» »नागपुर के 'पैरानॉर्मल साइट्स', जहां जमती है शैतानी ताकतों की महफिल

नागपुर के 'पैरानॉर्मल साइट्स', जहां जमती है शैतानी ताकतों की महफिल

Written By: Nripendra

'संतरों का शहर' नागपुर अपने प्राकृतिक आश्चर्यों के लिए जाना जाता है। महाराष्ट्र का यह खूबसूरत शहर अपनी लोक-संस्कृति के लिए भी खूब प्रसिद्ध है। घूमने-फिरने के लिहाज से नागपुर एक शानदार गंतव्य है। पर शायद बहुत कम लोग इस बात से वाकिफ होंगे कि यह शहर रहस्यमय ताकतों का गढ़ भी है।

इस लेख में हमने नागपुर की कुछ चुनिंदा जगहों को शामिल किया है, जहां नेगेटिव एनर्जी होने के संकेत मिले हैं। यहां कुछ ऐसे जंगल व तालाब पाए गए हैं जहां शाम के बाद 'शैतानी ताकतों' का कब्जा हो जाता है। हमारे साथ जानिए नागपुर के 'हिडन पैरानॉर्मल साइट्स' के बारे में जहां की रहस्यमयी आबोहवा इंसान की धड़कने तक रोक देती है। 

अमरावती का हाईवे

अमरावती का हाईवे

PC- ringography

रात में अकसर गाड़ी चलाना थोड़ा मुश्किल भरा हो जाता है, इस दौरान नींद आने लगती है और अनजान चीजों का डर सताने लगता है। नागपुर स्थित अमरावती हाईवे कुछ ऐसा ही एसहास दिलाता है। यह हाईवे अपनी सुनसान व डरावने दृश्यों के लिए कुख्यात है। यहां रात में गुजरने वाली हर 10 में से एक कार अनजान साये का शिकार बनती है। जानकारों का मानना है कि यहां कोई सफेद डरावना साया रात में दिखाई देता है। जो लोग इस जगह के बारे में जानते हैं वो अपनी गाड़ियां तेज भगा देते हैं, जबकि अनजान मुसाफिर यहां के डरावने मंजर का शिकार बन जाते हैं। यहां की रहस्यमय गतिविधियों की वजह से यह हाईवे पैरानॉर्मल साइट के रूप में चिन्हित किया गया है।

पारसी ग्रेवयार्ड

पारसी ग्रेवयार्ड

PC- Pavlina Jane

नागपुर स्थित पारसी ग्रेवयार्ड को भूतों का घर कहा जाता है। कहा जाता है जिन लोगों ने यहां नेगेटिव अनुभव लेने की कोशिश की वे कई दिनों तक उठ नहीं पाए। अधिकांश लोग यहां की डरवानी आवाजों को सुन चुके हैं। जानकारों का मानना है कि यहां शैतानी आत्माओं का निवास है। बहुतों के लिए यहां की बातें मात्र कहानी है जबकि जो लोग यहां रूहानी ताकतों का सामना कर चुके हैं उनके लिए यह ग्रेवयार्ड किसी बुरे सपने से कम नहीं। इन बातों पर विश्वास न करने वाले कई लोग यहां डरावना अनुभव लेने के लिए भी आते हैं। यहां की अजीबों-गरीब आवाजों ने इस जगह को नागपुर के हॉन्टड प्लेस में शामिल कर दिया है, जहां शाम के बाद कोई गलती से भी नहीं भटकता ।

