• Follow NativePlanet
Share
» »जानिए ऑफ सीजन के दौरान ट्रैवल करने के फायदे

जानिए ऑफ सीजन के दौरान ट्रैवल करने के फायदे

अनुभवी और सामान्य ट्रैवलर्स में काफी अंतर होता है, ये अंतर हम उनके व्यवहारिक ज्ञान के आधार पर लगा सकते हैं। हर मौसम यात्रा करने वाले साहसिक ट्रैवलर्स को न सिर्फ विभिन्न स्थानों के बारे में पता होता है बल्कि जगह से संबंधित अतिरिक्त जानकारी का भी उन्हें अच्छी तरह बोध होता है। जैसे यात्रा करने का सही समय, फ्लाइट-ट्रेन बुकिंग, आवास संबंधी जानकारी इसके अलावा भी अन्य बहुत सी बातों के बारे में उन्हें पता होता है।

अमूमन पर्यटक मौसम के अनुरूप (सीजनल) ही यात्रा करते हैं जैसे सर्दियों में गर्म स्थानों की सैर और गर्मियों में पर्वतीय स्थलों का यात्रा। लेकिन आपने कई बार देखा होगा कि बहुत से देशी-विदेशी ट्रैवलर्स ऑफ सीजन में यात्रा करते हैं...दरअसल यह भी उनके अनुभव का ही एक अंश है। आज हमारा लेख इसी विषय पर आधारित है, जानिए सीजनल यात्रा से अलग ऑफ सीजन यात्रा करने के लाभ। 

भीड़-भाड़ से मुक्ति

भीड़-भाड़ से मुक्ति

सीजनल यात्रा की सबसे बड़ी दिक्कत पर्यटकों की भीड़-भाड़, जिसके कारण बहुत से सैलानी अमुक स्थानों की सैर का आनंद ठीक से नहीं ले पाते हैं। यह सामान्य सी बात है कि गर्मियों के दौरान ज्यादातर पर्यटक हिल स्टेशन और समुद्री तटों की सैर का प्लान बनाते हैं, जिसमें देशी के साथ-साथ विदेशी सैलानी भी शामिल रहते हैं। इस भीड़-भाड़ वाले सफर में मौसम भले आपके अनुकूल रहे पर जहां बात आनंद की हो वो आप सही से नहीं ले पाएंगे।

एक आरामदायक समय बिताने के लिए आपको उस भीड़ में किसी एकांत स्थल की खोज करनी होगी। लेकिन अगर आप ऑफ सीजन यात्रा करते हैं तो आपको इस भीड़ भरे सफर से मुक्ति जरूर मिल जाएगी। यह है पहला लाभ ऑफ सीजन यात्रा करने का।

मंहगे टिकट से राहत

मंहगे टिकट से राहत

किसी भी यात्रा की सबसे बड़ी दिक्कत होती है टिकट बुकिंग। चाहे फ्लाइट्स का टिकट हो या रेल-बस का। और यह दिक्कत सीजनल यात्रा में सबसे ज्यादा देखने को मिलती है। क्योंकि इस दौरान सामान्य से ज्यादा टिकट बुकिंग होती है। जिस वजह से एयरलाइंस और बस ग्राहकों से ज्यादा पैसा वसूल लेती है। सुखद यात्रा के लिए आप पहले टिकट बुक करना उचित समझते हैं।

कई बार बहुत से यात्री बल्क में टिकट बुक करा लेते हैं। जिसे बाद में बेचने की दिक्कत खड़ी हो जाती है। ऑफ सीजन में यह सारी दिक्कतों से आपको छुटकारा मिल जाता है। आपको जरूरत नहीं पड़ती की पहले से टिकट बुक करने की।

गर्मियों में लंबी छुट्टियां बिताएं हिमालय के इन खास स्थानों पर

मंहले आवासों से मुक्ति

मंहले आवासों से मुक्ति

यात्रा के के लिए टिकट बुकिंग के साथ-साथ ठहरने के लिए होटल-लॉज बुक करना भी एक समस्या है। सीजनल यात्रा के दौरान भीड़ ज्यादा होती है इसलिए होटल ग्राहकों से ज्यादा पैसा वसूलने की कोशिश करते हैं।

बिना किसी आवासीय व्यवस्था के आप किसी भी स्थान के भ्रमण का आनंद ले ही नहीं सकते हैं। लेकिन ऑफ सीजन में ऐसा नहीं है, सबसे पहली बात आपको होटल की प्री बुकिंग कराने की जरूरत नहीं पड़ती और कमरे काफी सामान्य दरो में उपलब्ध हो जाते हैं।

सीजनल यात्रा में ऐसा नहीं है, आपको प्री बुकिंग के चक्कर में काफी ज्यादा पैसा खर्च करना पड़ जाता है। इसलिए ऑफ सीजन में भ्रमण का यह भी एक खास फायदा है।

इन गर्मियों यहां उठाएं इन खास एडवेंचर का आनंद, लें रोमांचक अनुभव

गतिविधियों का आनंद

गतिविधियों का आनंद

पीक सीजन में सैलानियों की संख्या इतनी बढ़ जाती है कि आपको किसी एडवेंचर गतिविधि का आनंद लेने के लिए भी कई घंटे कतार में लगा रहना पड़ता है। जैसे अगर आप गर्मियों के दिनों पर गुलमर्ग या श्रीनगर की यात्रा करें तो आपको डल झील के प्रसिद्ध शिकारों की सैर करने के लिए कतार लगानी पड़ जाती है। कई बार पैसा कमाने के चक्कर में राइड की समय सीमा भी कम कर दी जाती है।

लेकिन ऑफ सीजन में ऐसा नहीं है, अगर उस दौरान किसी एडवेंचर को करने के लिए ऑप्शन है तो आप बिना कतार में लगे रोमांचक आनंद ले सकते हैं। बोट राइड, केबल कार राइड का आनंद आप बिना किसी दिक्कत के उठा सकते हैं।

अधिक गंतव्यों की सैर

अधिक गंतव्यों की सैर

सामान्य यात्रा की तुलना में पीक सीजन ज्यादा खर्चिला होता है। इसलिए यात्री ज्यादा जगह का भ्रमण नहीं कर पाते हैं। लेकिन ऑफ सीजन में ऐसा नहीं है आप कम बजट में ज्यादा गंतव्यों के भ्रमण का प्लान बना सकते हैं। अगर आपके पास बजट से अनुसार ज्यादा पैसा होगा तो आप ज्यादा लग्जरी टाइम स्पेंड कर सकते हैं। इस लेख का मकसद आपको यह बताना है कि आप ऑफ सीजन में भी ट्रैवल का भरपूर आनंद लिया जा सकता है। वो भी ज्यादा पैसा खर्च किए बिना।

इसका बिलकुल यह मतलब नहीं है कि आप सर्दियों में हिमालय की यात्रा कर डालें और गर्मी में थार के रेगिस्थान की यात्रा। सामान्य अनुकूल स्थलों का प्लान ऑफ सीजन में बनाया जा सकता है। आप इस दौरान दिल्ली, वाराणसी, जयपुर, कोलकाता आदि स्थलों की सैर का प्लान बना सकते हैं।

यात्रा पर पाएं भारी छूट, ट्रैवल स्टोरी के साथ तुरंत पाएं जरूरी टिप्स