» »कोलकाता का परफेक्ट वीकेंड गेटवे-पुरुलिया

कोलकाता का परफेक्ट वीकेंड गेटवे-पुरुलिया

Written By: Goldi

पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता से करीबन 300 किमी की दूरी पर स्थित पुरुलिया खूबसूरत वीकेंड गेटवे है..जिसकी प्राकृतिक सुन्दरता पर्यटकों का मन मोह लेती है। बीते कुछ सालों में पुरुलिया पर्यटकों के बीच वीकेंड गेटवे के रूप में लोकप्रिय हो चुका है।

कोलकाता के समीप ही स्थित 4 आकर्षक बीच!

पुरुलिया झारखंड और पश्चिम बंगाल की सीमा पर स्थित है। यह "मानभुम सिटी" के रूप में भी जाना जाता है। पुरुलिया के आसपास घूमने को काफी कुछ है जहां आप अपने वीकेंड की थकान को मिटा सकते हैं, यहां करने के लिए ट्रैकिंग से लेकर माउंटेन क्लाइम्बिंग,बर्ड वाचिंग आदि है। यहां दूर दूर तक फैली प्राकृतिक खूबसूरती आपकी पूरे हफ्ते की थकान को चुटकियों में दूर कर देती है।

कैसे जाए

कैसे जाए

हवाई जहाज द्वारा
कोलकाता स्थित नेताजी सुभाष चंद्र बोस हवाई अड्डा पुरूलिया के निकटतम हवाई अड्डा है, यह हवाई अड्डा भारत और विदेशों के सभी हिस्सों से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। पुरुलिया कोलकाता से 330 किमी दूर है, जहां से आप या तो एक टैक्सी या बीएस द्वारा पुरुलिया तक पहुंच सकते हैं।

सड़क द्वारा
एक लोकप्रिय पर्यटन स्थल होने के नाते, पुरूलिया सड़क से पश्चिम बंगाल राज्य के दूसरे शहरों के लिए अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। टैक्सियों और टैक्सी के साथ-साथ नियमित सरकार और निजी बसों, कनेक्टिविटी को बनाए रखने वाले शहर से चलाए जाते हैं।

रेलवे द्वारा
पुरुलिया बहुत अच्छी तरह से भारतीय रेलवे के माध्यम से जुड़ा हुआ है मुख्य जंक्शन बड़े शहरों से आने वाली कई लंबी दूरी की गाड़ियों के साथ जुड़ा हुआ है।

pc:Skasish

कब आयें

कब आयें

यहां आने का सबसे अच्छा समय सितंबर से मार्च तक है क्योंकि वहां स्पष्ट आसमान और हवा में थोड़ा ठंडा है।

PC:Sardaka

अजोध्या पहाड़ी

अजोध्या पहाड़ी

अजोध्या पहाड़ी (अयोध्या पहाड़ी) स्थित है जोकि दालमा पहाड़ी का हिस्सा जो पश्चिम बंगाल और झारखंड की सीमा से लगता है। पौराणिक कथायों के मुताबिक,अपने वनवास के समय भगवान श्री राम और माता सीता ने यहां कुछ दिन व्यतीत किये थे। अयोध्या पहाड़ी ट्रैकिंग के लिए सर्वोत्तम है..इस पहाड़ी पर ट्रैकिंग के दौरान घने जंगल,झील,जंगली जानवर आदि देखे जा सकते हैं। अयोध्या पहाड़ी प्रकृति से प्यार करने वालो के लिए किसी जन्नत से कम नहीं है..यहां विदेशी पक्षियों को भी निहारा जा सकता हैं। गोर्शभी और मयूर पहाड़ी यहां दो मुख्य पहाड़ी हैं। चट्टान चढ़ाई में शुरू होने वाले पर्वतारोहियों के लिए यह एक लोकप्रिय गंतव्य है। पुरुलिया से 42 किलोमीटर दूर अयोध्या पहाड़ी हैं।

बारांटी जलाशय या मुरारडी झील

बारांटी जलाशय या मुरारडी झील

यह एक शांत झील है जो हरियाली की एक मोटी कालीन के साथ पहाड़ों से घिरा हुई है। यहां पर्यटकों की भीड़भाड़ काफी कम रहती है, जिससे आप यहां वीकेंड को झील के किनारे अच्छे से एन्जॉय कर सकते हैं।

रकाब जंगल

रकाब जंगल

रकाब जंगल शिकार के लिए बेहद अच्छा माना जाता है, यह जंगल करीबन 16 एकड़ में फैला हुआ है। यहां एक किला भी है जोकि राजा मान सिंह का है, जो भारत के इतिहास को दर्शाता है।

सुरुलिया

सुरुलिया

सुरुलिया पुरुलिया स्थित एक मशहूर पिकनिक स्पॉट है,जो पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करता है, यह जगह पर्यावरण पर्यटन के लिए भी जानी जाती है। यह शहर से करीब 6 किमी दूर, कांगसाबाती नदी के किनारे स्थित है, इसमें एक हिरण पार्क और पर्यटन कुटीर है जिसे देखने हर रोज सैकड़ों की तादाद में पर्यटक पहुंचते हैं।

डॉल्डंगा

डॉल्डंगा

डॉल्डंगा धीरे-धीरे एक लोकप्रिय पिकनिक स्थल के रूप में लोकप्रिय हो रहा है, यहां सतही सुंदर झील में नौकायान का लुत्फ भी उठाया जा सकता है।

Please Wait while comments are loading...