• Follow NativePlanet
Share
» »समर्द्ध राजस्थान का एक ऐसा गांव, जिसके हुनर का है देश विदेश में बोलबाला

समर्द्ध राजस्थान का एक ऐसा गांव, जिसके हुनर का है देश विदेश में बोलबाला

Written By: Goldi

पश्चिमी भारत में स्थित राजस्थान एक बेहद ही खूबसूरत समर्द्ध राज्य है, जिसे देखने और जानने दुनिया भर से लोग यहां पहुंचते हैं । इस राज्य का इतिहास बेहद गौरव शाली रहा है, जिसके चलते आज इस राज्य के खूबसूरत शहरों में आज भी इतिहास को देखा जा सकता है ।

राजस्थान में कई खूबसूरत जगहें हैं, जो दुनिया भर से पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करती हैं, जैसे जयपुर,जोधपुर ,उदयपुर , माउंट आबू , बूंदी आदि । लेकिन कभी-कभी इन समर्द्ध शहरों को घूमने के चक्कर में हम कभी कुछ खास जगहों को दरकिनार कर देते हैं।

राजस्थान का राजसी ठाट-बाठ तो बहुत देख लिया..अब घूमे राजस्थान के नेशनल पार्क

कारण साफ़ है कि, या तो हमे उन जगहों की जानकरी नहीं होती, या फिर छोटी जगह होने के कारण हम उन्हें ऐसे ही छोड़ देते हैं। कई लोग होते हैं, जो हमेशा से ही कुछ नया करना या फिर देखना पसंद करते हैं।  अगर आप भी राजस्थान की संस्कृती को एकदम करीब से जानना और समझना चाहते हैं, यहां ट्राइबल क्षेत्रों को घूमें।

मिट्टी के बर्तनों का खास गांव

मिट्टी के बर्तनों का खास गांव

अगर आप बूंदी को कई बार घूम चुके हैं, और कुछ नया घूमने की चाह है, हमारी सलाह है कि एक बार ठिकार्दा जरुर घूमे। बूंदी से आठ किमी की दूरी पर स्थित यह गांव मिट्टी के बर्तनों और मिट्टी की सजावट के सामान बनाने के लिए जाना जाता है।

गांव घूमे

गांव घूमे

हम आपको इस गांव को घूमने की सलाह इसलिए दे रहे हैं, क्यों कि इस गांव को घूमते हुए आप यहां के कल्चर को देख पाएंगे । साथ ही अगर आपने आज तक कभी मिट्टी के बर्तनों को बनते हुए नहीं देखा तो वह भी देख सकते हैं ।

मिट्टी के बर्तन बनाएं

मिट्टी के बर्तन बनाएं

इस छोटे से गांव के लोग बहुत ही सीधे हैं, जैसे ही आप इस गांव में पहुंचेगे, यहां के लोग आपका अतिथि सत्कार करने के बाद आपके साथ मिट्टी के बर्तन बनाना भी पसंद करते हैं। इस गांव में यूं तो घूमने के लिए कुछ खास नहीं है। आज हम भले ही तकनीकी के क्षेत्र में बहुत आगे हो, लेकिन आप इस गांव में आज पुराण ग्रामीण परिवेश देख सकते हैं ।

मिट्टी के बर्तनों का खास गांव

मिट्टी के बर्तनों का खास गांव

इस गांव के घर आज भी मिट्टी के बने हुए, जिन्हें गोबर और मिट्टी से रंगा जाता है। इस गांव में आप यहां के स्थानीय लोगो से बात कर सकते हैं, उनके यहां के खान पान को चख सकते हैं। और साथ ही यह भी देख सकते हैं कि, आखिर मिट्टी के बर्तन बनते कैसे हैं। यहां अमूमन सभी घरों में मिट्टी के बर्तन बनाने का काम होता है।

एक दिन में घूम सकते हैं

एक दिन में घूम सकते हैं

इस गांव में रात में रुकने की व्यवस्था नहीं है, इसीलिए आप इस राजस्थान के पुराने परिवेश और जान समझकर शाम को वापस बूंदी आ सकते हैं। इस खूबसूरत जगह की यात्रा सर्दियों की दौरान काफी सुखद रहती है, अगर आप यहां आना चाहते हैं अक्टूबर से लेकर मार्च के बीच यहां की एक यात्रा जरुर करें।Pc:Daniel Villafruela.

यात्रा पर पाएं भारी छूट, ट्रैवल स्टोरी के साथ तुरंत पाएं जरूरी टिप्स