Search
  • Follow NativePlanet
Share
» »भारत की 5 खास जगहें जहाँ आपको इस अक्टूबर, त्यौहार की छुट्टियों में मिलेगा एक अलग सुखद एहसास का अनुभव

भारत की 5 खास जगहें जहाँ आपको इस अक्टूबर, त्यौहार की छुट्टियों में मिलेगा एक अलग सुखद एहसास का अनुभव

महीने भर के काम और थकावट के बाद ऐसे महीने की शुरुआत हुई जिसमें आपको सबसे ज़्यादा त्यौहारों की छुट्टी मिलेगी। अक्टूबर का महीना ढेर सारे त्यौहारों के साथ आपका लिए लाता है छुट्टियों की भरमार, जिनमें आप अपनी मनपसंद जगह जा अपने काम से छुटकारा पा अपनों के साथ सुख के पल चैन से बिता सकते हैं।

[नैनीताल का एक खूबसूरत सफ़र!]

इस खास महीने में पूरे भारत में हर जगह कई त्यौहार भी मनाये जा रहे हैं। इन्हीं त्योहारों की छुट्टी के साथ ये एक ऐसा महीना है जब आप छुट्टियों का मज़ा सस्ते में ले सकते हैं। क्यूंकि छुट्टियों का पीक मौसम शुरू होने वाला है जब हर जगह के यात्रा की कीमतें भी बढ़ने लगेंगी। तो ऐसे में अक्टूबर का महीना ऐसा महीना है जिसमें आप बिना किसी चिंता अपने छुट्टियों का भरपूर मज़ा ले सकते हैं।

[शिलांग के अद्भुत झीलों के नज़ारे]

तो अब भी आप सोचिये मत बस तैयार हो जाइये और हमारे इस लेख में यहीं बैठे-बैठे इन खास जगहों के बारे में जानिए जहाँ की कुछ खास विशेषताएं आपकी छुट्टी को और भी यादगार और मज़ेदार बना देंगी। यहाँ हम आपके लिए कुछ खास जगहों की ऐसी खास क्रियाओं की लिस्ट लेकर आए हैं जो आपके छुट्टी को एक सुख भरे अनुभव में बदल देंगी।

नैनीताल

नैनीताल

भारत में 'ताल का जिला कहलाने' वाला शहर नैनीताल भारत के सबसे खूबसूरत हिल स्टेशनों में से एक है। नैनी झील के चारों ओर बसे हुए इस शहर का दृश्य दिल को सुकून देने वाला और मंत्रमुग्ध कर देने वाला है। दोस्तों, परिवार आदि सबके लिए एक ऐसी आदर्श जगह जहाँ के प्राकृतिक दृश्य लोगों के मन में उत्साह भर देते हैं। अक्टूबर का महीना इस जगह की यात्रा के लिए सबसे सही समय है क्यूंकि इसके बाद के महीनों में यहाँ कड़ाके की ठण्ड शुरू हो जाएगी। तो सोचिये मत और निकल पड़िये।

Image Courtesy: Extra999

नैनी झील में नाव की सवारी

नैनी झील में नाव की सवारी

नैनीताल का मुख्य आकर्षण है, यहाँ की नैनी झील। यह शहर का हृदय भी है, जो चारों तरफ से ऊँचे-ऊँचे पहाड़ियों और बाज़ारों से घिरा हुआ है। नैनीताल में आकर अगर आपने नैनी झील में नौका की सवारी नहीं की तो आपकी नैनीताल की यात्रा अधूरी ही रह जाएगी।

सूर्यास्त के समय झील का नज़ारा सबसे मनोरम होता है। नौका की सवारी कर आप झील में पहाड़ियों के प्रतिबिम्ब देखने का खूबसूरत आनंद उठा सकते हैं। रात के समय जब चारों ओर बल्बों की रोशनी होती है तब तो इसकी सुंदरता और भी बढ़ जाती है।

Image Courtesy: Abhishek gaur70

कैंची धाम की यात्रा

कैंची धाम की यात्रा

नैनताल से सिर्फ 20 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है एक प्राचीन आश्रम जिसे 60 के दशक के साधु नीम करोली बाबा द्वारा बनवाया गया था। जब से एप्पल के संस्थापक स्टीव जॉब्स और फेसबुक के संस्थापक मार्क ज़ुकरबर्ग ने इस आश्रम की यात्रा शुरू की है तब से यह पर्यटकों के बीच भी आकर्षण का प्रमुख केंद्र बन गया है। यहाँ आयोजित होने वाले ध्यान और आध्यात्मिक शिविरों में हिस्सा लेने के लिए दुनिया के कोने कोने से श्रद्धालु आते हैं।

