» »हैदरबाद के बेहतरीन वीकेंड ट्रेकिंग डेस्टिनेशन

हैदरबाद के बेहतरीन वीकेंड ट्रेकिंग डेस्टिनेशन

By: shweta

भारत के प्राचीन शहरों में, हैदराबाद एक ऐसा शहर हैं, जिसकी पहचान उसकी संस्कृति एवं सांस्कृतिक धरोहर से है। दक्षिण भारत के तेलंगाना राज्य में (मूसी नदी के तट पर) बसा यह शहर "हैदराबाद" (राजधानी) हमारे देश की बहुमूल्य सांस्कृति धरोहर हैं। इसकी स्थापना सन् 1591 में मुहम्मद कुली क़ुतुब शाह ने की।

ट्रेवल गाइड- हैदराबाद का महल चौमहल्ला

अपनी विरासत के लिए जाना वाला यह शहर हैदराबाद , आज (I.T) आई.टी.सेल के रूप में तबदील होता जा रहा हैं। अगर यहां के स्वाद की बात करें, तो हैदराबादी बिरयानी और हलीम दो ऐसे चुनिन्दा व्यंजन हैं जो लोगो को बेहद ही पसंद आते हैं, हैदराबादी बिरयानी और हलीम दोनों ही ऐसे व्यंजन है जिन्हें पूरे देश में बड़े चाव से खाया जाता है।

हैदरबाद बिरयानी के अलावा हैदरबाद का मोटी और उससे बने गहने लोगो के बीच खासा लोकप्रिय है।स्वादिष्ट व्यंजनों के अलावा, यहाँ का मोती, और उससे बने आभूषण पूरे देश में प्रचलित हैं। यहाँ के मसाला व्यापारियों एवं चाय स्टॉल देखकर, यहाँ आज मुगल संस्कृती को देखा जा सकता है।

आंध्रप्रदेश का हिलस्टेशन-हार्सिली हिल्स

भारत की सांस्कृतिक विरासत होने के साथ - साथ, हैदराबाद में एवं इसके आसपास बहुत सी ऐसी जगह हैं, जो हमारे थकानभरे सप्ताह को स्फूर्ती से भर देती है। इन रोमांचकारी जगहों पर आप ट्रैकिंग कर अपने वीकेंड्स को और भी यादगार बना सकते हैं।   इसी क्रम में जानते हैं हैदराबाद के समीप स्थित  7 बेहतरीन रोमांचक ट्रेकिंग डेस्टिनेशन को

अहोबिलम हिल

अहोबिलम हिल

हैदराबाद से छ घंटे की दूरी पर स्थितअहोबिलम हिल कोभगवान नरसिम्हा का निवास कहा जाता है..नरसिम्हा भगवानविष्णु का अवतार है...पौराणिक कथायों के मुताबिक, खम्भ से प्रकट होकर भगवान नरसिम्हा (विष्णु)ने प्रहलाद की जान बचाकरहिरण्यकश्यप का वध किया था। अहोबिमल पर्वत (हिल) की ऊँचाई पर "उग्र स्तंम्भ हैं, जो भगवान नरसिम्हा की उत्पत्ती के बिंदु को देखा जा सकता हैं | इस पहाड़ी पर पथरीले रास्ते होने के कारण ट्रैकिंग करते हुए ट्रैकिंग स्टिक अपने साथ अवश्य रखें। पहाड़ी के आसपास कोई रेलिंग नहीं है.इसलिए ट्रैकिंग करते हुए सावधानी बरते।PC:Gopal Venkatesan

भोंगीर फोर्ट

भोंगीर फोर्ट

हैदराबाद से 50 कि.मी. की दूरी पर स्थित भोंगीर किला एक ऊँची पहाड़ी पर बना हुआ है...इस किले पर ट्रैकिंग कर आपको रोमांच एवं इतिहास का अनोखे मेल को अनुभव करने का अवसर मिलता है। किले तक पहुंचने के लिए पत्थरों को तराश कर 250 सीढ़ियों बनाई गयीं हैं, जिनके जरिये आप किले की चोटी तक पहुंच सकते हैं..ऊपर पहुँचने के बाद आप चोटी से दूरी दूर तक फैली हरियाली और मन्त्रमुग्ध कर देने नजारों को निहार सकते हैं ।PC: BALU11

 घनपूर फोर्ट

घनपूर फोर्ट

हैदराबाद से 117 किमी की दूरी पर स्थित घनपूर किले का निर्माण 13वी शताब्दी में जब काकाटिया शासक ने कराया था। यह किला दो तालाबों के बीच स्थित है। इस किले की चोटी तक पहुँचने के लिए पर्यटक सीढियों का उपयोग कर सकते हैं, जिन्हें पत्थरों से तराश कर बनाया गया है। इस किले पर आप ट्रेकिंग के अलावा एडवेंचर गेम्स का भी लुत्फ उठा सकते हैं है जैसे "टार्जन स्विंग " टार्जन स्विंग पहाड़ी से झूलते हुए नीचे आना। यह एक बेहद ही रोमांचकारी अनुभव है।

कोलस फोर्ट

कोलस फोर्ट

इस किले का निर्माण 14 वीं शताब्दी में काकाटिया साम्राज्य के दौरान हुआ था। 1100 फीट की ऊँचाई पर स्थित इस किले में काकाटिया साम्राज्य की वास्तुकला देखने को मिलती है। इस किले की ट्रैकिंग करने के लिए आपको एक गांव से तीन किमी होकर गुजरना होगा..बेहतर होगा कि, आप अपनी ट्रैकिंग के दौरान किसी ग्रामीण गाइड की सहायता ले।

गायत्री वॉटरफाल

गायत्री वॉटरफाल

150 फिट की उंचाई से गिरने वाला गायत्री झरना आदिल बाद के पास स्थित है। यह झरना कादिम नदी से बना है जोकि (गोदावरी की दो सहायक नदियां हैं )। मानसून के मौसम में यह झरना और भी खूबसूरत हो जाता है। अगर आप प्रकृति प्रेमी है...तो वाटरफॉल आपके लिए किसी स्वर्ग से कम नही है। इस झरने तक पहुँचने के लिए आपको जंगलों और खेतो से बीच के होकर करीबन 2 घंटे की ट्रैकिंग करनी होगी....

गनरॉक हिल

गनरॉक हिल

गनरॉक हिल हैदरबाद वालों के लिए एकदम परफेक्ट वीकेंड गेटवे है..गनरॉक हिल हैदराबाद से तकरीबन 15 कि.मी. की दूरी पर स्थित है। इसका निर्माण ब्रिटीश साम्राज्य के दौरान हुआ था। यहाँ का रास्ता पथरीला हैं, यह स्थान पर्वतारोहण की शुरुआत करने वालो के लिए उपयुक्त हैं। बारिश के दौरान यहां ट्रैकिंग करने से बचे...अगर आप रॉक क्लाइम्बिंग करना चाहते हैं तो ठंड का मौसम सबसे उपयुक्त रहेगा।

नरसापुर फॉरेस्ट

नरसापुर फॉरेस्ट

शहर के कोलाहल से दूर शांत वातावरण में समय बिताने नरसापुर फॉरेस्ट एक परफेक्ट प्लेस है..इस जगह आप सुकून के पलों के साथ ट्रैकिंग का भी लुत्फ उठा सकते हैं। यह जगह हैदराबाद से करीब 50 किमी की दूरी पर स्थित है।

Please Wait while comments are loading...