» »जयपुर वासियों का अब होगा एक ही फ़ूड डेस्टिनेशन: मसाला चौक

जयपुर वासियों का अब होगा एक ही फ़ूड डेस्टिनेशन: मसाला चौक

Written By: Goldi

पश्चिमी उत्तर भारत में स्थित राजस्थान पर्यटन के मामले नम्बर वन है, यहां हर साल लाखों की तादाद में देशी और विदेशी पर्यटक यहां के खूबसूरत महल और हवेलियों को देखने पहुंचते हैं। राजस्थान आने वाले पर्यटकों की पहली डेस्टिनेशन होती है, गुलाबी नगरी यानी जयपुर।

जयपुर में पर्यटकों के घूमने के लिए कई सारी जगहें मौजूद हैं, अब इन्ही खास जगहों में एक और खास जगह शामिल हो चुकी है, जो की मसाला चौक के नाम से जानी जाएगी। जी हां, जैसे कहते हैं ना, की जयपुर गये और वहां के व्यंजनों का चटकारा नहीं लिया तो क्या खाक घूमे जयपुर

ये है जयपुर की अनसुनी जगह..यहां जाना ना भूले

पर्यटक एक ही जगह राजस्थानी खाने का स्वाद ले सके ,इसके लिए जयपुर विकास प्राधिकरण ने मसाला चौक की शुरुआत की है, जहां पर्यटक एक ही जगह शहर की प्रसिद्ध चाय से लेकर बेजड़ की रोटी, बताशे, चाट, दाल बाटी चूरमा, फलूदा, आदि का लुत्फ उठा सकेंगे। तो आइये स्लाइड्स में जानते हैं कुछ खास मसाला चौक के बारे में

कहां है स्थित मसाला चौक ?

कहां है स्थित मसाला चौक ?

पर्यटकों को एक ही जगह सभी लजीज व्यंजनों का मजा लेने के लिए राम-निवास बाग स्थित मसाला चौक की ओर रुख करना होगा। जहां सैलानी परिवार के साथ बैठकर प्रसिद्ध चाय से लेकर बेजड़ की रोटी, बताशे, चाट, दाल बाटी चूरमा, फलूदा, आदि का लुत्फ उठा सकेंगे।

ओपन थियेटर

ओपन थियेटर

पर्यटक मसाला चौक में सिर्फ खाने का स्वाद ही नहीं नहीं बल्कि ओपन थियेटर का भी मजा ले सकते हैं, इस थियेटर में एक साथ करीबन 550 व्यक्ति बैठ सकते हैं। इस ओपन थियेटर में जयपुर के आर्ट कल्चर व थियेटर छात्र छात्राएं मंचन करेंगे।

पारम्परिक व्यंजन साथ ही अतरिक्त सुविधाएँ

पारम्परिक व्यंजन साथ ही अतरिक्त सुविधाएँ

जयपुर विकास प्राधिकरण की इस पहल से अब अब यहां घूमने आने वाले पर्यटकों को उच्च क्वालिटी का खान-पान मिल सकेगा। पर्यटक यहां लजीज व्यंजन के अलावा फ्री वाईफाई का भी लाभ उठा सकेंगे।

घूमे रामनिवास बाग

घूमे रामनिवास बाग

राम निवास बाग एक खूबसूरत गार्डन है जिसे अकाल रहित परियोजना के अर्न्‍तगत 19 वीं सदी के दौरान महाराजा राम सिंह द्वारा बनवाया गया था। इस बड़े पार्क में खेलने के लिए काफी बड़ा स्‍थान है और साथ ही साथ एक चिडि़याघर और वनस्‍पति संग्रहालय भी है।Pc: Shibnaths2

देखें अल्‍बर्ट हॉल

देखें अल्‍बर्ट हॉल

किलों और महलों के शहर में मौजूद अल्बर्ट हॉल संग्रहालय आपको अतीत की निशानियों के दर्शन भी कराता है। केंद्रीय संग्रहालय के नाम से भी जाना जाने वाला यह ऐतिहासिक संग्रहालय राजस्थान का सबसे पुराना संग्रहालय है। इस ऐतिहासिक रचना का निर्माण महाराजा राम सिंह द्वारा, वेल्स के राजकुमार, राजा अल्बर्ट एडवर्ड का भारत में स्वागत करने के लिए किया गया था, जिसके निर्माण के बाद इसे राजा एडवर्ड का ही नाम दिया गया। संग्रहालय का निर्माण राम निवास उद्यान के बाहरी ओर सीटी वॉल के नये द्वार के सामने किया गया।Pc: Ksheer

हवा महल

हवा महल

हवा महल हवा महल जयपुर का एक और अन्य मुख्य आकर्षण है जो रामनिवास बाग़ के नज़दीक ही स्थापित है। हवा महल, एक अद्भुत अद्वितीय पांच मंज़िला इमारत है जिसकी हर मंज़िल में पंक्तिबद्ध खिड़कियां बनी हुई हैं। इन खिड़कियों की संख्या लगभग 953 है। यह महल शाही परिवार की महिलाओं के लिए बनवाया गया था, जिससे कि वे महल के अंदर ही रहकर बाहर की दुनिया से इन खिड़कियों के झरोखों द्वारा परिचित हो सकें।Pc:Sameer Goyal

सिटी पैलेस

सिटी पैलेस

सिटी पैलेस एक लोकप्रिय विरासत है जो शहर के बीचोबीच स्थित है। वास्तुकला के इस एक और अद्भुत नमूने में एक विशाल प्रांगण, कई महल, संग्रहालय, गैलरी और कई शानदार आश्चर्यचकित कर देने वाली रचनाएँ जैसे मुबारक महल और चंद्र महल स्थित हैं। यह जयपुर का प्रमुख लैंडमार्क भी है।Pc:Diego Delso