» »देखें तस्वीरें और जानें क्यों लद्दाख है एडवेंचर के शौकीनों और डर को जीतने वालों का हॉटस्पॉट

देखें तस्वीरें और जानें क्यों लद्दाख है एडवेंचर के शौकीनों और डर को जीतने वालों का हॉटस्पॉट

By: Belal Jafri

अगर हम आपसे ये पूछें कि खूबसूरती, वो भी प्राकृतिक खूबसूरति क्या है ?तो आप हमें अलग अलग जवाब देंगे और हो सकता है कि आपके लिए भी खूबसूरती को डिफाइन करना एक बेहद मुश्किल काम हो। बहरहाल आज हम आपको अवगत कराने जा रहे हैं भारत के एक ऐसे खूबसूरत राज्य से जिसकी खूबसूरती को शब्दों में नहीं पिरोया जा सकता। ये स्थान जितना सुन्दर है यहां के लोग भी उन्हें ही विनम्र और सुसंस्कृत हैं।

जी हां हम बात कर रहे हैं भारत के शीश पर स्थित मुकुट लद्दाख की। उत्तरी भारत के जम्मू और कश्मीर प्रान्त में एक धरातल है, जो उत्तर में काराकोरम पर्वत और दक्षिण में हिमालय पर्वत के बीच में है। यह भारत के सबसे विरल जनसंख्या वाले भागों में से एक है। लद्दाख जिले का क्षेत्रफल 97,776 वर्ग किमी. है। इसके उत्तर में चीन तथा पूर्व में तिब्बत की सीमाएँ हैं।

सीमावर्ती स्थिति के कारण सामरिक दृष्टि से इसका बड़ा महत्व है। इसे लास्ट संग्रीला, लिटिल तिब्बत, मून लैंड या ब्रोकन मून आदि के नाम से भी जाना जाता है। तो आइये तस्वीरों के माध्यम से और करीब से जाना जाये लद्दाख को।तो अब देर किस बात की आइये कुछ चुनिंदा तस्वीरों के माध्यम से और करीब से जाना जाये लद्दाख को।

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

इस खूबसूरत फ़ोटो में आप देख सकते हैं कि लद्दाख के टेढ़े मेढ़े और पथरीले रास्तों पर एक कार जा रही है।

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

लद्दाख की एक ऐसी खूबसूरत फ़ोटो जिसको देखकर आप लद्दाख की बेपनाह खूबसूरती पर मोहित हो उठेंगे।

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

लद्दाख एक धरातल है, जो उत्तर में काराकोरम पर्वत और दक्षिण में हिमालय पर्वत के बीच में है।

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

लद्दाख की खूबसूरती को बयां करती ये सुन्दर फ़ोटो।

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

लद्दाख जिले का क्षेत्रफल 97,776 वर्ग किमी. है। इसके उत्तर में चीन तथा पूर्व में तिब्बत की सीमाएँ हैं।

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

लद्दाख, उत्तर-पश्चिमी हिमालय के पर्वतीय क्रम में आता है, जहाँ का अधिकांश धरातल कृषि योग्य नहीं है।

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

लद्दाख घाटी के वो टेढ़े मेढ़े और पथरीले रास्तों जो ये बताने के लिए काफी हैं कि यहां की यात्रा कोई बच्चों का खेल नहीं है।

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

आपको बताते चलें कि लद्दाख भारत के सबसे विरल जनसंख्या वाले भागों में से एक है।

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

गॉडविन आस्टिन (के2, 8,611 मीटर) और गाशरब्रूम I (8,068 मीटर) यहां की सर्वाधिक ऊँची चोटियाँ हैं। यहाँ की जलवायु अत्यंत शुष्क एवं कठोर है।

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

लद्दाख में कई स्थानों पर मिले शिलालेखों से पता चलता है कि यह स्थान नव-पाषाणकाल से स्थापित है।

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

लद्दाख की सीमाएं पूर्व में तिब्बत से, दक्षिण में लाहौल और स्पीति से, पश्चिम में जम्मू कश्मीर व बाल्टिस्तान से और सुदूर उत्तर में कराकोरम दर्रे के उस तरफ जिनजियांग के ट्रांस कुनलुन क्षेत्र से मिलती हैं।

