» »चाइना को भूल जाइये.. अब देखिए 'ग्रेट वॉल ऑफ इंडिया'.. आंखें चौंधिया जाएंगी

चाइना को भूल जाइये.. अब देखिए 'ग्रेट वॉल ऑफ इंडिया'.. आंखें चौंधिया जाएंगी

Written By: Staff

गुजरात का हृदय अहमदाबाद अपनी राजसी विरासत के लिए प्रसिद्ध है। इस शहर में भद्रा किला, दादा हरि नी वाव, तीन दरवाज़ा जैसे कई दर्शनीय स्‍थल हैं। इस शहर के सभी स्‍थलों को देखने के लिए राज्‍य सर‍कार द्वारा हेरिटेज वॉक की व्‍यवस्‍था की जाती है। ये भारत का पहला है शहर है जिसका नाम विश्‍व विरासत शहर के रूप में लिया गया है।

अहमदबाद बना भारत का पहला वर्ल्ड हेरिटेज शहर

लेकिन अहमदाबाद में रहने वाले लोगों के लिए ये कोई बड़ी बात नहीं है। आप भी अहमदाबाद की विरासत के बारे में जानने को उत्‍सुक होंगें। यूं तो अहमदाबद में घूमने की जगहों की कमी नहीं है..लेकिन अगर आप अपने लॉन्ग वीकेंड को मजेदार बनाना चाहते हैं, तो आप अहमदाबाद की इन जगहों की ओर रुख कर सकते हैं..आइये जानते हैं स्लाइड्स में इन जगहों के बारे में  

चंपानेर

चंपानेर

इस राजसी शहर में आप एक या दो दिन रूके हैं तो गुजरात का चंपानेर जरूर देखें। अमदाबाद से 150 किमी की दूरी पर स्थित है चंपानेर। यहां से 2-3 में चंपानेर तक पहुंचा जा सकता है। इस शहर का मुख्‍य आकर्षक चंपाने पवधगढ़ पुरातत्‍व पार्क है जिसे यूनेस्‍को द्वारा विश्‍व धरोहर घोषित किया जा चुका है। इसके किले, पैलेस और मस्जिद इसे खास और अनोखा बनाते हैं। ये इमारते 3280 एकड़ में फैली हुईं हैं।

इस पूरे शहर को गुजरात सलतनत के सुल्‍तान महमूद बेगड़ा द्वारा बनवाया गया था। इस शहर के कुछ शानदार स्‍थानों जैसे जामा मस्जिद, केवादा मस्जिद, कलिका माता मंदिर, ब्‍वामान मस्जिद, हेलिकल स्‍टेपवैल देखना बिलकुल ना भूलें।

pc:Asitjain

उदयपुर

उदयपुर

झीलों के शहर उदयपुर को पूर्व का वेनिस भी कहा जाता है। यहां पर कई झीलें हैं और इन झीलों पर बेहद सुंदर और शानदार महल भी बने हुए हैं। अहमदाबाद से 263 किमी की दूरी पर स्थित उदयपुर शहर राजस्‍थान की संस्‍कृति को बेहद राजसी ढंग में बयां करता है।

उदयुपर में आप मुख्‍य रूप से इन पांच झीलों को देख सकते हैं - दूध तलाई झील, स्‍वरूप सागर झील, पिचोला झील, फतेह सागर झील और रंगसागर। इस शहर में सज्‍जनगढ़ पैलेस जैसे महल भी जरूर देखें।

pc:Dennis Jarvis

कुंभलगढ़

कुंभलगढ़

अहमदाबार से 6 घंटे की दूरी पर स्थित है कुंभलगढ़ जो कि मेवाड़ राजवंश का विशाल दुर्ग है। यहां पर किलों और महलों की अधिकता के कारण इसे विश्‍व धरोहर घोषित किया जा चुका है। इस स्‍थान पर महान योद्धा महाराणा प्रताप सिंह का भी जन्‍म हुआ था। इस कारण भी ये स्‍थान बहुत मशहूर है।

इस किले की इमारत बेहद व्‍यवस्थित रखी गई है। इस किले को 38 किमी लंबी दीवार ने घेर रखा है और यहां पर आप जैन मंदिर भी देख सकते हैं। इस दीवार को भारत की ग्रेट वॉल ऑफ इंडिया भी कहा जाता है। वीकएंड पर आप कुंभलगढ़ के मेवाड़ राजवंश की इस शान-ओ-शौकत को देखने आ सकते हैं।

pc:Ajith Kumar

वड़ोदरा

वड़ोदरा

वड़ोदरा में मराठा राजवंश की स्‍थापत्‍य शैली में बनाए गए अनेक ऐतिहाहसक स्‍थान हैं। ये जगह अहमदाबाद से 415 किमी की दूरी पर स्थित है एवं यहां पहुंचने में आपको 7-8 घंटे का समय लगेगा। इस शहर का मुख्‍य आकर्षण लक्ष्‍मी विलास महल है।

इस खूबसूरत और विशाल महल को 1890 में गायकवाड़ के शाही परिवार के रहने के लिए बनवाया गया था। यहां के अन्‍य प्रमुख स्‍थल हैं - मारकपुर महल, कीर्ति मंदिर, खंडेराव मार्केट, ऑरोबिंदो आश्रम आदि।

pc:Nisarg Bhanvadiya

चित्तौड़गढ़

चित्तौड़गढ़

भारत के चित्तौड़गढ़ में सबसे बड़ा किला चित्तौड़गढ़ किला मौजूद है। शाही राजपूत घराने के इतिहास से ये शहर सराबोर है और इसे सातवीं ईस्‍वीं में मौर्य राजवंश द्वारा बनवाया गया था। इस शानदार किले में 4 विशाल महल, 19 मंदिर और 4 संग्रहालय हैं।

इतिहास के अलावा चित्तोड़गढ़ में आप राणा सांगा और सदर बाज़ार भी घूम सकते हैं। चित्तौड़गढ़ अपने प्रसिद्ध त्‍योहारों जैसे तीज, घंघौर और मीरा महोत्‍सव के लिए भी लेाकप्रिय है।

Please Wait while comments are loading...