिन अचानक भगवान ने मेरी सुन ही ली..और मै पहुंच गयी हिमाचल

हिमाचल प्रदेश के अंजान, प्रकृति की गोद में बसे गाँव!

हिमाचल प्रदेश जोकि, हमेशा ठंडे तापमान के चलते सभी का लोकप्रिय हॉलिडे डेस्टिनेशन है, जहां आप बर्फबारी के अलावा सेब से लदे बगान भी देख सकते हैं....लेकिन बर्फबारी के दौरान आप वहां आम का मजा नहीं ले सकते..आम का मजा ले सकते हैं आप जून से लेकर सितम्बर तक।

भारत में रहकर इनके चक्कर में नहीं पड़े तो...आपने जीवन में कुछ नहीं किया

तो मैंने वहां जाकर सबसे पहले अपने काम निपटाए और बाद में जमकर पेड़ से तोड़कर ताजे ताजे सेब भी खाए..यकीनन इतना पढ़ने के बाद तो आपका भी मन सेब से लदे पेड़ो को देखने का कर रहा होगा...तो फ़िक्र नॉट बॉस क्यों कि आज मै आपको अपने लेख से अवगत कराने जा रहीं हूं उत्तर भारत के खूबसूरत सेब के बगानों से

किन्नौर

किन्नौर

किन्नौर हिमाचल प्रदेश राज्य में स्थित एक खूबसूरत जिला है और 'दी लैंड ऑफ़ फेयरी' के रूप में लोकप्रिय है। इस जगह की प्राकृतिक सुंदरता बर्फ से ढके पहाड़ों, सुंदर हरी घाटियों, परिपक्व बगीचों और रसीले अंगूर के बगीचों और सेब के बगानों के लिए जाना जाता है।

पेओरा

पेओरा

अगर आपको सेब के बगान देखने हैं तो बस पहुंच जाइए अल्मोड़ा स्थित पेओरा में, जहां आप देवदार और चीड के पेड़ो के साथ सेब के लदे हुए खूबसूरत बगानों का भी दीदार कर सकते हैं। यह हिल स्टेशन शहर की भागदौड़ से दूर आपको एक असीम शांति का एहसास कराता है...

नारकंडा

नारकंडा

नारकंडा में बर्फ से ढके शक्तिशाली हिमालय पर्वत श्रृंखला और इसकी तलहटी पर हरे जंगलों पर्यटकों का मन मोह लेते हैं।पूर्णिमा की चाँद की रौशनी में चारो और फैली सफेद बर्फ और गहरी घाटियां प्राकृतिक सौन्दर्य की अद्भुत संपदा से लबालब नारकंडा बहुत ही खूबसूरत नजर आता है। नारकंडा में आप सेब के बगानों का जमकर लुत्फ उठा सकते हैं....यहां आम तोड़ने का समय जुलाई से अगस्त तक होता है..इस दौरान आप भी वहां जाकर ताजे ताजे सेबों का मजा ले सकते हैं।

चौबटिया

चौबटिया

रानीखेत से 10 किमी दूर स्थित दक्षिण में स्थित चौबटिया में 600 एकड़ जमीन में फैले 200 से अधिक विदेशी किस्मों के फल और फूलों को देख सकते हैं। इन बगीचों में आप विभिन्न प्रकार के फल देख सकते हैं। कहा जाता है कि, यहां का सेब बेहद ही मीठा होता है...चौबटिया अपने शांत वातावरण और प्राकृतिक सुंदरता के कारण घूमने के लिए एक अच्छा आप्शन है, जहां आप भीड़भाड़ से दूर अपनी छुट्टियों को सेब के बगानों के बीच यादगार बना सकते हैं।

रामगढ़

रामगढ़

नैनीताल के पास स्थित रामगढ़ को "कुमाऊं के फलों का कटोरा" के नाम से जाना जाता है, यहां आप पीच, खुबानी, नाशपाती और सेब के बागों में जाकर बिल्कुल ताजा फलों को खा सकते हैं।

कश्मीरी सेब

कश्मीरी सेब

कश्मीर को भारत के फलों के कटोरे के रूप में जाना जाता है और इस क्षेत्र के सेब ने दुनिया भर के लोगों के बीच अपनी अनोखी और स्वादिष्ट स्वाद के लिए लोकप्रियता हासिल की है। भारत में, कश्मीर देश के कुल एप्पल उत्पादन का प्रमुख स्रोत है। कश्मीर के अलावा, हिमाचल प्रदेश और उत्तरांचल में ऐप्पल भी उगाया जाता है।

Please Wait while comments are loading...