• Follow NativePlanet
Share
» »अद्भुत : यहां भूत को चढ़ाया जाता है मिनरल वाटर और सिगरेट

अद्भुत : यहां भूत को चढ़ाया जाता है मिनरल वाटर और सिगरेट

हिमालय की तलहटी में बसा भारत का हिमाचल राज्य जितना खूबसूरत है उससे कहीं ज्यादा रहस्यों से भरा है। यहां आज भी कई ऐसे स्थल मौजूद हैं जिनका संबंध पौराणिक काल से बताया जाता है। पहाड़ी खूबसूरती के बीच रहस्यों से भरी अद्भुत जगहें इस राज्य को सबसे अलग बनाने का काम करती हैं।
आज हमारे साथ जानिए हिमाचल प्रदेश के एक ऐसे दुर्गम रास्ते के बारे में जिससे एक अजीबोगरीब कहानी जुड़ी है। कहा जाता है कि यह वीरान-खामोश रास्ता किसी प्रेत के कब्जे में, जहां से गुजरने वाले हर एक शख्स को भूत के स्थान पर कुछ चढ़ाना पड़ता है। आगे जानिए क्या है इस रहस्यमय रास्ते की पूरी गुत्थी।

 मिनरल वाटर और सिगरेट

मिनरल वाटर और सिगरेट

PC-ManoharD

यह विरान रास्ता है हिमाचल के मनाली-लेह मार्ग पर पड़ने वाला गाटा लूप्स। 17000 फिट की ऊंचाई पर मौजूद यह रास्ता बेहद खतरनाक और सुनसान है। कहा जाता है इसी खामोश रास्ते पर गाटा लूप्स के भूत का स्थान है। जिसकी अपना अलग किस्सा है। यहां से गुजरने वाले हर एक शख्स को भूत के स्थान पर मिनरल वाटर और सिगरेट चढ़ानी पड़ती है। हालांकि यहां डर के मारे कोई जल्दी नहीं भटकता।

यह मनाली के सबसे खतरनाक रास्तों में गिना जाता है। बता दें कि यहां मलानी-लेह एनएच पर 21 घुमावदार चक्करों वाले हेयर पिन बेंड को गेटा लूप्स कहा जाता है।अघोरी-तांत्रिकों का प्रमुख अड्डा माने जाते हैं ये प्राचीन मंदिर

 खतरनाक रास्तों में से एक

खतरनाक रास्तों में से एक

PC-Abhimanyu

मनाली-लेह मार्ग पर पड़ने वाला गाटा लूप्स भारत के सबसे खतरनाक पहाड़ी रास्तों में गिना जाता है। जहां 21 घुमावदार चक्कर पार करने पड़ते हैं। यह रास्ता भूस्खलन के लिए भी जाना जाता है। भस्खलन के कारण यह रास्ता महीनों बंद रहता है। लेकिन अब यह रास्ता अपने डरावने एहसास के लिए जाना जाता है।दिल्ली : जहां रात का सन्नाटा थामता है रूहानी ताकतों का हाथ

कहा जाता है यहां किसी लड़के की आत्मा भटकती है। जो यहां से गुजरने वाले लोगों को परेशान करती है। इसलिए कुछ लोगों ने उसके रहने के लिए एक छोटा सा स्थान बना दिया है। जहां गुजरने वाले लोग पैसा,शराब और मिनरल वाटर चढ़ाते हैं।

जुड़ी है दर्दनाक कहानी

जुड़ी है दर्दनाक कहानी

PC-ManoharD

भटकते लड़के की रूह के पीछे एक दर्दभरी कहानी जुड़ी है। कहा जाता है लगभग 15 साल पहले यहां एक ट्रक खराब हो गया था। उस दौरान हल्की बर्फबारी भी हो रही थी। ड्राइवर अपने साथी खल्लासी(सहयोगी) को ट्रक में ही छोड़ मदद के लिए पास के गांव में गया। भारी तुफान के कारण ट्रक ड्राइवर को गांव में ही 7 दिनों तक रूकना पड़ा।
अद्भुत : शाम ढलते ही यह मंदिर हो जाता है पूरी तरह गायब

तुफान थमने के बाद ड्राइवर अपने ट्रक के पास पहुंचा। लेकिन तब तक भूख-प्यास और ठंड के कारण साथी कर्मचारी की मौत हो चुकी थी।

अजीबोगरीब घटनाओं का सिलसिला

अजीबोगरीब घटनाओं का सिलसिला

PC- debabrata

अपने साथी कर्मचारी की मौत से हताश ड्राइवर ने उसका अंतिम संस्कार उसी स्थान पर किया जहां ट्रक खराब हुआ था। घटना के कुछ ही दिन बाद यहां अजीबोगरीब घटनाओं का सिलसिला शुरू हो गया। जानकारों का मानना है कि यहां से डरावनी आवाजें और वो मृत लड़का लोगों को दिखने लगा। जो आत जाते लोगों से कुछ खाने पीने के लिए मांगता।

कहा जाता है कि जो लोग उस लड़के के मांगने पर कुछ नहीं देते थे वे हादसे के शिकार हो जाया करते थे। कहा जाता है कि वो लड़का रो- रोकर खाने पीने की चीजें मांगा करता था।रहस्य : एक रात में भूतों ने बना डाला ये अद्भुत नगर

हादसों को रोकने का प्रयास

हादसों को रोकने का प्रयास

PC- ManoharD

एक समय यहां एक के बाद एक कई हादसे हुए। लगातार हो रहे हादसों के कारण लोगों ने यहां से गुजरना बंद कर दिया। धीरे-धीरे यह बात जंगल की आग की तरह पूरे हिमाचल में फैल गई। भटकती रूह को शांत कराने के लिए तांत्रिकों को बुलवाया गया। कर्मकांड करवाए गए। और उस लड़के लिए एक स्थान बनवाया गया।यहां भक्त शिवलिंग पर चढ़ाते हैं खास पानी, जानिए वजह

जिसके बाद से यहां से गुजरने वाला हर एक शख्स उस स्थान पर कुछ न कुछ चढ़ाकर की आगे निकलता है। ज्यादातर लोग पानी, शराब और सिगरेट उस स्थान पर रखते हैं। स्थानीय लोगों का मानना है कि स्थान बनाने के बाद हादसे रूक गए।

यात्रा पर पाएं भारी छूट, ट्रैवल स्टोरी के साथ तुरंत पाएं जरूरी टिप्स