• Follow NativePlanet
Share
» »OMG : जितना चाहें दबाकर खाएं और जितनी मर्जी उतना चुकाएं !

OMG : जितना चाहें दबाकर खाएं और जितनी मर्जी उतना चुकाएं !

घर के भोजन से बोर होकर अमूमन लोग बाहर जाकर किसी होटल या रेस्तरां में खाना पसंद करते हैं। लेकिन वहां जाते ही लंबे-चौड़े मेन्यू के साथ दिमागी कसरत करनी पड़ जाती है। जिसका सबसे बड़ा कारण है भोजन के अलग-अलग 'रेट्स'।  इस समस्या के कारण लोग भोजन का आनंद लेने से ज्यादा जेब को बार-बार टटोलने पर मजबूर हो जाते हैं। रेस्तरां के हाई रेट्स अकसर लोगों को अच्छी आर्थिक चपत लगा देते हैं। 

 रेस्तरां में गया आम आदमी कम बजट के अनुसार भोजन चुनने पर विवश हो जाता है, चाहे वो भोजन उसे अच्छा लगे यहा न लगे। लेकिन आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि भारत में एक ऐसा रेस्तरां खुला है जहां बिना बिल की चिंता किए आप दबाकर खा सकते हैं और पैसों का भुगतान अपनी मर्जी से कर सकते हैं। जी हां..आइए जानते हैं इस खास और अनोखे रेस्तरां के बारे में। 

केरल में खुला अनोखा रेस्तरां

केरल में खुला अनोखा रेस्तरां

जानकारी के अनुसार(केरल के फाइनेंस मिनिस्टर थॉमस की फेसबुक पोस्ट) दक्षिण भारत के केरल राज्य के अलाप्पुझा में अनोखा रेस्तरां खुला है, जहां आप बिना बिल की चिंता किए पेट भरकर खा सकते हैं। इस रेस्तरां की खास बात यह है कि आपको यहां भोजन के बिल भुगतान की आजादी मिल जाती है। जानकारी के अनुसार यहां कोई कैशियर नहीं है। रोमांच : गर्मी में बोर होने से अच्छा है बनाएं इन जगहों का प्लान

रेस्तरां का उद्देश्य

रेस्तरां का उद्देश्य

इस रेस्तरां को शुरू करने के पीछे कारण बड़ा क्रांतिकारी है। यह एक जनता भोजनालय है जहां कोई भी आकर भोजन ग्रहण कर सकता है। साथ ही ग्राहक अपनी मर्जी से बिल का जितना चाहे भुगतान कर सकता है। रेस्तरां के काउंटर पर एक बॉक्स रखा हुआ है जहां आप अपनी मर्जी से पैसा डाल सकते हैं।चैत्र नवरात्रि के दौरान यहां करें मां दुर्गा के दर्शन, होगी हर मुराद पूरी

ग्राहकों की तादाद

ग्राहकों की तादाद

इस रेस्तरां में रोजाना ग्राहकों की संख्या बढ़ने पर है, जानकारी के अनुसार यहां लगभग 2000 लोगों का भोजन तैयार किया जाता है। भोजन की लागत 11.25 लाख आंकी गई है। इसके अलावा यहां 6 लाख की लागत से वेस्ट मैनेजमेंट और वाटर ट्रीटमेंट प्लांट भी लगाया गया है। इन प्लांट्स को लगाने के लिए केरल सरकार ने आईआरसीटीसी की मदद ली है।भारत का ऐतिहासिक शहर, जहां इत्र की खुशबू से महकती हैं गलियां


एक सकारात्मक कदम

एक सकारात्मक कदम

केरल सरकार की यह पहल काफी सकारात्मक बताई जा रही है, जिससे यहां आकर इंसान तीन वक्त का खाना बिना पैसे के खा सकता है। अगर उसका मन है बिल चुकाने का तो अपनी मर्जी से भुगतान कर सकता है। सामाजिक सेवा के रूप में यह एक बड़ा कदम है।रहस्य : लखनऊ की इन जगहों को माना गया है सबसे प्रेतवाधित

जैविक कृषि की व्यवस्था

जैविक कृषि की व्यवस्था

जानकारी के अनुसार रेस्तरां के पास 2.5 एकड़ की जमीन पर एक आर्गेनिक फार्म लगाया गया है, जहां उगाई गई सब्जियों को रेस्तरां में इस्तेमाल किया जाएगा। जिससे ग्राहकों को पौष्टिक भोजन मिल सके। इसके अलावा कोई भी व्यक्ति इस फार्म से उत्पाद खरीद सकता है, जिससे की रेस्तरां का आर्थिक भार को कम किया जा सकेगा।कश्मीर जाकर आनंद उठाएं इस खास फूलों के मेले का

कैसे करें प्रवेश

कैसे करें प्रवेश

अगर आप केरल घूमने के लिए आते हैं तो इस रेस्तरां के लजीज व्यंजन और सेवा का आनंद जरूर उठाएं। यह रेस्तरां राज्य के अलाप्पुझा जिले के चेरथला राष्ट्रीय राजमार्ग पर खोला गया है। यहां का नजदीकी हवाई अड्डा कोचिन इंटरनेशनल एयरपोर्ट है। रेल मार्ग के लिए आप अलाप्पुझा रेलवे स्टेशन का सहारा ले सकते हैं।रहस्य : लखनऊ की इन जगहों को माना गया है सबसे प्रेतवाधित

यात्रा पर पाएं भारी छूट, ट्रैवल स्टोरी के साथ तुरंत पाएं जरूरी टिप्स