• Follow NativePlanet
Share
» » उत्तर प्रदेश के इन शहरों को अपना घर समझते हैं विदेशी सैलानी

उत्तर प्रदेश के इन शहरों को अपना घर समझते हैं विदेशी सैलानी

Written By: Nripendra

उत्तर प्रदेश, भारत का वो ऐहितासिक राज्य है, जिसमें संपूर्ण भारत की छवि दिखाई पड़ती है। लगभग 4000 वर्ष पुराना इसका इतिहास, धर्म, संस्कृति, कला व दर्शन के लिए जाना जाता रहा है। इसी पावन भूमि पर भारतीय वैदीक सभ्यता का आगमन हुआ और आर्यों ने अपना पहला कदम रखा। यहां आज भी कई ऐसे नगर मौजूद हैं, जिनका संबंध भारत के पौराणिक काल से है।

भले इन नगरों ने अब आधुनिक वस्त्र धारण कर लिए हों, पर ये आस्था के लिहाज से आज भी उतने ही मायने रखते हैं, जितने ये कभी पहले थे। हमारे साथ जानिए उत्तर प्रदेश के उन पावन नगरों के बारे में जहां बसता है 'अतुलनीय भारत का दिल', जिन्हें विदेशी सैलानी समझते हैं अपना घर।

तीर्थों का राजा, प्रयाग

तीर्थों का राजा, प्रयाग

PC- Sharad Khare

उत्तर प्रदेश के पूर्वी भाग में स्थित इलाहाबाद को 'तीर्थों का राजा' कहा जाता है। यह शहर 12 वर्षों में एक बार लगने वाले 'कुंभ मेले' के लिए विश्व विख्यात है। इस शहर का प्राचीन नाम प्रयाग है, जो दैविक नदी गंगा, यमुना और सरस्वती के संगम स्थल पर स्थित है। हिंदू मान्यता के अनुसार सृष्टि का कार्य होने के बाद ब्रह्मा जी ने प्रथम यज्ञ यहीं पर किया था। यह ऐतिहासिक शहर भारत के उन धार्मिक स्थलों में शामिल है, जहां हर हिंदू एक बार आने की कामना जरूर करता है। यहां देखने -घूमने लायक कई जगहें मौजूद हैं, जहां पर्यटक आना पसंद करते हैं।

घूमने लायक जगहें

घूमने लायक जगहें

PC- Lokankara

आप यहां गंगा-यमुना का संगम होते देख सकते हैं, जिसका दृश्य अपने आप में ही काफी मनोरम है। आप यहां संगम के निकट हनुमान भगवान का अद्भुत मंदिर देख सकते हैं। यहां हनुमान जी की लेटी हुई प्रतिमा स्थापित है, जो काफी विशाल व भव्य है। प्रतिमा के दर्शन के लिए आपको नीचे की ओर जा रहीं सीढ़ियों का सहारा लेना होगा। इसके अलावा आप शंकर विमान मण्डपम्, हनुमत् निकेतन, सरस्वती कूप, मनकामेश्वेर मंदिर के दर्शन भी कर सकते हैं। आप यहां शिवकुटी के दर्शन भी कर सकते हैं, जो भोलेनाथ को समर्पित है।

मोक्ष का द्वार, वाराणसी

मोक्ष का द्वार, वाराणसी

PC- AKS.9955

पवित्र नदी गंगा के किनारे बसा वाराणसी, भारत का प्राचीन शहर है, जिसे 'मोक्ष का द्वार' कहा जाता है। हिंदू मान्यता के अनुसार जीवन का अंतिम समय यहां बिताने पर, इंसान को मोक्ष की प्राप्ति होती है। इसलिए इसे धर्म नगरी भी कहा जाता है। इस शहर का प्राचीन नाम काशी है, जो अपने 'काशी विश्वनाथ मंदिर' के लिए पूरी दुनिया भर में जाना जाता है। 'काशी विश्वनाथ मंदिर' भोलेनाथ के 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक है। कहा जाता है, अगर कोई व्यक्ति इस मंदिर के दर्शन कर, गंगा में स्नान कर ले, तो उसके लिए मोक्ष का द्वार अपने आप खुल जाता है। धार्मिक व सांस्कृतिक दृष्टि से यह नगर भारत का प्रतिनिधित्व करता है।

घूमने लायक जगहें

घूमने लायक जगहें

PC- kevin tsai

यहां साल के हर महीने देश-विदेश से आए पर्यटकों को देखा जा सकता है। इस शहर में तकरीबन 84 गंगा घाट हैं, जिनमें से 5 घाटों को 'पंचतीर्थ' कहा जाता है। यहां का 'अस्सी घाट' शाम के वक्त होने वाली गंगा आरती के लिए विश्व विख्यात है। यहां ज्यादातर पर्यटक आध्यात्मिक व मानसिक शांति के लिए आते हैं। आप यहां काशी विश्वनाथ के दर्शन के अलावा वाराणसी के तमाम पवित्र घाटों की सैर का आनंद ले सकते हैं। शाम के वक्त घाट का दृश्य काफी पवित्र अनुभव देता है।

