» »वैष्णो देवी की यात्रा के दौरान ये चीजें करने से बचे..और अपनी यात्रा को बनाये यादगार

वैष्णो देवी की यात्रा के दौरान ये चीजें करने से बचे..और अपनी यात्रा को बनाये यादगार

Written By: Goldi

उंचे पहाड़ो पर विराजमान माता वैष्णो देवी के दर्शन करने हर साल लाखों की तादाद में यात्री पहुंचते हैं। जो भी सच्चे दिल से माता का दर्शन करने जाता है, उसकी हर मुराद पूरी होती है। हालांकि इसके साथ यह मिथक भी जुड़ा है कि माता वैष्णो देवी के दरबार में वही पहुंच पाता है, जिसे माता का बुलावा आता है।

मनमोहक प्राकतिक दृश्यों से भरपूर त्रिकूट पर्वत की हसीन वादियों से होती हुई कड़ी चढ़ाई के बाद वह पवित्र गुफा है जिसमें माता विराजित हैं। यह स्थान देश का एक प्रमुख तीर्थ स्थल है। हर साल यहाँ दूर-दूर से लाखों श्रद्धालु माँ के दर्शन के लिए आते हैं।

चलों बुलावा आया है माता ने बुलाया

मंदिर का मुख्‍य आकर्षण गुफा में रखे तीन पिंड है। इस मंदिर की देखरेख की जिम्‍मेदारी वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड की है। आंध्र प्रदेश के तिरुमला वेंकटेश्वर मंदिर के बाद इसी मंदिर में भक्‍तों द्वारा सबसे ज्‍यादा दर्शन किए जाते है। इस मंदिर में आने के लिए सबसे पहले कटरा पहुंचे और वहां से चढ़ाई शुरू कर दें। यहां चढ़ाई रात के किसी भी पहर से शुरू की जा सकती है।

प्रकृति के बीच बसा शांति का पर्याय- जापानी मंदिर!

माता के दरबार में अपनी हाजरी लगाने से पहले पहले जाने की, वैष्णो देवी की यात्रा में क्या करना चाहिए और क्या करने से बचना चाहिए.........

कटरा से पर्ची ले

कटरा से पर्ची ले

मंदिर की यात्रा शुरू करने से पहले कटरा से पर्ची लेना बिल्कुल भी ना भूले..यह पर्ची सिर्फ छ घंटे के लिए मानी होती है....इसलिए पर्ची लेने के बाद छ घंटे के भीतर ही अपनी यात्रा शुरू कर दें।

पहले किराया पता कर ले

पहले किराया पता कर ले

यात्रा शुरू करने से पहले पालकी, टकसाल के किराया पता कर ले...वैष्णो देवी यात्रा नियम का सख्ती से पालन किया जाता है ताकि कोई पर्यटकों से ज्यादा पैसों की वसूली ना कर सके।

PC:Nckumbhkar

पर्ची ले

पर्ची ले

यात्रा की पर्ची के लिए लाइन में लगे...पर्ची मिलने के बाद अपने समूह की घोषणा होने तक का इन्तजार करें..जैसे ही घोषणा हो, उसके बाद आप अपनी माता के दरबार के लिए अपनी यात्रा शुरू कर सकते है

PC:Abhishek Chandra

साफ़ कपड़े पहने

साफ़ कपड़े पहने

दर्शन को जाने से पहले स्वच्छ कपड़े ही पहने ।

PC: Raulcaeser

कीमती सामान लाकर में रखें

कीमती सामान लाकर में रखें

यात्रा शुरू होने से पहले अपना सभी कीमती सामान धर्मशाला में बने लाकर में रख दें।

PC:Nitin3233

पैदल चढ़ाई करें

पैदल चढ़ाई करें

पैदल चढ़ाई करने में छड़ी आपके लिए बेहद मददगार सिद्ध होगी। ट्रेकिंग शूज चढ़ाई में आपके लिए बहुत आरामदायक होंगे।

दवाई रखना ना भूले

दवाई रखना ना भूले

भवन ऊँचाई पर स्थित होने से यहाँ तक की चढ़ाई में आपको उलटी व जी मचलाने संबंधी परेशानियाँ हो सकती हैं, जिनसे बचने के लिए अपने साथ आवश्यक दवाइयाँ जरूर रखें।

PC:Vinayaraj

माँ का जयकारा लगायें

माँ का जयकारा लगायें

मां का जयकारा आपके रास्ते की सारी मुश्किलें हल कर देगा।

PC:Vinayaraj

इलेक्ट्रिकल सामान वर्जित

इलेक्ट्रिकल सामान वर्जित

यात्रा के दौरान कोई भी इलेक्ट्रिकल सामान अपने साथ ना रखे...मोबाइल कैमरा, वीडियो कैमरा सभी वर्जित है।

PC: Vinayaraj

भडकाऊ कपड़े ना पहने

भडकाऊ कपड़े ना पहने

यात्रा के दौरान भडकाऊ कपड़े ना पहने..मंदिर की गरिमा का सम्मान करें।

PC:Piyush Tripathi

सह-तीर्थयात्रियों की भावनाओं को समझे

सह-तीर्थयात्रियों की भावनाओं को समझे

वैष्णो देवी यात्रा में सह-तीर्थयात्रियों की भावनाओं को समझे और बेहतरीन सुरक्षा में अपना योगदान करें।

PC:Bittudubeyji

विश्राम करने से बचें.

विश्राम करने से बचें.

यात्रा के दौरान पहाड़ियों पर विश्राम करने से बचें..

PC: KuwarOnline

प्लास्टिक का उपयोग ना करें

प्लास्टिक का उपयोग ना करें

यात्रा के दौरान प्लास्टिक का उपयोग ना करें...सफाई का ध्यान रखते हुए कूड़े को फेंकने के लिए कूड़ेदान का उपयोग करें..

PC: Mattes

टिप देना वर्जित

टिप देना वर्जित

वैष्णो देवी यात्रा नियम के मुताबिक, मंदिर के किसी भी व्यक्ति को दक्षिणा या टिप देना वर्जित है।

PC: Arnab.pani1

कम से कम सामान अपने साथ ले जाएँ

कम से कम सामान अपने साथ ले जाएँ

चढ़ाई के वक्त जहाँ तक हो सके, कम से कम सामान अपने साथ ले जाएँ ताकि चढ़ाई में आपको कोई परेशानी न हो।

PC: Raju hardoi

Please Wait while comments are loading...