• Follow NativePlanet
Share
» »जाने एक ट्रैवलर के लिए क्या खास है झारखंड में

जाने एक ट्रैवलर के लिए क्या खास है झारखंड में

Posted By:

कोयला खानों और इस्पात संयंत्रों से सम्पन्न झारखंड भारत के सबसे संसाधन संपन्न राज्यों में से एक है। आज भी यह राज्य मुख्यत: जंगल से घिरा हुआ है, इस खूबसूरत परिवेश को घूमते हुए पर्यटक यहां के घने जंगलों के बीच आप प्रकृति की गोद में रहने का सुख पाने के साथ साथ भारत की औद्योगिक व्यवस्था के बारे में भी जान सकते हैं। तो क्यों ना इस छुट्टियों झारखंड की समृद्ध संस्कृति और इतिहास के बारे में पता लगाया जाए, साथ ही जाने कि, इस खूबसूरत राज्य में एक पर्यटक क्या क्या देख सकता है?

देवघर

देवघर

झारखंड के लोकप्रिय पर्यटन स्थलों में से एक देवघर बैद्यनाथ मंदिर के लिए प्रसिद्ध है,देवघर के मुख्य मंदिर परिसर में 22 मंदिर हैं तथा यहा भारत के सबसे महत्वपूर्ण बारह ज्योतिरलिंगों में सम्मिलित है। हजारों श्रद्धालु श्रावण के महीने में भगवान शिव की पूजा करने के लिए बाबा बैद्यनाथ के इस प्राचीन मंदिर की यात्रा करते हैं।

देवघर जंगलों से घिरा हुआ व एक लहरदार परिदृश्य पर स्थित है। यहां छोटी- छोटी पहाड़ियां भी हैं। वैद्यनाथ मंदिर के अलावा पर्यटक देवघर में रामकृष्ण मिशन विद्यापीठ, त्रिकुट, सत्संग आश्रम, नवलखा मंदिर, श्रावणी मेला, शिवगंगा, देवसंघ मठ आदि देख सकते हैं।Pc:Ravishekharojha

नेतरहाट

नेतरहाट

झारखंड के छोटा नागपुर की रानी कहे जाने वाला हिल्स स्टेशन नेतरहाट में प्रकृति के नज़ारे दूर दूर तक आप देख सकते हैं।नेतरहाट हिल्स, कोयल व्यू पॉइंट, सदनी फॉल्स, घाघरि फॉल्स और मॅग्नओलिया सनसेट पॉइंट जगहों में आपको प्रकृति के अद्भुत नज़ारे देखने को मिलेंगे।Pc:Ujjawalagrawal2

हजारीबाग़

हजारीबाग़

रांची से 93 किमी. की दूरी पर स्थित हजारीबाग़ झारखंड के छोटा नागपुर पठार का एक भाग है, जोकि अपने वन्यजीव अभयारण्य के लिए प्रसिद्ध है। यह उद्यान विभिन्न वनस्पतियों और जीव जंतुओं से समृद्ध है। यह उद्यान कई जानवरों जैसे हाथी, बाघ, जंगली भालू, तेंदुआ, हिरन और अन्य कई प्रजातियों का घर है।

हजारीबाग की यात्रा का मुख्य कारण यह है कि यह अद्भुत जगह मंदिरों से लेकर छोटे पहाड़ियों तक तलाशने में बहुत अधिक है। हजारीबाग में जाने के लिए कुछ प्रमुख स्थान हजारीबाग झील, हजारीबाग वन्यजीव अभयारण्य, कोनार बांध और भद्रकाली मंदिर शामिल हैं।
Pc:Naman Anand

जमशेदपुर

जमशेदपुर

टाटानगर के नाम से विखाय्त जमशेदपुर भारत का पहला औद्योगिक शहर है, लेकिन आज भी इस घनी आबादी वाले शहर में प्राकृतिक सुंदरता को नजरअंदाज नहीं किआ जा सकता है। झीलों और उद्यानों से लेकर पहाड़ियों से समर्द्ध यह खूबसूरत शहर दलमा पहाड़ियों से घिरा हुआ छोटे नागपुर पठार पर स्थित है।Pc:Soham Banerjee

गिरिडीह

गिरिडीह

गिरिडीह का शाब्दिक अर्थ "पहाड़ियों की भूमि" है, जोकि झारखंड के सबसे प्रसिद्ध स्थानों में से एक है। कोयले और अन्य खनिजों में समृद्ध, गिरिडीह की भूमि भी कई जैन तीर्थ स्थलों का घर है, जिसके कारण इसे अक्सर जैन मंदिरों की भूमि के रूप में जाना जाता है।

गिरिडीह में स्थित शिखरजी मंदिर, परसनाथ हिल्स पर स्थित है, जोकि दुनिया में जैन के लिए प्रमुख तीर्थस्थलों में से एक है। मंदिरों के अलावा, पर्यटक यहां उसरी फॉल्स, खंडोली पार्क, मधुबन आदि भी देख सकते हैं।Pc:Bodhisattwa

रांची

रांची

भारतीय क्रिकेटर महेंद्र सिंह धोनी के होमटाउन के नाम से प्रसिद्ध रांची को झरनों और झीलों का शहर भी कहा जाता है। दसम फॉल रांची से 34 किमी दूर रांची-टाटा मार्ग पर तैमारा गांव के पास है। यहां पर स्वर्णरेखा नदी की एक सहायक नदी कांची 144 फीट की ऊंचाई से गिरती है। यहाँ का सूर्य मंदिर अपने में अलग ही खूबसूरती लिए इस शहर की शोभा बढ़ा रहा है।Pc:Akash Guruji

यात्रा पर पाएं भारी छूट, ट्रैवल स्टोरी के साथ तुरंत पाएं जरूरी टिप्स