» »अगर है ट्रैकिंग का शौक तो फ़ौरन जायें..हिमाचल प्रदेश

अगर है ट्रैकिंग का शौक तो फ़ौरन जायें..हिमाचल प्रदेश

Written By: Goldi

उत्तर भारत में स्थित हिमाचल प्रदेश की लुभावनी चोटियाँ हमेशा ही पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करती हैं। अपनी हर यात्रा में हर क्षेत्र में वे कोइ न कोई रोमांचकारी कार्य ढूंढ ही लेते हैं। और अगर आप रोमांच के शौक़ीन होने के साथ-साथ हिमाचल प्रदेश की यात्रा पर हैं तो फिर इससे अच्छी बात और क्या होगी।

उत्तराखंड की अनसुनी-अनदेखी जगहें..एक बारे जायें जरुर

ऊँचे-ऊँचे पहाड़ों, वादियों से घिरा प्रकृति का मनोरम दृश्य लोगों के मन में एक अलग एहसास जगाता है। जहाँ नज़र घुमाओ वहीं प्रकृति की खूबसूरती एक नए नज़रिये से देखने को मिलती है। इन्हीं खूबसूरती के बीच कितना मज़ेदार होगा एक ट्रेकिंग वाला सफर, है ना? जी हाँ आज हम यहाँ आपको ले जाने वाले हैं ऐसे ही एक खूबसूरत ट्रेकिंग पर जो आपकी हिमाचल की यात्रा में एक नए अनुभव और उत्साह को और रंगीन बनायेगी।

लेना है ट्रेकिंग का फुल ऑन मजा...तो चले आयें चन्द्रशिला ट्रेक

बीते कुछ सालों से हिमाचल ट्रैकिंग दीवानों की पहली पसंद बन चुका है।हर साल यहां लाखो की तादाद में ट्रेकर्स ट्रैकिंग करने के लिए पहुंचते हैं। इसी क्रम में हम आपको हिमाचल प्रदेश के कुछ ट्रैकिंग स्थानों के बारे में बताने जा रहे है,जहां हर शख़्स को उसकी ज़िदगी के दौरान ज़रूर जाना चाहिए...

त्रिउंड ग्लेशियर ट्रेक

त्रिउंड ग्लेशियर ट्रेक

त्रिउंड, हिमाचल प्रदेश का ऐसा ट्रेकिंग सफ़र है जो हर एक रोमांच पसंद करने वालों को अपनी ओर आकर्षित करता है। झरनों पहाड़ों के साथ होता हुआ यह ट्रेकिंग सफ़र आपको प्रकृति के हर रंग से रूबरू कराता है।कांगड़ा और चंबा के नजदीक ट्रैकिंग करने का अपना एक अलग अनुभव है।यहां चारो तरफ़ आपको हरियाली ही देखने को मिलेगी। त्रिउंड ग्लेशियर की खासियत ये है कि यहां बिना गाइड के भी आप ट्रैकिंग कर सकते हैं। PC: wikimedia.org

ह्म्ता पास ट्रेक

ह्म्ता पास ट्रेक

ह्म्ता ट्रेक कुल्लू मनाली के लाहुल के पास स्थित है। हम्ता ट्रेक हिमालय के बेस्ट ट्रेकिंग स्थलों में से एक है। ह्म्ता ट्रेक बर्फ से घिरे पहाड़ों के बीच स्थित है।ह्म्ता ट्रेकिंग के दौरान आप हिमाचल प्रदेश की खूबसूरत वादियों से रूबरू होंगे..यहां के मनमोहक दृश्य पर्यटकों को भा जाते है।ह्म्ता समुद्री स्तर से करीबन 14100 की ऊंचाई पर स्थित है। इस ट्रेकिंग की शुरुआत कुल्लू से होती है और लाहुल में खत्म।PC:Lyseria

देव टिब्बा बेस कैम्प ट्रेक

देव टिब्बा बेस कैम्प ट्रेक

देव टिब्बा, मनाली के दक्षिण पूर्व में स्थित 6001 मीटर की ऊंचाई पर, ट्रैकिंग बेस के रूप में पर्यटकों के बीच लोकप्रिय है। हालांकि देव टिब्बा की यात्रा के उपक्रम में, यात्री जगतसुख गांव, मनाली से 5 किमी दूर स्थित, से पहुँचते हैं। वहाँ से, यात्रियों को खनूल के लिये पैदल चलना पड़ेगा जोकि 2200 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। यहां ट्रैकिंग करने के दौरान आपको कई प्राकृतिक चीज़ों से रूबरू होंगे।

