» »भारत के 5 ऐसे शानदार हवाई अड्डे, जिनके सामने दुनिया के अन्य कई हवाई अड्डे कुछ भी नहीं हैं!

भारत के 5 ऐसे शानदार हवाई अड्डे, जिनके सामने दुनिया के अन्य कई हवाई अड्डे कुछ भी नहीं हैं!

Posted By: Staff

पूरी दुनिया में एक हवाई यात्री को सबसे अच्छा एयरपोर्ट चुनने के लिए आधुनिक एहसास व कुशलता का ध्यान रखना पड़ता है। कुछ हवाई अड्डे जो पहले ज़माने में सबसे अच्छे कहलाये जाते थे, वे अब तक या तो बहुत भीड़भड़ाके की वजह से अपनी अद्भुत्ता खोते जा रहे हैं या फिर कहीं मौसम की वजह से समस्याएं आ रही हैं या फिर कहीं परिष्कृत हवाई यातायात नियंत्रण की कमी है।

पहली हवाई यात्रा में...गलती से भी ना करे ये चीजें.वरना हो सकती है जेल

इन सबके विपरीत, भारत में हवाई अड्डों के मौजूदा बुनियादी ढांचों के उन्नयन के लिए खूब पैसे खर्च किये गए हैं। पर यहाँ पैसे सिर्फ ऐसे ही खर्च नहीं हो रहे हैं, इनका सकारात्मक परिणाम भी मिला है कि, दिल्ली और मुम्बई के हवाई अड्डे 25 से 40 मिलियन यात्रियों को सँभालते हुए दुनिया के 5 सबसे बेस्ट हवाई अड्डों की सूचि में शामिल हैं।

इंदिरा गाँधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा, नई दिल्ली

इंदिरा गाँधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा, नई दिल्ली

इंदिरा गाँधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा, देश की राजधानी दिल्ली का प्राथमिक अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा है। लगभग 60 मिलियन यात्रियों की वार्षिक क्षमता के साथ यह भारत का सबसे व्यस्ततम हवाई अड्डा भी है। यहाँ एक एकीकृत अंतरराष्ट्रीय व घरेलु टर्मिनल है। यहाँ स्थित टर्मिनल-3, 9 स्तरीय यात्री टर्मिनल भवन है जिसमें 1. 2 किलोमीटर लंबे दो खभे हैं। कहा जाता है कि यह टर्मिनल दुनिया का छठा सबसे लंबा टर्मिनल है। यह हवाई अड्डा, दुनिया के सबसे अच्छे हवाई अड्डों में दूसरे नंबर पर घोषित किया गया है। लगातार तीन बार इस हवाई अड्डे को, एसीआई द्वारा हवाई सेवा गुणवत्ता का लिए पुरस्कृत किया गया है।
PC: Harvinder Chandigarh

छत्रपति शिवाजी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा, मुम्बई

छत्रपति शिवाजी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा, मुम्बई

छत्रपति शिवाजी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा, मुम्बई के उपनगरीय इलाके सांताक्रूज़ और सहर में लगभग 1450 एकड़ के क्षेत्रफल में फैला हुआ है। मुम्बई का यह हवाई अड्डा साल में लगभग 25 मिलियन यात्रियों को सेवा प्रदान करता है। इसे 2006 में एक निजी ऑपरेटर को लीज़ में दिया गया और यह प्रमुख नवीकरण और उन्नयन के दौर से गुज़रा। यहाँ एक नए घरेलु(डोमेस्टिक) टर्मिनल का कार्य चल रहा है और एक नए अंतरराष्ट्रीय टर्मिनल का फ़रवरी 2014 में खुलने के लिए उद्घाटन किया गया। फ़िलहाल, अब भी यहाँ रात में यात्रा के दौरान सुरक्षा जांच में लगने वाली लंबी लाइन की समस्या से यात्रियों को गुज़रना ही पड़ता है।

PC: Captain Catan

राजीव गाँधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा, हैदराबाद

राजीव गाँधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा, हैदराबाद

एक अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा जो हैदराबाद महानगर के दक्षिण में लगभग 22 किलोमीटर पर शमशाबाद में स्थित है। यह एक निजी कंपनी द्वारा संचालित किया जाता है और साल में लगभग 7 मिलियन यात्रियों को सेवा प्रदान करता है। यह हवाई अड्डा पंक्तिबद्ध बैगेज स्क्रीनिंग मशीन, चेक इन, देर होने से बचने के लिए इमीग्रेशन काउंटर्स और भीड़ को अच्छी तरह से नियंत्रित करने के लिए विश्व स्तरीय सुविधाओं से उत्कृष्ट है।

PC:vincelaconte

बेंगलुरु अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा, बेंगलुरु

बेंगलुरु अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा, बेंगलुरु

हर साल 10 मिलियन से ज़्यादा यात्रियों को सेवा प्रदान करते हुए बेंगलुरु अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा, देश का तीसरा सबसे व्यस्ततम हवाई अड्डा है। लगभग 4000 एकड़ में फैला यह हवाई अड्डा 2008 में शुरू हुआ था, जिसका निर्माण एक निजी कंपनी द्वारा करवाया गया। सिंगल, पूरी तरह से वातानुकूलित, यह दो स्तरीय इमारत एक समय में लगभग 3,000 अंतरराष्ट्रीय और घरेलू यात्रियों को समायोजित करने में सक्षम है।

PC:sarang

 चेन्नई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा, चेन्नई

चेन्नई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा, चेन्नई

चेन्नई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा, दक्षिण भारत में आगमन और प्रस्थान के लिए प्रमुख केंद्र है। यह हर साल लगभग 8 मिलियन यात्रियों को सेवा प्रदान करता है जिनमें से आधे घरेलु यात्रा करने वाले यात्री होते हैं। यह हवाई अड्डा भारत सरकार द्वारा चलाया जा रहा है और इसके टर्मिनलों का पुनर्विकास किया गया है। इसका नया घरेलु टर्मिनल अप्रैल 2013 में खोला गया और उसके कुछ महीनों बाद ही अंतरराष्ट्रीय टर्मिनल को भी चालू किया गया है।

PC: Tshrinivasan

Please Wait while comments are loading...