» »अगर जाना है प्रकृति के बेहद करीब तो इन जगहों की करें सैर

अगर जाना है प्रकृति के बेहद करीब तो इन जगहों की करें सैर

Written By: Goldi

भारत में कई ऐसी खूबसूरत जगहें मौजूद है, जिन्हें हम घूम सकते हैं। इन जगहों में कुछ जगहें तो बेहद प्रसिद्ध है, तो कुछ शहरीकरण के चलते तो वहीं कुछ ऐसी जगहें भी यहां मौजूद है, जो आज भी पर्यटकों की नजरों से दूर है। इसका मतलब यह नहीं कि इन जगहों पर कुछ खास नहीं है, बल्कि यह जगह प्रसिद्ध जगहों के मुकाबले बेहद खूबसूरत हैं। इन जगहों पर आपको भारत के अन्य पर्यटक स्थलों के मुकाबले बेहद कम भीड़ मिलेगी, साथ ही आप यहां खुद को प्रकृति के बेहद करीब पायेंगे।

मध्यप्रदेश की इन खूबसूरत जगहों के आगे खजुराहो,ओरछा सब भूल जायेंगे आप..

भारत में कई ऐसी जगहें हैं, जो आज भी पर्यटकों की नजरों से दूर है,शायद आपने इन जगहों के बारे में कहीं पढ़ा या सुना होगा, लेकिन शायद आपने उस जगह को घूमने में दिलचस्पी ना दिखाई हो। इसलिए हम आपको अपने लेख से अब तक अनसुनी जगहों के बारे में आपको बतायेंगे, जहां ना पर्यटकों की भीड़ है, ना ही अन्य जगहों के मुकाबले ज्यादा महंगाई..

बोरोंग

बोरोंग

बोरोंग सिक्किम का एक छोटा सा गांव है, चारो और बर्फ से घिरा हुए इस गांव में रवंगला और मेनम से ट्रेक के जरिये पहुंचा जा सकता है। यहां के खूबसूरत नजारों के अलावा यह गांव अपने बोरोंग तसाछु पर्व के लिए भी जाना जाता है।

ट्रेकर्स के लिए यह जगह स्वर्ग से कम नहीं है,इस गांव में आप लोकल साधन और ट्रेक के जरिए आसानी से पहुंच सकते हैं..इस गांव के लिए ट्रैकिंग की शुरुआत नामची से होती है जोकि टेंदोग और रावंगला से होते हुए मेनम के बाद सीधे बोरोंग पहुंचते हैं। बोरोंग पहुंचकर आप यहां के खूबसूरत और सम्मोहित कर देने वाले नजारों को देख सकते हैं।PC:Weekend Destinations

दम्बुक

दम्बुक

अरुणाचल प्रदेश की खूबसूरत दिबांग घाटी में स्थित दम्बुक ब्रह्मपुत्र की सहायक उपनदत्तों से घिरा है। यह शांत और सुंदर गांव अपनी नारंगी खेती के लिए जाना जाता है और यहां ऑरेंज फेस्टिवल हर साल 17 जनवरी और 18को आयोजित किया जाता है। ओरेंज फेस्टिवल के दौरान सैलानी यहां के लोकल संगीत और खाने का लुत्फ उठा सकते हैं।

गुरेज घाटी

गुरेज घाटी

स्थानीय शीन भाषा में गुरेज घाटी को गुरिस, भी कहा जाता है,यह एक उच्च हिमालय में स्थित घाटी है। जोकि श्रीनगर से 123किमी दूर स्थित है। यह घाटी चारों बर्फ से ढकी हुई है..और विविध जीवों और वन्यजीवों का यहां निवास है,जिसमें हिमालयी भूरा भालू और हिम तेंदुए शामिल हैं। हब्बा खातून माउंटेन शिखर यहां का मुख्य आकर्षण है।PC: Zahid samoon

अंजदीप द्वीप

अंजदीप द्वीप

अंजदीप द्वीप या अंजीदीवा द्वीप दक्षिण गोवा जिले के कानाकोना के तट से अरब सागर में एक द्वीप है। यह पहले एक पुर्तगाली क्षेत्र था, और टिपू सुल्तान ने बेदोरोरैंड सोंडा के तटीय राज्यों के आक्रमण के दौरान ईसाई और मुख्य भूमि के हिंदुओं को शरण के रूप में इसका इस्तेमाल किया था। पुर्तगाली द्वारा नष्ट किए गए श्री आर्यदुर्गा मंदिर के खंडहर अभी भी यहां देखे जा सकते हैं। यहां एक किला भी है, जिसका निर्माण पुर्तगाली ने अपने शासनकाल के दौरान कराया था। इस द्वीप पर खण्डहर देखने के अलावा पर्यटक द्वीप पर घूम सकते हैं।

वलपराई

वलपराई

वलपराई,तमिलनाडु के कोयंबटूर जिले में स्थित एक हिल स्टेशन है । समुद्र तल से 1067 मीटर ऊपर की ऊंचाई पर स्थित यह तमिलनाडु के सबसे खूबसूरत हिल स्टेशनों में से एक है और यह अन्नामलाई माउंटेन रेंज का हिस्सा है। यह घने जंगलों, जंगली झरने के बीच चाय और कॉफी वृक्षारोपण के मिश्रण को देखने के लिए एक सर्वश्रेष्ठ स्थान है।PC:Navaneeth KN

Please Wait while comments are loading...