बौद्ध तीर्थ, कुशीनगर

बौद्ध तीर्थ, कुशीनगर

PC- Mahendra3006

उत्तर प्रदेश का ऐतिहासिक शहर कुशीनगर, एक प्रसिद्ध बौद्ध तीर्थ है। यह नगर ऐतिहासिक बौद्ध स्मारकों के लिए पूरी दुनिया भर में जाना जाता है। यहां साल के हर महीने बौद्ध धर्म में आस्था रखने वाले पर्यटकों का आवागमन लगा रहता है। यहां बुद्ध पूर्णिमा के अवसर पर भव्य मेले का आयोजन देखने लायक होता है। पर्यटन के लिहाज से आप यहां कई ऐतिहासिक स्थलों की सैर का आनंद ले सकते हैं, जो अपने धार्मिक-सांस्कृतिक महत्व के लिए जाने जाते हैं।

घूमने लायक जगहें

घूमने लायक जगहें

PC- Mahendra3006

इस शहर का इतिहास काफी रोचक रहा है, बताया जाता है इस शहर की खोज का श्रेय अंग्रेज पुरातत्वविद ए कनिंघम को जाता है। यहा खुदाई के दौरान बुद्ध की एक लेटी हुई मूर्ति मिली थी। भगवान बुद्ध से जुड़े इतिहास को जानने के लिए
आप यहां निवार्ण स्तूप, महानिर्वाण मंदिर, माथाकौर, रामाभर स्तूप, आधूनिक स्तूप, बौद्ध संग्रहालय व लोकरंग के दर्शन कर सकते हैं।

विश्व प्रसिद्ध, आगरा

विश्व प्रसिद्ध, आगरा

PC- Vijayakumarblathur

आगरा, भारत का वो ऐतिहासिक शहर है, जिसके 'ताजमहल' को देखने के लिए देश-दुनिया से पर्यटक खिंचे चले आते हैं। दुनिया के चुनिंदा अजूबों में शामिल ताजमहल, यमुना नदी के किनारे बसा है। इस शहर का इतिहास इतना पुराना है, कि इसका जिक्र महाभारत में भी मिलता है, तब इसका नाम 'अग्रवन' था। भारत में मुगलों के शासन काल के दौरान इसे मुगल साम्राज्य की राजधानी भी बनाया गया था। भारत में मुगलों द्वारा बनाई गईं इमारतों में ताजमहल का नाम मुख्य तौर पर लिया जाता है।

घूमने लायक जगहें

घूमने लायक जगहें

PC- Scsaraswati24

आज यह शहर मुगलकालीन इमारतों के लिए ज्यादा जाना जाता है। शाहजहां द्वारा अपनी बेगम मुमताज़ के लिए बनवाया गया ताजमहल, सच्चे प्यार की निशानी के तौर पर जाना जाता है। आप ताजमहल के अलावा यहां स्थित आगरा का किला, फतेहपुर सीकरी, एतमादुद्दौला का मकबरा व जामा मस्जिद भी देख सकते हैं।

कृष्ण जन्मभूमि, मथुरा

कृष्ण जन्मभूमि, मथुरा

PC- Yadav Surbhi R.

भगवान कृष्ण की जन्मभूमि मथुरा, भारत के प्रमुख धार्मिक स्थलों में से एक है। जहां कृष्ण भक्तों की लंबी कतार लगी रहती है। बता दें कि यह शहर लंबे समय से भारतीय संस्कृति का मुख्य केंद्र रहा है, जिसे कभी शूरसेन नगरी, मधुपुरी, मधुनगरी व मधुरा के नाम से संबोधित किया जाता था। कहा जाता है, इस शहर का संबंध महाभारत काल से है। यहां आसपास कई खूबसूरत मंदिर हैं, जो भगवान कृष्ण और राधारानी को समर्पित हैं।

घूमने लायक जगहें

घूमने लायक जगहें

PC- Gaura

मथुरा भारत के उन प्रसिद्ध धार्मिक स्थलों में से एक है, जहां विदेशी भक्त ज्यादा आना पसंद करते हैं। आप यहां स्थित द्वारकाधीश मंदिर की भव्य आरती का आनंद ले सकते हैं, जहां कान्हा की सुंदर प्रतिमा विराजमान है। आप यहां से गोकुल व वृंदावन की सैर का भी आनंद ले सकते हैं। जहां आपको भगवान कृष्ण की भक्ति में लीन कई देशी-विदेशी पर्यटक मिल जाएंगे।

यात्रा पर पाएं भारी छूट, ट्रैवल स्टोरी के साथ तुरंत पाएं जरूरी टिप्स