Search
  • Follow NativePlanet
Share
» » रहस्य : भारत के सबसे डरावने होटल, जुड़ी हैं रहस्यमयी कहानियां

रहस्य : भारत के सबसे डरावने होटल, जुड़ी हैं रहस्यमयी कहानियां

भारत में अंग्रेजी शासन के दौरान बहुत से आलीशान भवनों और होटल्स का निर्माण करवाया गया था। जिसका इस्तेमाल बड़े ब्रिटिश अधिकारियों और वायसराय द्वारा किया जाता है। इसके अलावा इंग्लैंड से भारत घूमने आए अंग्रेज भी इन्हीं भवनों में रूका करते थे। हालांकि आजादी की बाद यह प्रकिया बंद हो गई। लेकिन वे भवन और होटल्स आज भी अपनी जगह मौजूद हैं। बहुत से भवनों को हेरिटेज घोषित कर दिया जबकि कुछ होटल खंडहर में तब्दील हो गए।

माना जाता है कि उस दौरान बनाए गए बहुत से होटल आज अपनी संरचनात्मक खूबसूरती से ज्यादा डरावने अनुभवों के लिए जाने जाते हैं। जानकारों का मानना है कि इन होटल्स में भूत-प्रेतों का साया है। रहस्य की पड़ताल में आज हमारे साथ जानिए भारत में मौजूद उन पुराने भवनों और होटल्स के बारे में जो अब भटकती आत्माओं का अड्डा बन चुके हैं।

मॉर्गन हाउस, पश्चिम बंगाल

मॉर्गन हाउस, पश्चिम बंगाल

मॉर्गन हाऊस पश्चिम बंगाल में कालिम्पोंग नामक हिल स्टेशन पर स्थित है। इस होटल की संरचना कुछ ऑस्कर वाइल्ड की प्रसिद्ध किताब 'द कैंटरविले घोस्ट' के महल से बहुत हद तक मेल खाती है। यह होटल भारत में अंग्रेजी शासक के दौरान बनाया गया था।

यह होटल जितना पुराना होता गया, इससे रहस्यमयी कहानियां जुड़ती चली गई। जानकारों का मानना है कि इस होटल पर किसी भटकती आत्मा का साया है। यहां रूकने आए सैलानी अजीबोगरीब घटनाओं की शिकायत कर चुके हैं।

यह बंगला 1930 में जॉर्ज मॉर्गन (एक ब्रिटिश अधिकारी) द्वारा बनवाया गया था। लेकिन उनकी पत्नी लेडी मॉर्गन की मृत्यु के बाद यह बंगला वीरान हो गया। माना जाता है कि यहां लेडी मॉर्गन की आत्मा भटकती है। रात के दौरान यहां अजीबोगरीब आवाजें सुनी जा सकती है।

 ब्रिज राज भवन , कोटा

ब्रिज राज भवन , कोटा

ब्रिज राज भवन राजस्थान के कोटा शहर में स्थित है। इस होटल का इतिहास भी भारत में अंग्रेजों से जुड़ा हुआ है। इस भवन में कभी मेजर चार्ल्स बर्टन नाम का एक ब्रिटिश अधिकारी रहा करता था। जिससे इस भवन की रहस्यमयी कहानी जुड़ी है।

इसका भवन निर्माण 19वी शताब्दी के दौरान करवाया गया था। जिसे बाद में एक हेरिटेज होटल में तब्दील कर दिया गया। इतने वर्ष बीत जाने के बाद भी यह होटल काफी अच्छी अवस्था में है, लेकिन समय के साथ-साथ इस होटल से कई रहस्यमयी कहानियां जुड़ती चली गईं।

माना जाता है कि 1857 की क्रांति के दौरान चार्ल्स बर्टन और उनके परिवार की इसी होटल में हत्या कर दी गई थी। माना जाता है कि यहां आज भी मेजर का भूत भटकता है। जानकारों का मानना है कि आधी रात के दौरान यहां अनहोनियां घटती रहती है।

होटल सवॉय, मसूरी

होटल सवॉय, मसूरी

उत्तराखंड के मसूरी स्थित सवॉय होटल भारत के ऐतिहासिक होटल्स में शामिल है। जिसका निर्माण 1902 में करवाया गया था। यह होटल काफी खूबसूरत है जहां राजा-महाराजा से लेकर राजनेता भी ठहर चुके हैं। अपनी खूबसूरती के साथ-साथ यह होटल भारत के चुनिंदा भुतहा होलट में भी गिना जाता है। जानकारों का मानना है कि यहां किसी ब्रिटिश लेडी की आत्मा भटकती है। उस महिला का नाम लेडी गारनेट ऑरमे था। जो सन् 1911 में यहां रहने आई थी। लेकिन कुछ समय बाद लेडी गारनेट की रहस्यमयी तरीके से मौत हो गई।

मौत की वजह आज तक किसी को पता नहीं लग सकी। जानकारों का मानना है कि इस होटल में उस ब्रिटिश महिला की आत्मा भटकती है। शाम के बाद होटल के कुछ कमरों में से अजीबोगरीब आवाजें सुनाई देती हैं।

राज किरण होटल, लोनवाला

राज किरण होटल, लोनवाला

राज किरण होटल लोनावाला में स्थित है, जो अपने डरावने अनुभवों के कारण ज्यादा चर्चा में आया । माना जाता है कि इस होटल में असामान्य घटनाएं घटती है। जानकारों का मानना है कि इस होटल के रिसेप्शन के पीछे, कोने में एक कमरा है, जहां किसी प्रेत का साया है। इसलिए यह कमरा बाकी कमरों की तुलना में ज्यादा खाली रहता है। इस रूम में कोई ठहरना नहीं चाहता है। कई ग्राहक यह शिकायत कर चुके हैं कि इस कमरे में रात को सोते वक्त कोई अदृश्य शक्ति चादर खिंच लेती है।

इसके अलावा यहां रात के दौरान डरवानी नीली रोशनी भी दिखाई देती है। इन अजीबोगरीब घटनाओं ने इस होटल को चुनिंदा प्रेतवाधित स्थानों में शामिल कर दिया है।

 मुंबई का ताज होटल

मुंबई का ताज होटल

PC- Rajarshi MITRA

उपरोक्त स्थानों के अलावा मुंबई स्थित ताज होटल से पीछे भी कई रहस्यमयी कहानियां जुड़ी हुई हैं। होटल में ठहरने आए सैलानी और काम करने वाले कर्मचारियों ने यहां अजीबोगरीब घटनाओं का अनुभव किया है। इस होटल का डिजाइन एक ब्रिटिश वास्तुकार डब्लू ए चेम्बर्स ने तैयार किया था, माना जाता है कि वे होटल का ब्लू प्रिंट तैयार कर इंग्लैंड चले गए थे।

लेकिन जब वे वापस यहां आए तो यह देखकर चौक गए कि होटल उनके द्वारा निर्धारित दिशा के उलटा बनाया गया है। यह सब देख उस वास्तुकार ने होटल की पांचवी मंजिल से कुदकर आत्महत्या कर ली । माना जाता है कि इस होटल में आज भी चेम्बर्स की आत्मा भटकती है।

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X