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

बौद्ध धर्म इस क्षेत्र का प्रमुख धर्म है, मठ या गोम्पा, लद्दाख के आकर्षणों की सूची में प्रमुख विशेषता रखते हैं।

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

हेमिस मठ, शंकर गोम्पा, माथो मठ, शे गोम्पा, स्पितुक मठ, और स्तकना मठ जैसे कुछ मठ इस क्षेत्र के सबसे उल्लेखनीय मठों में से हैं।

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

ऐसा माना जाता है कि लद्दाख मूल रूप से किसी बड़ी झील का एक डूब हिस्सा था, है, जो कई वर्षों के भौगोलिक परिवर्तन के कारण, लद्दाख की घाटी बन गया।

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

गाल्डन नमछोट, बुद्ध पूर्णिमा, दोसमोचे और लोसर नामक त्यौहार पूरे लद्दाख में बड़ी धूम-धाम से मनाए जाते है और इस दौरान यहाँ पर्यटकों की भीड़ उमड़ पड़ती है।

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

लद्दाख में दोसमोचे नामक त्योहार दो दिनों तक चलता है जिसमें बौद्ध भिक्षु नृत्य करते हैं, प्रार्थनाएँ करते हैं और क्षेत्र से दुर्भाग्य और बुरी आत्माओं को दूर रखने के लिए अनुष्ठान करते हैं।

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

इस क्षेत्र के ऊबड़-खाबड़, बीहड़ जैसे भूभाग के कारण, पर्यटकों को अपने साथ वाहन के अतिरिक्त पार्ट्स रख कर चलने की सलाह दी जाती है, यह किसी भी आपात स्थिति में मददगार साबित हो सकता है।

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

लद्दाख के बारे में खास बात ये है कि पूरे क्षेत्र में विभिन्न रेस्तरां और होटलों में आपको थुपका और मोमो खाने को मिलेगा हमारा दावा है कि ऐसे मोमो और थुपका आपने पहले कभी नहीं खाये होंगे।

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

इस क्षेत्र में भ्रमण के लिए पर्यटक टैक्सी या बाइक किराय पर ले सकते हैं।

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

गौरतलब है कि यहां आने वाले लोग स्वयं के वाहन से इस स्थान की यात्रा करना ज्यादा पसंद करते हैं, जो कि काफी सुविधाजनक होता है।

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

जो पर्यटक लद्दाख जाने की योजना बना रहे हैं वे अपने गंतव्य तक वायु, रेल और सड़क मार्ग द्वारा पहुँच सकते हैं।

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

पर्यटक, मई से सितम्बर के बीच किसी भी समय लद्दाख यात्रा की योजना बना सकते हैं।

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

इस समय यहाँ का मौसम खुशनुमा होता है और तापमान 33° सेंटीग्रेट से ज्यादा नहीं हो पाता है।

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

सर्दियों में यहां भारी बर्फ़बारी होती है और तापमान माइनस में पहुँच जाता है।

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

यहां आने के बाद आप कैमल सफारी को जरूर ट्राई करें इनपर बैठ के लद्दाख घूमने का अपना एक अलग ही मज़ा है।

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

लद्दाख में गर्मियां शुष्क और खुशनुमा होती हैं। गर्मियों में तापमान 3 से 35 डिग्री तक तथा सर्दियों में -20 से -35 डिग्री तक पहुंच जाता है।

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

लद्दाख एक उच्च अक्षांसीय मरुस्थल है क्योंकि हिमालय मानसून को रोक देता है। पानी का मुख्य स्रोत सर्दियों में हुई बर्फबारी है।

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

लद्दाख में द्रास, सूरू और जांस्कर में भारी बर्फबारी होती है और ये स्थान कई महीनों तक देश के बाकी हिस्सों से कटे रहते हैं।

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

भारत में कराकोरम रेंज की सबसे पूर्व में स्थित सासर कांगडी सबसे ऊंची चोटी है। इसकी ऊंचाई 7672 मीटर है।

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

तस्वीरों में देखें अमेजिंग लद्दाख को

अगर आप वाक़ई एडवेंचर के शकीन हैं और डर को जीतने का साहस रखते हैं तो एक बार लद्दाख अवश्य आएं।