नागपुर का देव नगर

नागपुर का देव नगर

PC- carlo1138

नागपुर का देवनगर आज खूबसूरत भवनों व इमारतों से सजा हुआ है। पर शायद बहुत कम ही लोग यह जानते हैं कि आज से 20-25 साल पहले यहां मुर्दों को फूंका जाता था। कहा जाता है कि यहां की हंसती-खेलती जिंदगी पर भटकती आत्माओं का साया है। कई बार यहां के लोगों ने अजीबो-गरीब अनुभवों को महसूस किया है। जानकारों के मुताबिक जब यहां भवनों का निर्माण चल रहा था उस वक्त एक आदमी की रहस्यमय मौत हो गई थी। पर कुछ लोग ऐसे भी हैं जो इन बातों पर विश्वास नहीं करते। उन्हें यहां का अनुभव जरूर लेना चाहिए।

वर्धा रेल ट्रैक

वर्धा रेल ट्रैक

वर्धा रेल ट्रैक नागपुर के उन स्थानों में शामिल है, जहां भटकती आत्माओं के होने के सबूत मिले हैं। कहा जाता है कि इस रेल ट्रैक पर कभी किसी जवान लड़की का बलात्कार कर उसे मार दिया गया था। जिसके बाद से इस रेलवे ट्रैक पर उस लड़की की आत्मा भटकती है। कई मुसाफिरों ने यहां रोंगटे खड़े कर देने वाली आवाजें सुनी हैं। जिसे सुनकर कोई एक सेकंड भी यहां नहीं रूकता । रोने और चीखने-चिल्लाने वाली आवाजों ने इस ट्रैक को काफी डरावना बना दिया है।

जानवरों की आत्माओं वाला जंगल

जानवरों की आत्माओं वाला जंगल

इंसानों की रहस्यमय मौत उन्हें भूत-प्रेत या भटकती आत्मा बना देती है। पर जरा सोचों क्या जानवर भी मरने के बाद भूत-प्रेत का रूप धारण कर लते हैं ? क्योंकि इंसानों की तरह ही जानवर भी जीव हैं, उनके अंदर भी आत्मा जैसा कुछ तो होगा। कहा जाता है कि नागपुर स्थित 'बंदर जंगल' पर जानवरों की आत्माओं का वास है। बहुत से लोगों ने यहां अजीबो-गरीब चीजों का घटते देखा है। कुछ चीजें ऐसी भी दिखीं हैं, जो भूत-प्रेत होने का प्रमाण देती हैं। यहां के विचित्र आकार के पेड़े इस जंगल को काफी डरावना बनाने का काम करते हैं।

रहस्यमय रामटेक

रहस्यमय रामटेक

काला जादू अकसर हमने किस्से कहानियों या फिर फिल्मों में होते देखा है। पर क्या सच में इसका कोई वजूद है ? अगर आप इस संदेह को दूर करना चाहते हैं तो एक बार नागपुर स्थित रामटेक जरूर आएं। कहा जाता है यहां के पेड़ इंसानों को अपने वश में करते हैं। यह पूरी जगह काला जादू का गढ़ बताई जाती है। जानकारों का मानना है कि यहां रात में शैतानी ताकतों का तांडव शुरू हो जाता है। जो यहां से गुजरने वाले इंसानों को अपने वश में कर लेती हैं। यह स्थान इतना खतरनाक बन चुका है जिसके बारे में आपको नागपुर के स्थानीय निवासी अच्छी तरह बता सकते हैं।

शुक्रवार तालाब

शुक्रवार तालाब

नागपुर स्थित शुक्रवार तालाब आत्महत्या करने वाले तालाब के नाम से कुख्यात है। यहां हर साल 100 से ज्यादा लोग आत्महत्या कर अपनी जान दे देते हैं। इस तालाब के बारे में कहा जाता है कि यहां कोई चुंबकीय शक्ति हैं जो यहां आने वाले लोगों को आत्महत्या के लिए उकसाती है। इस तालाब में काला जादू व शैतानी ताकतों के होने की बात कही जाती है। कई लोगों यहां अपनी जिज्ञासा शांत करने के चक्कर में मौत को गले लगा लेते हैं। इन रहस्यमय घटनाओं के चलते इसे नागपुर के सबसे खतरनाक जगहों में शामिल किया गया है।