» »राजनीति हो या पर्यटन उत्तर प्रदेश सबमे है नंबर 1

राजनीति हो या पर्यटन उत्तर प्रदेश सबमे है नंबर 1

Written By: Goldi

जिस तरह भारतीय राजनीति उत्तर प्रदेश के बिना अधूरी है..ठीक उसी प्रकार भारतीय पर्यटन उत्तर प्रदेश के बिना अधूरा है। उत्तर प्रदेश में आपके लिए काफी कुछ मनोरम है और इसी वजह से मशहूर इस अद्भुत जगह को देखने देश विदेश से काफी लोग आते हैं।

लखनऊ, नफासत नज़ाक़त कारीगरी और शान-ओ-शौक़त का ऐतिहासिक शहर

ताज की धरती, कथक नृत्य का उत्पत्ति स्थान, बनारस की पावन हिन्दू धरती, भगवान कृष्ण का जन्म स्थान, वह जगह जहाँ बुद्ध ने अपना पहला धर्मोपदेश दिया था, यह सब उत्तर प्रदेश के अन्दर ही आता है।उत्तर प्रदेश पर्यटन श्रद्धालुओं को इसलिए भी अपनी ओर आकर्षित करती है क्योंकि यहाँ काफी मशहूर तीर्थस्थल हैं।

इंदौर के चुनिंदा और बेइंतेहा खूबसूरत मंदिर

बनारस एक ऐसी जगह है जिसको हिन्दुओं द्वारा मुक्ति या मोक्ष स्थल भी कहते हैं और यह देश विदेश में पर्यटकों के बीच मशहूर है।

साथ ही उत्तर प्रदेश अपने सुन्दर और श्रेष्ठ ऐतिहासिक स्मारकों की बदौलत देश और विदेश से पर्यटकों को अपनी तरफ खींचता है। उत्तर प्रदेश के कुछ ऐसे क्षेत्र हैं जो इतिहास और संस्कृति के बारे में काफी कुछ बयां कर जाते हैं।

भारत के सबसे खूबसूरत शहर...जिन्हें एक बार जरुर घूमे

उत्तर प्रदेश के बारे में इतना कुछ जानने के बाद ऐसा कोई कारण नहीं है जो एक उत्सुक यात्री को यहाँ की खोज करने से रोक सकता है। इसके पास आपको देने के लिए काफी कुछ है और काफी कुछ है जो प्रतिबिंबित होना है।

आइये जानते हैं वह कारण जो उत्तर प्रदेश को महान बनाते हैं?

ताज महल

ताज महल

उत्तर प्रदेश के आगरा मंडल में स्थित ताजमहल को हर साल लाखों की तादाद में देशी विदेशी पर्यटक देखने पहुंचते हैं।ये दुनिया के 7 आश्चर्यों में से एक है। ताजमहल संगमरमर से बना है, जिसे 20 हजार मजदूरों ने 2 दशकों की मेहनत से बनाया। ताजमहल देश में सर्वाधिक विदेशी पर्यटकों को अपनी ओर खींचता है। PC: Sumit Sarswat

नवाबों का शहर

नवाबों का शहर

नवाबों का शहर यानी लखनऊ आजादी से पहले अवध के नवाबों की राजधानी रही है। आज भी यहाँ का आर्किटेक्चर सुप्रसिद्ध है, वह मुग़ल वास्तु-कला और भारतीय वास्तु-कला का मिश्रण है। साथ ही यहां टुंडे कबाब का स्वाद देश ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में मशहूर है ।
PC:Timestance

श्री कृष्ण जन्म भूमि: मथुरा

श्री कृष्ण जन्म भूमि: मथुरा

आगरा से कुछ दूरी पर स्थित मथुरा,श्री कृष्ण का जन्मस्थान है।भगवान के रास-विलास की कहानियाँ आज भी यहाँ जीवित हैं। यहां हर साल होने वाली जन्माष्टमी को देखने हर साल लाखो श्रधालुयों की भीड़ उमड़ती है।

PC: Yadav Surbhi R.

श्री राम जन्म भूमि: अयोध्या

श्री राम जन्म भूमि: अयोध्या

काफी विवादों के बाद हमारे न्याय के मंदिर ने इस पर मोहर लगा दी है कि सरयू नदी के तट पर स्थित अयोध्या ही श्री राम जन्मभूमि है।

PC:Ramnath Bhat

कुम्भ मेला -प्रयाग:

कुम्भ मेला -प्रयाग:

विश्व का सबसे बड़ा धार्मिक जमावड़ा यहीं पर होता है। इस कुम्भ के मेले में देशी ही नहीं बल्कि विदेशी श्रद्धालु पवित्र गंगा में डुबकी लगाने आते है।

PC: Yosarian

हर हर गंगे-जय मां गंगे

हर हर गंगे-जय मां गंगे

हर हर गंगे: मोक्ष का द्वार माँ गंगा तथा माँ यमुना जी भी यही विराजमान हैं। यह महान नदियाँ केवल किसानों की जीवन दाहिनी नहीं है परन्तु 50% से अधिक भारतीयों कि प्यास भी यही बुझाती है।

PC:Marcin Białek

 वाराणसी

वाराणसी

पवित्र नदी गंगा के तट पर बसा धार्मिक शहर वाराणसी, दुनिया का सबसे पुराना शहर माना जाता है। जिसके अनुसार यह भगवान शिव जी और देवी पार्वती का निवास स्थल हुआ करता था। ऐसा कहा जाता है कि जो भी सबसे आखिर तक यहाँ ज़िंदा रहेगा उसे ज़रूर ही मोक्ष की प्राप्ति होगी।

PC: wikimedia.org

गंगा-जमुना तहज़ीब:

गंगा-जमुना तहज़ीब:

यह वही जगह है जहाँ मुग़ल सेना ने एक मंदिर तोड़ कर उसपर मस्जिद का निर्माण किया था और फिर कुछ तत्वों ने इस मस्जिद को भी शहीद कर दिया। इसके बावजूद इस धरती की धर्मनिरपेक्षता उसकी पराकाष्ठ पर है और पूरे देश को इससे प्रेरणा लेनी चाहिए। हिन्दू मुसलमान के प्यार की इसी संस्कृति को हम गंगा-जमुना तहज़ीब कहते हैं, सर्व धर्मं संगम कहते हैं।

Please Wait while comments are loading...