Search
  • Follow NativePlanet
Share
» »मैग्नेटिक हिल, जहां न्यूट्रल खड़ी गाड़ी 20km/hr की रफ्तार से खुद 4 किलोमीटर चलती है

मैग्नेटिक हिल, जहां न्यूट्रल खड़ी गाड़ी 20km/hr की रफ्तार से खुद 4 किलोमीटर चलती है

By Syedbelal

साइंस चाहे जितना भी आगे क्यों न निकल जाये इस दुनिया में कुछ रहस्य ऐसे हैं जिनको खोजने में साइंस असमर्थ है। ये ऐसे रहस्य हैं जिनको सुनकर जहां एक तरफ आपकी रूह काँप उठती है तो वहीं दूसरी तरफ ये आपको प्रकृति के अजीबो गरीब रहस्यों के बारे में सोचने पर मजबूर कर देते हैं। ज्ञात हो कि आज दुनिया में कई रहस्यमयी जगहें हैं, ये रहस्य ऐसे हैं जिनको आज विज्ञान भी समझने में असमर्थ है। उदहारण के तौर पर बरमूडा ट्रायंगल जहां से किसी का भी लौटना एक नामुमकिन सी बात है। ऑय ऑफ अफ्रीका जिसेदेखने पर प्रतीत होता है कि एक बड़ी सी आँख है जो आपको लगातार घूरे जा रही है।

इसी क्रम में आज हम आपको अवगत कराएंगे भारत के एक ऐसे स्थान से जहां आपकी गाड़ी बिना चलाए ही खुद-ब- खुद चार किलोमीटर बिना पेट्रोल के चल जाती है| चौंक गए न आप? जी हाँ हम बात कर रहे हैं मैग्नेटिक हिल की। मैग्नेटिक हिल, जम्मू-कश्मीर के लद्दाख क्षेत्र में लेह के पास एक पहाड़ी है जिसे अपनि मैग्नेटिक फील्ड के कारण जाना जाता है।

<span style= बैंगलोर के वो रहस्य जो अब तक अपने कहीं नहीं सुने होंगे " title=" बैंगलोर के वो रहस्य जो अब तक अपने कहीं नहीं सुने होंगे " /> बैंगलोर के वो रहस्य जो अब तक अपने कहीं नहीं सुने होंगे

ज्ञात हो कि पहाड़ी पर अगर कोई गाड़ी खड़ी हो तो अमूमन ये देखा गया है किगाड़ी नीचे की तरफ दौड़ती है लेकिन भारत का स्वर्ग कहे जाने वाले कश्मीर में स्थित मैग्नेटिक पहाड़ी एक ऐसी जगह है जहां पर अगर कोई गाड़ी न्यूट्रल करके खड़ी कर दी जाए तो वह नीचे की ओर नहीं बल्कि पहाड़ी के ऊपर की ओर चल पड़ती है। गाड़ी लगभग 20 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से ऊपर की ओर चढ़ने लगती है। न सिर्फ गाड़ियां बल्कि आसमान से उड़ने वाले जहाज भी इस गुरुत्वाकर्षण शक्ति से खुद को बचा नहीं पाते।

<span style=भगवान शिव और देवी शक्ति के आदि-अनादि एकल रूप हैं ये शिवलिंग" title="भगवान शिव और देवी शक्ति के आदि-अनादि एकल रूप हैं ये शिवलिंग" />भगवान शिव और देवी शक्ति के आदि-अनादि एकल रूप हैं ये शिवलिंग

आपको बताते चलें कि यहां आने वालों को निर्देशित किया जाता है कि वो एक स्थान पर आकर अपनी समूर्ण गाड़ी बंद कर दें और ऐसा करने के बाद गाड़ी खुद 20 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ़्तार से पहाड़ी पर चढ़ती है और ड्राइवर को केवल गाड़ी की स्टेरिंग संभालनी होती है। इस स्थान की एक ख़ास बात ये भी है कि गाड़ी जब पहाड़ी से उतरती है तो इसकी स्पीड नार्मल की अपेक्षा 3 गुनी हो जाती है । यानी अगर आप गाड़ी को न्यूट्रल करके उतार रहे हैं तो नीचे उतारते वक़्त गाड़ी अपने आप 30 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ़्तार से चलेगी। तो अब यदि ये सब जानने के बाद आपका इस स्थान पर गाड़ी चलाने का मूड हो तो अपनी लद्दाख की ट्रिप को प्लान करें।

लद्दाख का रहस्यमय मैग्नेटिक हिल

लद्दाख का रहस्यमय मैग्नेटिक हिल

मैग्नेटिक हिल, जम्मू-कश्मीर के लद्दाख क्षेत्र में लेह के पास एक पहाड़ी है जिसे अपनि मैग्नेटिक फील्ड के कारण जाना जाता है।

लद्दाख का रहस्यमय मैग्नेटिक हिल

लद्दाख का रहस्यमय मैग्नेटिक हिल

ज्ञात हो कि पहाड़ी पर अगर कोई गाड़ी खड़ी हो तो अमूमन ये देखा गया है किगाड़ी नीचे की तरफ दौड़ती है लेकिन भारत का स्वर्ग कहे जाने वाले कश्मीर में स्थित मैग्नेटिक पहाड़ी एक ऐसी जगह है जहां पर अगर कोई गाड़ी न्यूट्रल करके खड़ी कर दी जाए तो वह नीचे की ओर नहीं बल्कि पहाड़ी के ऊपर की ओर चल पड़ती है।

लद्दाख का रहस्यमय मैग्नेटिक हिल

लद्दाख का रहस्यमय मैग्नेटिक हिल

गाड़ी लगभग 20 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से ऊपर की ओर चढ़ने लगती है। न सिर्फ गाड़ियां बल्कि आसमान से उड़ने वाले जहाज भी इस गुरुत्वाकर्षण शक्ति से खुद को बचा नहीं पाते।

लद्दाख का रहस्यमय मैग्नेटिक हिल

लद्दाख का रहस्यमय मैग्नेटिक हिल

यहां आने वालों को निर्देशित किया जाता है कि वो एक स्थान पर आकर अपनी समूर्ण गाड़ी बंद कर दें और ऐसा करने के बाद गाड़ी खुद 20 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ़्तार से पहाड़ी पर चढ़ती है और ड्राइवर को केवल गाड़ी की स्टेरिंग संभालनी होती है।

लद्दाख का रहस्यमय मैग्नेटिक हिल

लद्दाख का रहस्यमय मैग्नेटिक हिल

इस स्थान की एक ख़ास बात ये भी है कि गाड़ी जब पहाड़ी से उतरती है तो इसकी स्पीड नार्मल की अपेक्षा 3 गुनी हो जाती है । यानी अगर आप गाड़ी को न्यूट्रल करके उतार रहे हैं तो नीचे उतारते वक़्त गाड़ी अपने आप 30 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ़्तार से चलेगी।

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X