• Follow NativePlanet
Share
» »अद्भुत : पूर्वोत्तर भारत के ऐसे नजारे शायद ही आपने देखें हों

अद्भुत : पूर्वोत्तर भारत के ऐसे नजारे शायद ही आपने देखें हों

भारत का उत्तर-पूर्वी भाग प्राकृतिक पर्यटन के क्षेत्र में काफी उन्नत माना जाता है। यहां मौजद पहाड़ी गांव, घाटियां, नदी, झरने-तालाब और यहां कि संस्कृति बहुत हद तक सैलानियों को यहां आने पर मजबूर करती है। भारत का पूर्वोत्तर भाग 7 राज्यों से मिलकर बना है, जिन्हे सात बहने कहकर भी संबोधित किया जाता है। ये सातों अपने प्राकृतिक खजाने के लिए पूरी दुनिया में जाने जाते हैं।

यही वजह है भारत आने वाले ज्यादातर विदेशी पर्यटक पूर्वोत्तर की सैर का आनंद जरूर लेते हैं। भारत के उत्तर-पूर्वी राज्य सांस्कृतिक दृष्टि से काफी ज्यादा मायने रखते हैं।

यहां का एक बड़ा आदिवासी समाज प्रत्यक्ष रूप से वनों पर आश्रित है। इस लेख के माध्यम से आज हमारे साथ जानिए पूर्वोत्तर भारत के चुनिंदा खास पर्यटन स्थलों के बारे में, जहां सैलानी ज्यादा आना पसंद करते हैं। 

असम का काज़ीरंगा नेशनल पार्क

असम का काज़ीरंगा नेशनल पार्क

PC- Anuwar ali hazarika

असम का काज़ीरंगा नेशनल पार्क सैलानियों के बीच एक लोकप्रिय पर्यटन गंतव्य है। जो अपने एक सींग वाले राइनो (लुप्त प्राय प्रजाति) के लिए दुनिया भर में जाना जाता है। यहां तकरीबन 2401 गैंडे रहते हैं। यह पार्क राज्य के गोलाघाट और नागांव जिले की सीमा क्षेत्र में आता है। आप यहां जंगल सफारी का रोमांचक आनंद ले सकते हैं। इसके अलावा आप यहां जंगली जानवरों और पक्षियों की विभिन्न प्रजातियों को भी देख सकते हैं।

बारिश की राजधानी

बारिश की राजधानी

PC- Akankshasood1209

मेघालय के मासिनराम के बाद चेरापूंजी सबसे ज्यादा बारिश वाला स्थान है। जिसे बारिश की राजधानी से भी संबोधित किया जाता है। यह पूरा वेट लैंड समुद्र तल से लगभग 1300 मीटर की ऊंचाई पर बसा है। शिलांग से चेरापूंजीकी दूरी मात्र 60 किमी रह जाती है। वर्षा ऋतु के दौरान यहां देश-विदेश से पर्यटक घूमने के लिए आते हैं। इस दौरान यहां का नजारा बेहद खूबसूरत हो जाता है।

यहां की प्राकृतिक खूबसूरती का कोई जवाब नहीं। वर्षा ऋतु के दौरान यहां के झरने देखने लायक होते हैं। आप यहां का प्रसिद्ध झरना नोहकालीकाई झरना देख सकते हैं। इसके अलावा यहां की प्राचीन गुफाएं भी आपकी यात्रा डायरी का अंश बन सकती हैं। बता दें कि चेरापूंजी का अब नाम बदलकर सोहरा रख दिया गया है।

गंगटोक, सिक्किम

गंगटोक, सिक्किम

PC- Sankar Narayan Banerjee

गंगटोक, सिक्किम राज्य का खूबसूरत राजधानी शहर है। जो अपनी प्राकृतिक खूबसूरती के लिए पूरी दुनिया भर में जाना जाता है। आप यहां से हिमालय की खूबसूरत चोटियों के रोमांचक दृश्यों का आनंद उठा सकते हैं। इसके अलावा गंगटोक प्राचीन मठों, मदिरों व महलों के लिए भी जाना जाता है। गंगटोक आकर्षक पर्यटन स्थलों से भरा है। सोमगो झील, रुमटेक मठ, इनहेंची मठ, टाशिलिंग, पेलींग, सुक-ला-खंग, एंचे गोम्पा, पुष्प प्रदर्शनी केंद्र, डीयर पार्क, गणेश टोक, ऑर्किड अभ‍यारण्‍य यहां के चुनिंदा खूबसूरत स्थल हैं, जहां की सैर का आप प्लान बना सकते हैं।

