Search
  • Follow NativePlanet
Share
» »लखनऊ से जुड़ी ये बातें शायद ही जानते होंगे आप!

लखनऊ से जुड़ी ये बातें शायद ही जानते होंगे आप!

By Goldi

नवाबों की नगरी</a></strong> के नाम से विख्यात लखनऊ हर बार अपने पर्यटकों को लुभाता है।यह हमेशा से ही अपनी नज़ाक़त और मेहमान नवाज़ी के लिए मशहूर रहा है। इस शहर की मीठी जुबां और तहज़ीब किसी को भी अपना दीवाना बना दे।<br><strong><a href=इंडिया के बेस्ट बैकवाटरटूरिस्ट डेस्टिनेशन" title="नवाबों की नगरी के नाम से विख्यात लखनऊ हर बार अपने पर्यटकों को लुभाता है।यह हमेशा से ही अपनी नज़ाक़त और मेहमान नवाज़ी के लिए मशहूर रहा है। इस शहर की मीठी जुबां और तहज़ीब किसी को भी अपना दीवाना बना दे।
इंडिया के बेस्ट बैकवाटरटूरिस्ट डेस्टिनेशन" />नवाबों की नगरी के नाम से विख्यात लखनऊ हर बार अपने पर्यटकों को लुभाता है।यह हमेशा से ही अपनी नज़ाक़त और मेहमान नवाज़ी के लिए मशहूर रहा है। इस शहर की मीठी जुबां और तहज़ीब किसी को भी अपना दीवाना बना दे।
इंडिया के बेस्ट बैकवाटरटूरिस्ट डेस्टिनेशन

लखनऊ </a></strong>को कभी 'सोने की नगरी' और 'शिराज ए हिंद' भी कहा जाता था। जहाँ कदम कदम पर कहकहे, हैं बुलबुलों के चह-चहे। लखनऊ का नाम आते ही तहज़ीब और नज़ाकत की ना जाने क्यूँ बरबस ही याद आ जाती है। लखनऊ के बाशिंदे जो वाक़ई लखनऊ की सरज़मीं से जुड़े हुए हैं उनकी हर बात इतने सलीके-तरीके और मीठे अंदाज़ में होती है की बस ऐसा लगता है मानो मुंह से फूल झड़ रहे हों।<br><strong> <a href=दुनिया के सात अजूबों को देखें..."सेवेन वंडर्स इन कोटा" में" title="लखनऊ को कभी 'सोने की नगरी' और 'शिराज ए हिंद' भी कहा जाता था। जहाँ कदम कदम पर कहकहे, हैं बुलबुलों के चह-चहे। लखनऊ का नाम आते ही तहज़ीब और नज़ाकत की ना जाने क्यूँ बरबस ही याद आ जाती है। लखनऊ के बाशिंदे जो वाक़ई लखनऊ की सरज़मीं से जुड़े हुए हैं उनकी हर बात इतने सलीके-तरीके और मीठे अंदाज़ में होती है की बस ऐसा लगता है मानो मुंह से फूल झड़ रहे हों।
दुनिया के सात अजूबों को देखें..."सेवेन वंडर्स इन कोटा" में" />लखनऊ को कभी 'सोने की नगरी' और 'शिराज ए हिंद' भी कहा जाता था। जहाँ कदम कदम पर कहकहे, हैं बुलबुलों के चह-चहे। लखनऊ का नाम आते ही तहज़ीब और नज़ाकत की ना जाने क्यूँ बरबस ही याद आ जाती है। लखनऊ के बाशिंदे जो वाक़ई लखनऊ की सरज़मीं से जुड़े हुए हैं उनकी हर बात इतने सलीके-तरीके और मीठे अंदाज़ में होती है की बस ऐसा लगता है मानो मुंह से फूल झड़ रहे हों।
दुनिया के सात अजूबों को देखें..."सेवेन वंडर्स इन कोटा" में

गोमती नदी के किनारे बसा यह ऐतिहासिक नगर अपनी तहज़ीब के लिए दुनिया भर में मशहूर है, इसलिए इस शहर को 'शहर ऐ अदब' भी कहा जाता है। अपने स्थापत्य स्मारकों, ऐतिहासिक प्रासंगिकताओं, संस्कृति और लज़ीज़ व्यंजन के लिए जाने जाने वाले इस शहर में सारे उम्र के पर्यटकों के लिए कुछ न कुछ है।