Image Courtesy: Nickk Bisht

स्नो पॉइंट व्यू तक के लिए केबल कार की सैर

स्नो पॉइंट व्यू तक के लिए केबल कार की सैर

नैनीताल की खूबसूरती को पूरी तरह से अनुभव करने के लिए यहाँ के केबल कार की सैर करना न भूलें जो आपको स्नो पॉइंट व्यू तक ले जायेगा। आप यहाँ टिकट लेकर, केबल कार की मदद से ऊपर जाकर, कुछ खूबसूरत पल बिताकर दोबारा से नीचे आने पर केबल कार का भरपूर मज़ा ले सकते हैं। यहाँ पहुँच कर आपको शहर के अद्भुत नज़ारे का अनुभव होगा जो आपने कभी भी अनुभव नहीं किया होगा।

Image Courtesy: Teesta31

अहमदाबाद

अहमदाबाद

गुजरात राज्य का सबसे बड़ा शहर अहमदाबाद, साबरमती नदी के किनारे स्थित है। किसी ज़माने में यह गुजरात की राजधानी हुआ करता था जो अब गांधीनगर है। अहमदाबाद को कर्णावती के नाम से भी जाना जाता है। अक्टूबर के महीने में वो भी इस साल जब नवरात्री का शुभ अवसर अक्टूबर महीने में है अगर आप इस शहर की यात्रा करते हैं तो यह यात्रा आपको नवरात्र त्यौहार के अलग मज़े दिलाएगा।

पूरे शहर में डांडिया और गरबा के सांस्कृतिक कार्यक्रम रात भर चलते रहते हैं, जिसमें लोग अपने पारंपरिक परिधान में तैयार हो पूरे जोश के साथ शामिल होते हैं। अगर आपको शहर के सांस्कृतिक अनुभव के मज़े लेने हैं तो यही समय, नवरात्र का समय सबसे सही समय है इसकी संस्कृति में पूरी तरह घुल जाने का।

Image Courtesy: Tarkik Patel

डांडिया और गरबा नृत्य

डांडिया और गरबा नृत्य

गुजरात के सबसे लोकप्रिय समूह नृत्य गरबा जिसमें सभी एक दूसरे के साथ एक गोले में हाथों को लहरा लहरा कर नृत्य करते हैं और डांडिया जिसे लकड़ी की सजी हुई छड़ी से खेला जाता है, में हिस्सा ले इस पावन अवसर को यादगार बनाइए। जहाँ कहीं भी आप अहमदाबाद में ठहरें वहीं पास ही किसी कार्यक्रम के पास खरीद एक शाम इस कार्यक्रम का हिस्सा बनना मत भूलियेगा।

Image Courtesy: Hardik jadeja

साबरमती आश्रम की सैर

साबरमती आश्रम की सैर

साबरमती नदी के किनारे स्थित यह आश्रम राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी का निवास स्थल हुआ करता था जहाँ वे अपने विचारों और अहिंसा के रास्ते पर चल अपना कार्य किया करते थे। महात्मा गाँधी ने यहाँ 12 साल तक निवास किया और यहीं से दांडी मार्च की शुरआत की। आज यह एक राष्ट्रीय स्मारक है, जिसे महात्मा गाँधी जी के संग्रहालय के रूप में बदल दिया गया है। यहाँ जा आपको महात्मा गाँधी से जुड़ी अन्य बातों और ज्ञान का पता चलेगा।

Image Courtesy: Hardik jadeja

मानेक चौक पर स्वादिष्ट स्ट्रीट फ़ूड का आनंद

मानेक चौक पर स्वादिष्ट स्ट्रीट फ़ूड का आनंद

गुजरात में अहमदाबाद स्ट्रीट फ़ूड के लिए सबसे लोकप्रिय शहर है। खासकर कि यहाँ का मानेक चौक जहाँ रात में विद्युत की रंगीन रोशनी में पूरा बाज़ार एक स्ट्रीट फ़ूड ज़ोन में तब्दील हो जाता है। यह देश के उन फ़ूड स्ट्रीट ज़ोन में से एक है जिन्हें पूरी रात खुले रहने की अनुमति है। चाट कुल्फ़ी से लेकर कबाब सारे लज़ीज़ स्ट्रीट फ़ूड के मज़े यहाँ आप आराम से बैठ कर ले सकते हैं।