माजुली नदी द्वीप, असम

माजुली नदी द्वीप, असम

PC- Kalai Sukanta

असम में ब्रह्मपुत्र नदी पर बसा माजुली द्वीप, पृथ्वी का सबसे बड़ा नदी द्वीप है। 875 वर्ग किमी में फैले इस आइलैंड को देखने के लिए दुनिया भर से लोग आत हैं। अपने विशाल आकार की वजह से माजुली का नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में भी दर्ज हो चुका है। माजुली असम घूमने आए पर्यटकों के बीच काफी लोकप्रिय है।

यह मात्र एक नदी द्वीप नहीं है बल्कि आप यहां असम की लोक कला संस्कृति को करीब से भी देख सकते हैं। यह जगह नेचर लवर्स और फोटोग्राफर्स के लिए एक आदर्श जगह है। आप यहां तेंजपानियां स्थल के साथ-साथ और भी कई दर्शनीय स्थलों की सैर का आनंद उठा सकते हैं।

बिशनुपुर, मणिपुर

बिशनुपुर, मणिपुर

PC- Houruoha

मणिपुर स्थित बिशनुपुर और घने जंगलों और विशाल घास के मैदानों से घिरा हुआ एक खूबसूरत स्थल है। जो अपने अद्भुत मंदिरों और प्राचीन अवशेषों की वजह से एक पवित्र भूमि माना जाता है। अगर आप पूर्वोत्तर भारत के मंदिरों की सैर करना चाहते हैं तो बिशनुपुर आपके लिए एक आदर्श विकल्प हो सकता है।

आप यहां रस्मान्चा, जोरेबांगला मंदिर, पंच रत्ना मंदिर, दल मडोल, सुसुनीया पहाहार, श्यामराई मंदिर, सिद्धेश्वर मंदिर, राधा श्याम मंदिर और श्रीधर मंदिर आदि मंदिरों के दर्शन कर सकते हैं। इसके अलावा आप यहां केबुल लामजाओ नेशनल पार्क की सैर का भी आनंद ले सकते हैं।

नाथुला दर्रा, सिक्किम

नाथुला दर्रा, सिक्किम

PC- Rajan.PITHVA

सिक्किम स्थित नाथुला दर्रा प्राचीन रेशम मार्ग का एक हिस्सा होने के साथ-साथ उत्तर पूर्वी भारत एक आकर्षक पर्यटन स्थल है। यह दर्रा सिक्किम घूमने आए ट्रेकर्स और यात्रियों में मध्य काफी लोकप्रिय है। कहा जाता है कि आप यहां पहाड़ों को महसूस कर सकते हैं साथ ही यह जगह बेस्ट इको प्वाइंट के लिए भी जानी जाती है।

जहां आप गहरी घाटियों और ऊंची चोटियों के माध्यम से अपनी गूंजती आवाज को सुन सकते हैं। इसके अलावा आप यहां हिमालय की खूबसूरत चोटियों को भी देख सकते हैं।

कोहिमा, नागालैंड

कोहिमा, नागालैंड

PC- Dameswu

कोहिमा, भारत के नागालैंड का राजधानी शहर है, जो अपनी आदिवासी संस्कृति के लिए जाना जाता है। यहां अधिकतर आदिवासी लोग ही रहते हैं। नागालैंड पूरे विश्व भर में अपनी रंग-बिरंगी लोक सस्कृति के लिए प्रसिद्ध है। जिसे देखने के लिए देश-दुनिया से लोग यहां तक का सफर तय करते हैं।

कोहिमा अपने विभिन्न पर्यटन स्थलों के लिए भी जाना जाता है। आप यहां समाधि स्थल, कोहिमा चर्च, संग्रहालय, नागा हेरिटेज कॉम्पलैक्स, कोहिमा गांव, दजुकोउ घाटी आदि की सैर का आनंद ले सकते हैं।

यात्रा पर पाएं भारी छूट, ट्रैवल स्टोरी के साथ तुरंत पाएं जरूरी टिप्स