दोस्तों के संग करना है कुछ एडवेंचरस तो हो जाए इस बार बंजीजम्पिंगदोस्तों के संग करना है कुछ एडवेंचरस तो हो जाए इस बार बंजीजम्पिंग

चलिए आज हम इसी सांस्कृतिक क्षेत्र, व 'शहर ऐ अदब',लखनऊ के बारे में कुछ दिलचस्प बातों को जानते हैं।

चारबाग

चारबाग

लखनऊ रेलवे स्टेशन वही जगह है जहां महात्मा गांधी ने पंडित जवाहर लाल नेहरू से दिसंबर 1 916 में पहली बार पहली बार मुलाकात की थी।PC:Mohit

दो स्टेशन

दो स्टेशन

लखनऊ रेलवे स्टेशन में दो स्टेशन हैं - लखनऊ चारबाग स्टेशन और लखनऊ जंक्शन। जबकि लखनऊ चारबाग स्टेशन 'उत्तरी रेलवे' के अंतर्गत आता है, लखनऊ जंक्शन 'उत्तर पूर्वी रेलवे' के अंतर्गत आता है।

सबसे खुशहाल शहर

सबसे खुशहाल शहर

आईएमआरबी इंटरनेशनल और एलजी कॉरपोरेशन द्वारा किए गए सर्वेक्षण में लखनऊ को 'भारत का दूसरा सबसे खुशहाल शहर' का स्थान दिया गया है। इसके अलावा, यह 9 000 से अधिक सुरक्षा कैमरों वाले भारत का पहला शहर है।PC:Harshvardhansonkar

 रूमी दरवाजा

रूमी दरवाजा

पुराने लखनऊ यानी चौक में स्थित रूमी दरवाजा को तुर्की गेट के रूप में जाना जाता है इसे यह नाम से मिला क्योंकि इसका आर्किटेक्चर रोम के कारीगर से बनवाया गया था।PC:Faizhaider

बडा मंगल

बडा मंगल

बडा मंगल, भगवान हनुमान का उत्सव केवल लखनऊ में मनाया जाता है। यह उत्सव गरीबों को खाना देने का एकमात्र उद्देश्य के लिए शुरू किया गया था।

गोमती चक्र

गोमती चक्र

गोमती चक्र, एक दुर्लभ प्राकृतिक सम्पदा है जोकि गोमती नदी में पाया जाता है। प्राचीन समय में यह गहने बनाने के लिए इस्तेमाल किया जाता था, माना जाता है कि इससे घर में सुख सम्रद्धि आती है।

एशिया का सबसे बड़ा पार्क

एशिया का सबसे बड़ा पार्क

लखनऊ में जनेश्वर पार्क एशिया का सबसे बड़ा पार्क है..इस पार्क में 40 एकड़ में फैली झील गंडोला नाव की सवारी पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करती है।PC: Mohit

 हजरतगंज

हजरतगंज

लखनऊ के दिल हजरतगंज में बिजली के तार नहीं हैं, सभी बिजली के तार भूमिगत हैं।

समय के साथ बदला नाम

समय के साथ बदला नाम

समय के साथ शहर का नाम लक्ष्मणपुरी से लक्ष्मणौत तक लक्नतनट तक लक्नौउ से लक्नौ और फिर आखिरकार लखनऊ में बदल गया।PC:Ojha.iiitm

लखनऊ रेस कोर्स

लखनऊ रेस कोर्स

लखनऊ रेस कोर्स भारत में सबसे लंबी रेस कोर्स है, जिसमें 3.5 किमी ट्रैक की लंबाई है।

सिटी मोंटेसरी स्कूल

सिटी मोंटेसरी स्कूल

सिटी मोंटेसरी स्कूल, लखनऊ में दुनिया के सबसे ज्यादा स्टूडेंट्स है।

खाना

खाना

हार्ड-कोर नॉन वेजिटेरियन के लिए लखनऊ स्वर्ग से कम नहीं है। यहां आपको विभिन्न तरह की बिरयानियां, कबाब, कोरमा, नाहरी कुल्चे, शीरमाल, ज़र्दा, रुमाली रोटी और ऐसे ही हजारों किस्म की वैराइटियां मिल जाएंगी।PC: ShravanSV

भारत का सबसे पुराना चिड़ियाघर

भारत का सबसे पुराना चिड़ियाघर

लखनऊ चिड़ियाघर भारत का सबसे पुराना चिड़ियाघर है। इसे 1 9 21 में स्थापित किया गया था।PC: DR PURNIMA

तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X