Image Courtesy: Jaimil joshi

शिलांग

शिलांग

भारत के उत्तर पूर्वी राज्य मेघालय की राजधानी शिलांग, प्राकृतिक खूबसूरती से सराबोर है। इस शहर की खूबसूरत परिदृश्य और यहाँ की संस्कृति की खूबसूरती आपको मंत्रमुग्ध कर देंगे। मानसून के दौरान जब यहां बारिश होती है, तो पूरे शहर की खूबसूरती और निखर जाती है और शिलांग के चारों तरफ के झरने जीवंत हो उठते है। इसे 'पूर्व का स्कॉटलैंड भी कहते हैं'।

Image Courtesy: ChanduBandi

शिलांग पीक पर जाएँ

शिलांग पीक पर जाएँ

शहर के विहंगम दृश्य के दर्शन के लिए शिलांग पीक पर जाना न भूलें, जिसके लिए आपको 6449 मीटर की ऊंचाई पर पहुंचना होगा। भारतीय वायु सेना का रडार स्टेशन होने की वजह से आपको यहाँ पहुँचने के लिए सबसे पहले अपना पहचान पत्र दिखाना होगा।

यहाँ से पूरे शहर का नज़ारा एक अलौकिक रूप प्रदान करता है और अगर आप इस नज़ारे का और करीब से अनुभव करना चाहते हैं, तो अपने साथ टेलिस्कोप ज़रूर ले जाएँ। ऊपर ही सैलानियों के लिए कई छोटे-छोटे दुकान चाय-नाश्ते के लिए उपलब्ध हैं।

Image Courtesy: Sindhuja0505

उमियाम झील की सैर

उमियाम झील की सैर

उमियाम झील मेघालय राज्य के उमियाम हाइड्रो इलेक्ट्रिक प्रोजेक्ट की वजह से बनी है जो शिलांग से लगभग 15 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। उमियाम झील को बड़ापानी झील भी कहा जाता है। लगभग 10 वर्ग किलोमीटर में फैली यह कृत्रिम झील दक्षिण खासी पर्वतों से आने वाली उमियाम नदी के जल को रोककर निर्मित की गई है, जिसके एक छोर पर बिजली घर है जो नगर को बिजली की आपूर्ति करता है। यहाँ पर आप कई वाटर स्पोर्टस जैसे रोइंग बोट, पैडल बोट, पानी का स्कूटर, स्पीड बोट आदि जैसे खेलों के मज़े ले सकते हैं।

Image Courtesy: Vikramjit Kakati

एशिया के सबसे स्वच्छ गाँव की सैर

एशिया के सबसे स्वच्छ गाँव की सैर

शिलांग से कुछ ही किलोमीटर दूर स्थित, मौलिन्नोंग गाँव को सिर्फ भारत ही नहीं पूरे एशिया का सबसे स्वच्छ गाँव होने की उपाधि प्राप्त है। मौलिन्नोंग नाम के इस गांव में करीब 500 लोग रहते हैं। यहां 4 साल की उम्र से ही बच्चों को सफाई के लिए जागरुक किया जाता है। इस गांव को डिस्कवरी इंडिया मैगजीन ने 2003 में एशिया का सबसे क्लीन विलेज कहा था। आप यहाँ हर रस्ते में थोड़ी-थोड़ी दूर पर ही बांस से बनी टोकरियाँ कचरे डालने के लिए देखेंगे। पूरे गाँव की सफाई गाँव के लोग रोज़ाना करते हैं।

Image Courtesy: Sai Avinash

अलापुज़्ज़ाह

अलापुज़्ज़ाह

अल्लेप्पी के नाम से भी जाना जाने वाला दक्षिण भारत का प्रकृति से घिरा हुआ क्षेत्र भारत के सबसे खूबसूरत जगहों में से एक है जहाँ आप अपनी छुट्टियों के भरपूर मज़े ले सकते हैं। केरल राज्य का यह क्षेत्र अपने जल अप्रवाहों के लिए प्रसिद्द 'पूर्व का वेनिस' कहलाता है। अक्टूबर इस जगह की यात्रा का सबसे सही समय है क्यूंकि नवम्बर के महीने से यहाँ पर्यटकों की भीड़ ज़्यादा बढ़ जाएगी।