 चंद्रखणी दर्रा ट्रैक

चंद्रखणी दर्रा ट्रैक

चंद्रखणी दर्रा मलाणा और कुल्लू घाटी को झोड़ने वाली पार्वती घाटी में है। चंद्रखणी दर्रा से " देव टिब्बा " और पीर पंजाल पर्वत श्रृंखला के शानदार एवं मनमोहक नज़ारे देखे जा सकते है। इस ट्रेक की शुरुआत मनाली के नज़दीक नागर गांव से होती है, ट्रैकिंग के लिहाज़ से रास्ता थोड़ा मुश्किल है।
PC: Bharatkaistha

मैकलॉड गंज से चम्बा ट्रैक

मैकलॉड गंज से चम्बा ट्रैक

मैकलॉड गंज से चम्बा ट्रैक हिमाचल के सबसे लोकप्रिय ट्रैक्स में से एक है। इस ट्रेक पर आपको देवदार के लंबे-लंबे और खड़े पेड़ों को देख सकते हैं। इस जगह से आपको कैलाश पर्वत के भी दर्शन होते हैं जिसे हिन्दुओं के प्रमुख भगवान, भगवान शिव का घर माना जाता है ।

मलाना गांव ट्रेक

मलाना गांव ट्रेक

हिमाचल में मलाना गांव का ट्रक सबसे पॉपुलर ट्रेकिंग ज्वाइंट्स में से एक है। यह एक बेहद ख़ूबसूरत जगह है जिसकी वजह से इसे दिवास्वप्न का भी तमगा दिया जाता है। मलाणा गाँव दुनियां के सबसे पुराने लोकतंत्रों में शामिल है फिर भी ट्रैक्कर्स को ये गाँव किसी और वजह से पसंद आता है और वो है "मलाणा क्रीम "। यह भांग के पौधे से बनाई जाती है जिसमे तेल की मात्रा अधिक होती है।यह स्थान इतना ख़ूबसूरत है कि इसे पिक्चर पोस्टकार्ड परफेक्ट कहा जाता है।PC: ArjunChhibber01

खीर गंगा ट्रैक

खीर गंगा ट्रैक

खीरगंगा, हिमाचल प्रदेश के कुल्लू जिले में है। खीरगंगा की समुंद्र तल से उंचाई है 2804 मीटर यानि लगभग 9200 फीट। खीर गंगा ट्रेक को पूरा करना आसान काम नही है..इसलिए यह उचित योजना और सही से चलने पर निर्भर करता है । यहाँ पर मौजूद प्राकृतिक गरम पानी के चश्मे आपकी पूरी थकान मिटता देते है। अगर सच मे आप प्रकृति के नज़ारे महसूस करना चाहते है तो एक बार खीरगंगा ट्रेक जरुर करें।

ब्यास कुंड ट्रैक

ब्यास कुंड ट्रैक

ब्यास कुंड का नाम पुरातन काल के ऋषि ब्यास के नाम परस पड़ा है। ब्यास कुंड को ब्यास नदी का उद्गम स्त्रोत माना जाता है। ब्यास कुंड ट्रैक मनाली से शुरू होते हुए ,शानदार सोलंग नाला से होते हुए ब्यास कुंड नमक स्थान पर पहुँचता है। विहंगम दृश्य , पक्षियों के चहचहाट ट्रैकिंग को सुकूनदार बनाती है।PC: Gxyd

किन्नौर कैलाश सर्किट

किन्नौर कैलाश सर्किट

किन्नौर कैलाश ट्रेक एक बेहद ही रोमांचक ट्रेक है...इस ट्रेक पर आपको बर्फ़ीली रास्ते से होकर गुजरना पड़ेगा,साथ ही आप इस ट्रैकिंग के दौरान चहचहाते हुए पक्षियों की कई प्रजातियां भी देख सकते हैं।

Please Wait while comments are loading...