Image Courtesy: Saad Faruque

कृष्णापुरम महल संग्रहालय की सैर

कृष्णापुरम महल संग्रहालय की सैर

अपने एक खास वास्तुशैली के लिए प्रसिद्द कृष्णापुरम महल संग्रहालय में केरल का सबसे बड़ा भित्ति चित्र भी प्रदर्शित है। आप यहाँ आ इसकी कलाकृति की प्रशंसा करते नहीं थकेंगे और यहाँ रहने वाले राजसी परिवार के बारे में आपको पूरी जानकारी यहाँ से मिलेगी।

Image Courtesy: Appusviews

हाउसबोट में रहें

हाउसबोट में रहें

अल्लेपी मुख्यतः अपने हाउसबोट के लिए प्रसिद्द है, जहाँ आप एक पूरी रात बिता नाव की सवारी के मज़े ले सकते हैं।

Image Courtesy: Anjali Mathew

केरल के पारंपरिक स्वादिष्ट व्यंजनों का स्वाद

केरल के पारंपरिक स्वादिष्ट व्यंजनों का स्वाद

केरल की अर्थव्यवस्था में वहां के लज़ीज़ व्यंजनों की एक अलग और मुख्य भूमिका है। अगर आप सी फ़ूड और चावल से बने व्यंजनों के दीवाने हैं, तो यही वह जगह है जहाँ आप इनसे बने हर व्यंजन का भरपूर मज़ा उठा पाएंगे।

Image Courtesy: Drsoumyadeepb

लक्षद्वीप

लक्षद्वीप

दुनिया के सारे बंधनों से दूर लक्षद्वीप में छुट्टियां बिताने का मज़ा तो कुछ अलग ही और सबसे खास होगा। यहाँ यात्रा का मौसम शुरू ही होता है अक्टूबर के महीने से जो अप्रैल महीने तक चलता रहता है। लक्षद्वीप द्वीप-समूह में कुल 36 द्वीप है परन्तु केवल 7 द्वीपों पर जनजीवन है। देशी पयर्टकों को 6 द्वीपों पर जाने की अनुमति है जबकि विदेशी पयर्टकों को केवल 2 द्वीपों (अगाती व बंगाराम) पर जाने की अनुमति है।

लक्षद्वीप की यात्रा के लिए पहले आपको अनुमति की ज़रूरत पड़ती है, जिसके लिए आप ऑनलाइन भी अप्लाई कर सकते हैं। लक्षद्वीप मुख्यतः पानी की क्रियाओं के लिए पर्यटकों के बीच सबसे ज़्यादा लोकप्रिय है।

Image Courtesy: Sankara Subramanian

यॉट सेलिंग

यॉट सेलिंग

अगर आप गहरे नील समुद्र में ठंडी-ठंडी हवाओं के मज़े लेना चाहते हैं, तो लक्षद्वीप में यॉट सेलिंग की यात्रा करना न भूलें। यॉट की सवारी कर आप लक्षद्वीप की राजधानी कावारत्ती की यात्रा करेंगे। यॉट सेलिंग पूरी तरह से हवा के ऊपर निर्भर होती है, अगर हवा अनुकूल रहेगी तो आप इस सवारी के मज़े ले सकते हैं।

Image Courtesy: Sankara Subramanian

मछली पकड़ना

मछली पकड़ना

लक्षद्वीप लैगून फिशिंग के लिए सबसे ज़्यादा प्रसिद्द है, जहाँ आप मछली पकड़ने में अपना हाथ आज़मा सकते हैं। कई आयोजकों द्वारा यहाँ रात में भी मछली पकड़ने का काम चलता है, जहाँ मछली पकड़ने की रॉड में एक फ़्लैश लाइट जुड़ी होती है।

Image Courtesy: Thejas

पानी की क्रियाएं

पानी की क्रियाएं

पानी की क्रियाएं और खेलों का मज़ा लेने के लिए लक्षद्वीप से अच्छी जगह और कोई नहीं होगी।आपको यहाँ कायाकिंग, कैनोइंग और स्कूबा डाइविंग के मज़े भरपूर मिलेंगे। इन सारी क्रियाओं की बदौलत आप समुद्र के अंदर के भी खूबसूरत जीवन से रूबरू होंगे।

Image Courtesy: Thejas

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Nativeplanet sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Nativeplanet website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more